प्रेरक वक्ता क्या होता है? Motivational Speaker कैसे बने? जानिए Motivational Speaker बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे प्रेरक वक्ता (Motivational Speaker) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become Motivational Speaker In Hindi) के बारे में क्योंकि आज के समय में हर कोई मोटिवेशनल स्पीकर बनना चाहता है लेकिन उन्हें ये पता नहीं होता है कि वह मोटिवेशनल स्पीकर कैसे बन सकते हैं, अगर आपके जीवन में कभी भी कोई परेशानि आई होगी तो आपने जरूर मोटिवेट होने के लिए किसी मोटिवेशनल स्पीकर की बात सुनी होगी, जो आपकी प्रॉब्लम का हल निकालने के लिए आपको आईडिया देते हैं। लेकिन लोगों को मोटिवेट करना और उनकी हर समस्या के सुझाव देकर संतुष्ट करना इतना आसान भी नहीं होता है, उसके लिए मोटिवेशनल स्पीकर अच्छा खासा तैयारी करके आता है और उनके पास बहुत ज्यादा नॉलेज होती है जिससे वह लोगों के हर सवालों का जवाब दे पाता है।

कई बार जीवन में आगे बढ़ने के लिए मोटिवेशन की बहुत आवश्यकता होती है, कई बार किसी व्यक्ति के द्वारा बोली गई बहुत लंबे समय तक हमें प्रेरित करती है। मोटिवेट होने पर हम कोई भी समस्या का हल आसानी से निकाल लेते हैं। बड़े- बड़े सेमिनार में जाते है, ताकि उनकी बातों को सुनकर और उनसे अपने सवाल पूछ कर अपनी समस्या का हल ढूंढते हैं। आज के इस लेख में जानेंगे कि Motivational Speaker Kaise Bane, प्रेरक वक्ता बनने के लिए क्या करे, Motivational Speaker Meaning In Hindi, Motivational Speaker Kya Hota Hai, प्रेरक वक्ता बनने का तरीका, Motivational Speaker Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

मोटिवेशनल स्पीकर क्या होता है? – What is Motivational Speaker Information in Hindi?

Motivational Speaker Kya Hota Hai
Motivational Speaker Kya Hota Hai

मोटिवेशनल स्पीकर का काम लोगो को अपनी जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है और उन्हें सही रास्ता दिखाता है। इसके अलावा अगर लोगों के मन में कोई सवाल या परेशानी है, तो स्पीकर उसके संबंधित भी उपाय बताते हैं कि आप कैसे उस प्रॉब्लम को आसानी से सुलझा सकते हो। वैसे तो आमतौर पर दो तरह के मोटिवेशनल स्पीकर होते हैं। एक वो जो कहने के लिए तो मोटिवेशनल स्पीकर है, लेकिन उनके द्वारा बोली गई बात लोगों को पसंद नहीं आती है और वो उस सेमिनार या फंक्शन से बोर होकर निकल जाते हैं।

एक होते हैं ऐसे मोटिवेशनल स्पीकर जो कुछ भी बोलते हैं तो उनके द्वारा बोली गई बातें लोगों के दिमाग और दिल में बस जाती है। ऐसे हमारे देश में कई मोटिवेशनल स्पीकर हैं जिनको अक्सर लोगों के द्वारा सुना जाता है उनका कहीं भी अगर कोई सेमिनार यह फंक्शन होता है तो लोग वहां दूर-दूर से उनकी बातें सुनने के लिए आते हैं जैसे कि भारत में सबसे बड़े मोटिवेशनल स्पीकर के नामों में से एक संदीप महेश्वरी, सोनू शर्मा, और विवेक बिंद्रा जैसे नाम शामिल है।

मोटिवेशनल स्पीकर कैसे बनें? – How to Become a Motivational Speaker?

Motivational Speaker Kaise Bane
Motivational Speaker Kaise Bane

एक Motivational Speaker बनने के लिए सबसे जरूरी चीज होती है बोलने की कला आपको हर समस्याओं की जड़ में जाने की आदत होना बहुत जरूरी होगी क्योंकि जब तक आप समस्या की जड़ तक नहीं जाएंगे तब तक आप उसका उपाय नहीं ढूंढ पाएंगे और यह क्षमता सभी व्यक्तियों में नहीं होती है आप इस चीज पर काम करके अपनी स्किल डेवलप कर सकते हैं।

मोटिवेशनल स्पीकर बनने के लिए आपको अपनी भाषा में सुधार करना होगा ऐसे वर्ड का उपयोग कभी ना करें जो कि वातावरण के अनुकूल ना हो क्योंकि एक मोटिवेशनल स्पीकर के अंदर बोलने की कला सबसे अहम किरदार निभाती है। आप जब तक ढंग से बोलना नहीं सीखेंगे आप एक मोटिवेशनल स्पीकर नहीं बन पाएंगे जब आप एक अच्छे स्पीकर होंगे तभी आप लोगों का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित कर पाएंगे।

अपने अंदर बोलने की कला और किसी भी समस्या का हल कैसे निकाल सकते हैं, ये सीखने के लिए आप बड़े-बड़े मोटिवेशनल स्पीकर के सेमिनार और वीडियो देख सकते हैं कि वो आते ही आपके ध्यान को अपनी तरफ आकर्षित करने का प्रयास करता है, उसी प्रकार से आपको भी इस स्किल में एक्सपर्ट होना पड़ेगा।

लेकिन अगर आप ऐसा सोच रहे हैं कि मोटिवेशनल स्पीकर बनने के लिए आपके पास बस बोलने की कला और किसी भी समस्या का हल ढूंढने का स्किल है तो आप गलत हैं क्योंकि लोग आपकी बात तब तक नहीं सुनेंगे जब तक आप अपनी जिंदगी में सक्सेसफुल खुद ना हुए हैं फिर चाहे वह किसी भी फील्ड में हो, बिजनेस, एजुकेशन, पॉलिटिक्स, आदि लोग आपकी बात तभी सुनेंगे जब आपने कुछ किया हो।

मोटिवेशनल स्पीकर बनने के लिए योग्यता – Eligibility to Become a Motivational Speaker

एक अच्छा मोटिवेशनल स्पीकर बनने के लिए आपको पहले अपने जिंदगी में कुछ अच्छा करना होगा, कुछ ऐसा जिससे लोग आपकी स्टोरी सुनकर inspire हो सके अगर आप किसी गवर्नमेंट पोस्ट पर हैं किसी बड़ी कंपनी के हायर पोस्ट पर काम करते हैं या फिर किसी स्टार्टअप के ओनर हैं, शिक्षा के क्षेत्र में बहुत काम कर रहे हैं, कुछ भी ऐसा काम जो आपको अपनी जिंदगी में सक्सेसफुल बनायेगा वो करना है अगर आप मोटिवेशनल स्पीकर बनने कि सोच रहे तो अपनी जिंदगी में सक्सेसफुल होना बहुत जरूरी है।

फिर चाहे वो किसी भी फिल्ड मे हो और आपके अंदर नयापन होना बेहद जरूरी है तभी लोग आपकि बात सुनेंगे और आपके अंदर उत्साह, विश्वसनीयता, आत्मविश्वास जैसे गुण का होना बहुत जरूरी है इसके अलावा आपको फिलॉस्फी से लेकर लिटरेचर तक हर तरह की किताबें पढ़नी चाहिए जिससे आपकि नॉलेज बढ़ सके।

एक सफल मोटिवेशनल स्पीकर कैसे बनें? – How to Become a Successful Motivational Speaker?

इन बातो पर आपको जरुर ध्यान देना चाहिये एक Motivational speaker बनने के लिये

  • अन्य प्रेरक वक्ताओं को पढ़ें, देखें और सुनें
  • आपको एक विषय चुनना होगा।
  • स्टेज पर कैसे आत्मविश्वास के साथ बोला जाता है उसकि प्रैक्टिस करनी होगी।
  • अपने मन से डर निकालना होगा।
  • एक public speaking course करें जिससे आपकी skills डेवलपर होगी।
  • इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि जब भी आप कुछ बोले लोगों को शुरुआत से लेकर अंत तक कहीं भी बोर या ध्यान भंग ना करें।
  • अपने दर्शकों को हमेशा किसी स्टोरी का एग्जांपल लेकर मोटिवेट करने की कोशिश करें।
  • एक successful motivational speaker बनने के लिए जितना हो सके उतना पढ़े।

अपने ऑडियंस को पहचाने : एक मोटिवेशनल स्पीकर से लोगों को यही अपेक्षा रहती है कि वो ख़ास टॉपिक्स पर बात करे जैसे कि जिंदगी मे सक्सेसफुल कैसे बनें, खुश कैसे रहें, कैसे fulfilled बनें, अपने परिवारिक और व्यवसायिक रिश्तो को बेहतर कैसे बनाएं इन सभी विषय पर लोगों की समस्या का हल और अच्छी सलाह देनी होगी।

एक अच्छे मोटिवेशनल स्पीकर कैसे बनें? – How To Become a Good Motivational Speaker in Hindi

एक अच्छा स्पीकर बनने के लिए आपको इन बातो पर ध्यान देना होगा जैसे कि;

1. घबराहट और डर को मन से हटाए : ऐसे कई लोग होते हैं जिन्हें स्टेज पर कुछ बोलने में पसीने छूटने लगते हैं और उन्हें जो पता है वह भी भूल जाते हैं, यह सारा आपके डर और घबराहट के कारण होता है। जब तक आपके मन में यह रहेगा एक अच्छा मोटिवेशनल स्पीकर नही बन पाएंगे, सबसे पहले अपने मन का डर दूर करना होगा।

2. आसान शब्दों का प्रयोग करें : जब भी आप किसी टॉपिक पर बोलना शुरू करते हैं तो लोगों को आसान भाषा में यानि के सरल शब्दों में समझाने की कोशिश करें जैसे कि किसी कहानी के माध्यम से।

3. ऑडियंस से नजरें मिलाए : जो लोग आपकी बात सुन रहे हैं, जिन्हें आप किसी भी टॉपिक पर एडवाइस दे रहे हैं आपको हमेशा आत्मविश्वास के साथ अपने दर्शक के साथ खुद को कनेक्ट करना होगा।

4. कागज से देख कर ना बोले : अगर आप कभी भी कागज में देखकर बोलने की कोशिश करेंगे तो जाहिर सी बात है आपके अंदर आत्मविश्वास की कमी होगी और आप कहीं ना कहीं कुछ गड़बड़ करेंगे हमेशा कोशिश करें कि अपने मन और नॉलेज से लोगों को समझाएं।

5. दर्शकों के साथ बातचीत करें : आप जल्दी भी लोगों से बात करें उनके साथ दोस्ताना माहौल बनाएं खुद को भी और उनको भी किसी भी तरह के प्रश्न को पूछने की घबराहट से मुक्त करें और खुद भी उनके साथ कॉन्फिडेंट हो।

6. ऑडियंस में उत्साह पैदा करें : अच्छा मोटिवेशनल स्पीकर बनने के लिए अपने ऑडियंस को आकर्षित करना किसी भी टॉपिक पर और उन्हें कहीं भी ऐसा ना लगने देना कि वो बोर हो रहे हैं या कुछ अच्छा नहीं सीख रहे हैं इसके लिए सबसे बेहतर विकल्प है कि आप उनसे स्टोरी और आकर्षक तरीके से बात करें।

7. मोटिवेशनल स्पीकर के लिए अवसर : आजकल बहुत ही ऐसी कंपनी एजेंसी एनजीओ स्कूल और कॉलेज हैं जो मोटिवेशनल स्पीकर को सेमिनार के लिए बुलाते हैं ऐसे में एक मोटिवेशनल स्पीकर के पास बहुत अवसर होता है अपनी बात को लोगों के सामने रखने के लिए।

मोटिवेशनल स्पीकर बनकर कितना कमाया जा सकता है?

आप एक अच्छा मोटिवेशनल स्पीकर बन जाते हो तो आपके लिए दिन के लाखों रुपए कमाना कोई बड़ी बात नहीं है, आप मोटिवेशनल स्पीकर के तौर पर बिजनेस और लीडरशिप कोच की क्लासेस लेते हो तो शुरुआती दौर से ही आप Rs.40 से Rs.50 हजार कमा सकते हो, जो आगे जाकर दिन के लाखों रुपए तक भी हो सकते हैं। एक अच्छा मोटिवेशनल स्पीकर बनकर पैसे कमाने के लिए आप ऑनलाइन प्लेटफॉर्म सोशल मीडिया का सहारा ले सकते हो जैसे कि यूट्यूब, फेसबुक और इंस्टाग्राम आदि जिसकी मदद से आप लाखों लोगों तक अपनी बात किसी भी टॉपिक पर पहुंचा सकते हो।

मोटीवेटर के कोर्स हेतु प्रमुख संस्थान

ऐसे कई सारे मैनेजमेंट स्कूल्स है, जिसमे स्पीकिंग पावर पर काम करवाया जाता है और इस इंस्टीट्यूट मैं आप अलग- अलग क्षेत्रों के लोगों के साथ बातचीत करोगे जिससे आपकी बोलने की कला और नॉलेज दोनों डिवेलप होगी कुछ प्रमुख संस्थान हैं जैसे कि

  • Fore School of Management, New Delhi
  • The Howard Motivational Speaker Training School

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Motivational Speaker Details in Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में Motivational Speaker Kaise Bane (How To Become Motivational Speaker In Hindi) और प्रेरक वक्ता कैसे बने? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Motivational Speaker Kya Hota Hai बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

About Ainain

motivational speakerमैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

2 thoughts on “प्रेरक वक्ता क्या होता है? Motivational Speaker कैसे बने? जानिए Motivational Speaker बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में”

  1. Motivational speaker banne ke liye starting kahan se Karen ki log pas aakar meri kahani ko Sune starting

    Reply
  2. मोटिवेशनल स्पीकर जब किसी सेमिनार में या किसी मीटिंग वगैरह में बोलता है तो ऐसा क्या करें कि वह जब अगली बार किसी भी मीटिंग में सेमिनार में बोले तो उसका जो पिछला सेमिनार रहा अब वाला उससे अलग हो ताकि लोग यह ना कहें कि यह तो हर मीटिंग में सेमिनार में एक एक बात बोलता है इसकी स्पीक सेम होती है और इसे लंबे टाइम तक मेंटेन रख सकते हैं

    Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.