Indian Administrative Service क्या होता है? IAS Officer कैसे बने? जानिए IAS Officer बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become IAS Officer Details In Hindi) के बारे में क्योंकि हमारे देश में Highly डिमांडिंग कैरियर के तौर पर IAS की नौकरी का नाम सबसे टॉप पोजीशन पर आता है, क्योंकि इस नौकरी का रुतबा ही ऐसा है कि लोग स्वभाविक तौर पर इसके पीछे आकर्षित हो जाते हैं। हालांकि इसमें आकर्षण से काम नही चलता है क्योंकि यह नौकरी प्राप्त करने के लिए अथवा आईएएस ऑफिसर बनने के लिए व्यक्ति को रात और दिन कठिन परिश्रम के साथ मेहनत करनी पड़ती है,तभी जाकर 100 में से कोई एक व्यक्ति आईएएस ऑफिसर बनने में सफलता प्राप्त करता है।

सरकारी क्षेत्र में अपना करियर बनाने के इच्छुक कई उम्मीदवारों में से एक प्रतिष्ठित और लोकप्रिय करियर विकल्प IAS है। IAS भारत के top government job में से एक है। भारत में होने वाली सिविल सेवा परीक्षा में टॉपर को आईएएस बनाया जाता है। भारत के कई युवा IAS बनने का सपना देखते हैं। आज के इस लेख में जानेंगे कि IAS Officer Kaise Bane, आईएएस ऑफिसर बनने के लिए क्या करे, IAS Meaning In Hindi, IAS Officer Kya Hota Hai, आईएएस ऑफिसर बनने का तरीका, IAS Officer Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

आईएएस क्या होता है – What is IAS (Indian Administrative Service) Information in Hindi?

विषय-सूची

IAS Officer Kaise Bane
IAS Officer Kaise Bane

IAS अखिल भारतीय सेवाओं की प्रशासनिक शाखा है। IAS अधिकारी केंद्र सरकार, राज्य सरकार और सार्वजनिक क्षेत्र में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य करते हैं। IAS भी भारत की तीन अखिल भारतीय सेवाओं में से एक है। भारत की वे तीनों सेवाएं IPS, IFS/IFOS और IAS हैं।

IAS का फुल फॉर्म क्या होता है? – What Is IAS Full Form In Hindi?

IAS का Full Form “Indian Administrative Service” होता है। हिंदी में IAS का का फुल फॉर्म भारतीय प्रशासनिक सेवा होता हैं।

आईएएस अधिकारी कैसे बने? – How to Become IAS Officer?

IAS यानी कि Indian Administrative Service हमारे इंडिया में बहुत ही पॉपुलर पोस्ट मानी जाती है। हर साल लाखों स्टूडेंट इंडिया में आईएएस ऑफिसर बनने के लिए एग्जाम देते हैं जिसमें से कुछ सफल होते हैं तो कुछ असफल हो जाते हैं। जो लोग सफल होते हैं वह खुशी मनाते हैं और जो लोग असफल हो जाते हैं वह अपनी असफलता के कारणों का मंथन करते हैं और एक बार फिर से आईएएस की परीक्षा में शामिल होकर आईएएस की परीक्षा को पास करके आईएएस ऑफिसर बनने की कोशिश करते हैं।

आईएएस अधिकारी बनने के लिए शैक्षिक योग्यता – Educational Qualification to Become an IAS Officer?

ऐसे हर उम्मीदवार को अपनी ग्रेजुएशन कंप्लीट करना आवश्यक है जो इंडिया में आईएएस ऑफिसर बनना चाहता है, क्योंकि आईएएस ऑफिसर बनने के लिए उम्मीदवार का ग्रेजुएट होना आवश्यक है। आप किसी भी सब्जेक्ट में अपनी ग्रेजुएशन कंप्लीट कर सकते हैं फिर चाहे वह Arts हो, कॉमर्स हो या फिर साइंस हो, बस आपका ग्रेजुएट होना आवश्यक है। अगर आपकी ग्रेजुएशन में अच्छे परसेंट हैं, तो यह आपके लिए ही फायदेमंद रहेगा। हालांकि कम प्रतिशत अंक हैं, तब भी आप आईएएस की एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

आईएएस अधिकारी बनने के लिए आयु सीमा – Age Limit to Become IAS Officer

श्रेणी के अनुसार अलग-अलग समुदायों के लिए अलग-अलग आयु सीमा बनाई गई है, जिसकी जानकारी इस प्रकार है।

  • सामान्य वर्ग से संबंध रखने वाले उम्मीदवार कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 32 साल तक आईएएस ऑफिसर बन सकते हैं
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए उम्र सीमा तय नहीं की गई है।
  • ओबीसी कैटेगरी के लोग कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 35 साल तक आईएएस ऑफिसर बन सकते हैं।

आईएएस परीक्षा पैटर्न और अंकन योजना – IAS Exam Pattern and Marking Scheme

IAS परीक्षा का अर्थ है कि सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा में 2 अनिवार्य पेपर होते हैं। जनरल एबिलिटी टेस्ट (GAT) और सिविल सर्विसेज एप्टीट्यूड टेस्ट (CSAT), आपको दोनों पेपर के लिए 2-2 घंटे का समय दिया जाता है। पहले पेपर में 80 और दूसरे पेपर में 100 अंक के सवाल होते हैं। आपकी परीक्षा कुल 400 अंकों की होती है, जिसमें उत्तीर्ण होने के लिए आपको 33% अंक प्राप्त करने होते हैं।

सभी प्रश्न MCQs (बहुविकल्पीय प्रश्न) होते हैं अर्थात एक प्रश्न के लिए 4 विकल्प उपलब्ध होंगे और उसमें से सही विकल्प का चयन करना होगा। सभी प्रश्न हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में होते हैं। गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक काटा जाता है। यदि आप किसी प्रश्न के 2 उत्तर देते हैं और उनमें से एक सही है तब पर भी आपके अंक काट लिए जाएंगे। यदि आप किसी प्रश्न का उत्तर नहीं चुनते हैं, तो उस स्थिति में आपसे कोई अंक नहीं काटा जाएगा।

आईएएस परीक्षा के लिए अधिकतम प्रयास सीमा – Maximum Attempt Limit for IAS Exam

इसे भी कैटेगरी के हिसाब से अलग रखा गया है, जो इस प्रकार है।

  • जनरल समुदाय के उम्मीदवार अधिकतम 6 बार आईएएस की एग्जाम दे सकते हैं।
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए अधिकतम प्रयास की लिमिट तय नहीं की गई है। यह जितनी बार चाहे उतनी बार एग्जाम दे सकते हैं।
  • ओबीसी समुदाय के उम्मीदवार अधिकतम 9 बार आईएएस की एग्जाम दे सकते हैं।

आईएएस परीक्षा के पाठ्यक्रम – IAS Exam Syllabus

IAS में चयनित होने के लिए CSE परीक्षा के सिलेबस का ज्ञान होना बहुत जरूरी है। जैसा कि आपको पहले बताया जा चुका है कि इसकी परीक्षा के कुल 2 पेपर होते हैं।

पहले पेपर में आने वाले प्रश्न निम्नलिखित विषयों पर होंगे

  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय वर्तमान घटनाएं।
  • भारत का इतहास
  • भारतीय राजतंत्र और शासन 
  • आर्थिक और सामाजिक विकास, गरीबी, बढ़ती जनसख्या की समस्या आदि।
  • पर्यावरण, जलवायु परिवर्तन
  • सामान्य ज्ञान 

दूसरे पेपर का सिलेबस इस प्रकार होगा

  •  बोधगम्यता 
  • तार्किक तर्क और विश्लेषणात्मक क्षमता
  • सामान्य मानसिक क्षमता
  • आंकड़ा निर्वचन (charts, graphs, tables, data sufficiency etc.) 

आईएएस की तैयारी कैसे करें? – How to Prepare For IAS?

  • आईएएस की तैयारी करने के लिए आप कोचिंग इंस्टीट्यूट की हेल्प ले सकते हैं।
  • यूट्यूब पर आने वाले एजुकेशनल वीडियो को सब्सक्राइब कर सकते हैं और अपनी स्टडी कर सकते हैं।
  • करंट अफेयर पर ज्यादा ध्यान दें।
  • आईएएस के पिछले सालों के क्वेश्चन पेपर को इकट्ठा करें और उन्हें सॉल्व करें तथा उनके सिलेबस और एग्जाम पैटर्न को अच्छे से समझने की कोशिश करें।
  • अगर आपके घर के आसपास कोई आईएएस बन चुका है या फिर आईएएस की एग्जाम दे चुका है तो उनसे संपर्क करें और आईएएस के एग्जाम को क्लियर करने के टिप्स उनसे हासिल करें।

आईएएस अधिकारी बनने की प्रक्रिया – Process to Become an IAS Officer

आईएएस ऑफिसर बनने के लिए कौन से चरणों से गुजरना होता है या फिर किस प्रक्रिया का पालन करना होता है, ऐसे उम्मीदवार को इसके बारे में जानकारी अवश्य रखनी चाहिए जो आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं। नीचे हम आपको विस्तार से इस बात की जानकारी दे रहे हैं कि इंडिया में आईएएस ऑफिसर बनने की प्रक्रिया क्या है।

1. 10वीं और 12वीं कक्षा को पास करें

आपके आईएएस बनने की सफर की शुरुआत दसवीं कक्षा से ही स्टार्ट हो जाती है, क्योंकि जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया कि आईएएस बनना इतना आसान नहीं है, इसीलिए आपको काफी पहले से ही इसकी तैयारी चालू कर देनी होती है। आईएएस बनने के लिए आपको अच्छे अंकों के साथ किसी भी सब्जेक्ट के साथ दसवीं कक्षा को और बारहवीं कक्षा को पास करना पड़ता है। यह आपका पहला चरण होता है अपनी मंजिल को पाने का और आईएएस ऑफिसर बनने का।

2. ग्रेजुएशन कंप्लीट करें

दसवीं कक्षा एवम 12वीं कक्षा को भी पास करने के बाद आप अपने मनपसंद कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं फिर चाहे आपको आर्ट्स का कोर्स पसंद हो या फिर कॉमर्स अथवा साइंस का कोर्स का, आप किसी भी स्ट्रीम से अपनी ग्रेजुएशन को कंप्लीट कर सकते हैं।

3. यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन की एग्जाम के लिए अप्लाई करें

अपने ग्रेजुएशन को सफलतापूर्वक पास करने के बाद आपको आईएएस ऑफिसर की एग्जाम में शामिल होने के लिए यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा करवाई जाने वाली एग्जाम के लिए आवेदन करना होता है। इस एग्जाम में आवेदन करने के बाद आपको एक निश्चित दिन पर आईएएस की प्रारंभिक परीक्षा में शामिल होना पड़ता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आईएएस बनने के लिए आपको आईएएस की प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू को पास करना पड़ता है।

4. प्रारंभिक परीक्षा को पास करें

यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा आईएएस बनने के लिए प्रारंभिक परीक्षा के लिए 1 दिन तय किया जाता है। इस दिन आपको जाकर इस परीक्षा में शामिल होना पड़ता है। आईएएस की प्रारंभिक परीक्षा में टोटल 2 क्वेश्चन पेपर होते हैं और दोनों के अंक 200-200 होते हैं। इस परीक्षा को देने के लिए उम्मीदवार को 3 घंटे का समय दिया जाता है।

आईएएस बनने के लिए उम्मीदवार को इस परीक्षा को पास करना बहुत ही जरूरी होता है। जो भी इस परीक्षा में फेल हो जाते हैं वह आगे के राउंड में भाग नहीं ले सकते। इस एग्जाम में उम्मीदवार से ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन के आंसर पूछे जाते हैं। इसमें नेगेटिव मार्किंग भी होती है। हर गलत उत्तर देने पर आपके प्राप्त अंकों में से 0.33 अंक कटेंगे, इसलिए सोच समझकर इस परीक्षा के प्रश्न पत्रों का उत्तर दें।

5. मुख्य परीक्षा को पास करें

प्रारंभिक परीक्षा में सफलता प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को आईएएस बनने के लिए आईएएस की मुख्य परीक्षा में शामिल होना पड़ता है। इस एग्जाम में उम्मीदवार को टोटल 9 क्वेश्चन पेपर देने होते हैं। अधिकतर उम्मीदवार इस परीक्षा में फेल हो जाते हैं। इसीलिए आपको इस परीक्षा की काफी अच्छे से तैयारी और स्टडी करनी चाहिए। आपको इस परीक्षा में अच्छे से अच्छे अंक और परसेंटेज लाने का प्रयास करना चाहिए, ताकि आपके आईएएस बनने के चांस ज्यादा हो।

6. इंटरव्यू को क्लियर करें

आईएएस की प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य एग्जाम को पास करने के बाद उम्मीदवार को एक तय समय और तय दिन पर इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है, जहां पर आईएएस अभ्यर्थी का इंटरव्यू काफी पढ़े लिखे लोग लेते हैं। इस इंटरव्यू में व्यक्ति के सोचने समझने की क्षमता का आकलन किया जाता है और उससे कुछ ऐसे सवालों के जवाब पूछे जाते हैं, जो काफी घुमावदार सवाल होते हैं। अगर आप सोच समझकर इंटरव्यू में सवालों का जवाब नहीं देते हैं तो आप इंटरव्यू में फेल भी हो सकते हैं।

इसीलिए आपको काफी सोच-विचार करके इंटरव्यू लेने वाले लोगों के द्वारा पूछे जाने वाले क्वेश्चन का जवाब देना चाहिए। यह इंटरव्यू टोटल 45 मिनट चलता है और इसमें आपको जो भी अंक मिलते हैं, वह आपकी रैंक में ऐड किए जाते हैं।

7. मेरिट लिस्ट का इंतजार करें

इंटरव्यू देने के बाद आपको रिलैक्स होकर अपने घर पर बैठना होता है और यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा आईएएस के एग्जाम की मेरिट लिस्ट का नोटिफिकेशन जारी होने का इंतजार करना पड़ता है।

8. ट्रेनिंग पर जाएं

नोटिफिकेशन जारी होने के बाद अगर आपका नाम उसमें आता है तो उसके बाद आपको ट्रेनिंग पर भेज दिया जाता है। यह ट्रेनिंग 3 महीने से लेकर 6 महीने तक की होती है।

9. आईएएस ऑफिसर बन जाए

ट्रेनिंग पूरी होने के बाद आपको आईएएस की पोस्ट प्रदान कर दी जाती है। इस प्रकार आप आईएएस ऑफिसर बनने में सफल हो जाते हैं।

आईएएस ऑफिसर का काम – Work of IAS Officer

एक आईएएस अधिकारी के काम में नीतियां बनाना और मंत्रियों को विभिन्न मुद्दों पर सलाह देना, कानून व्यवस्था बनाए रखना, राज्य सरकार और केंद्र सरकार की नीतियों के कार्यान्वयन की निगरानी करना शामिल है। एक आईएएस अधिकारी की नौकरी भारत में सबसे प्रतिष्ठित नौकरियों में से एक है। एक आईएएस अधिकारी भारत या विदेश में कहीं भी केंद्र सरकार या राज्य सरकार के अधीन सेवा करने के लिए उत्तरदायी होता है।

भारत में आईएएस अधिकारी कौन बन सकता है? – Who Can Become IAS Officer in India?

इंडिया में नेपाल, भूटान और भारत के मूलनिवासी ही आईएएस ऑफिसर की पोस्ट की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं और इंडिया में आईएएस ऑफिसर बनने की कोशिश कर सकते हैं अथवा बन सकते हैं।

आईएएस अधिकारी का वेतन – Salary of IAS Officer

आईएएस अधिकारी सबसे अधिक वेतन पाने वाले सरकारी कर्मचारियों में से एक हैं। एक आईएएस अधिकारी का वेतन उसके पद और प्रासंगिक वेतनमान के अनुसार होता है। इंडिया में सातवें वेतन आयोग के लागू होने के बाद आईएएस ऑफिसर की महीने की सैलरी ₹1,17,000 के आसपास पहुंच गई है। हालांकि दूरदराज के इलाकों में इनकी महीने की सैलरी ढाई लाख तक भी हो सकती है। जैसे जो लद्दाख का आईएएस ऑफिसर होता है, उसकी महीने की सैलरी ₹2,50,000 होती है।

भारत के पहले पुरुष आईएएस अधिकारी का नाम क्या है?

सतेंद्र नाथ टैगोर थे जो साल 1863 में select हुए थे

भारत की पहली महिला आईएएस अधिकारी का नाम क्या है?

अन्ना रजम मल्होत्रा थी जो साल 1951 में select हुई थी। इनको पद्मा भूषण award से भी सम्मानित किया गया है।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको IAS Officer Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में IAS Officer Kaise Bane (How To Become IAS Officer In Hindi) और आईएएस ऑफिसर कैसे बने? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि IAS Officer Kya Hota Hai बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

About Ainain

IAS officerमैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.