सिविल इंजीनियर क्या होता हैं?, Civil Engineer कैसे बने? जानिए Civil Engineer बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे सिविल इंजीनियर (Civil Engineer) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become A Civil Engineer In Hindi) के बारे में क्यों की आज भारत में career के कई सारे options है और हर career के लिए students को अलग अलग course करना पड़ता हैं। भारत के इन्हीं careers में से एक career Civil Engineer का भी होता है। सिविल इंजीनियर के बारे में तो हर किसी ने सुना होगा। हम अपने चारो तरफ जो भी बड़ी बड़ी buildings, roads, बांध आदि देखते है इन सब में Civil Engineer की जरूरत होती है। Civil Engineer बनना काफी कठिन होता है। इसके लिए students को काफी मेहनत करनी होती हैं। Students को अपनी civil engineering की पढ़ाई पूरी ध्यान के साथ करनी होती है।

अगर Candidate इसकी पढ़ाई को seriously ले कर नहीं करता है तो वह कभी भी एक अच्छा Civil Engineer नहीं बन सकता। आज के इस आर्टिकल में जानेंगे कि Civil Engineer क्या होता हैं?, सिविल इंजीनियर के कार्य, Civil Engineer Kaise Bane?, Civil Engineer बनने के लिए Qualifications, सिविल इंजीनियर बनने के लिए Entrance Exam, Civil Engineer बनने के लिए तैयारी कैसे करें? सिविल इंजीनियर की Fees, Civil Engineer के syllabus, सिविल इंजीनियर की Job career, Civil Engineer की salary आदि की सारी जानकारियां हिंदी में तो, आइए जानते है।

सिविल इंजीनियर क्या होता है? – What is Civil Engineer Information in Hindi

How To Become Civil Engineer Information In Hindi
How To Become Civil Engineer Information In Hindi

Civil Engineer वह होता है जो किसी भी बिल्डिंग, सड़क, मॉल, आदि का construction का काम और design का काम करते है। इसके साथ बांध आदि को बनाने का काम भी करते है।

सिविल इंजीनियर का काम – Work of Civil Engineer

Civil Engineer बनना कोई आसान काम नहीं है। इसके लिए किसी भी Candidate को काफी मेहनत करनी पड़ती है। इनका कार्य काफी ज़िम्मेदारी वाला होता है। एक Civil Engineer के कुछ प्रमुख कार्य है। जैसे – निर्माण परियोजनाओं का प्रबंधन, डिजाइन, विकास, निर्माण और रखरखाव।

  • किसी भी building के बनने में उसके design और construction का रखरखाव करना।
  • किसी भी जगह में construction का काम शुरू होने से पहले उस जगह की जांच करना। 
  • किसी भी रोड, बिल्डिंग, मॉल आदि को बनाने में होने वाली लागतों का आकलन करना।

सिविल इंजीनियर कैसे बने पूरी जानकारी – How to Become Civil Engineer

अगर कोई student Civil Engineer बनना चाहता है तो उसे 10वी के बाद अपनी पढ़ाई Science stream में करनी होती है जिसमें उसके Math, Physics और Chemistry विषय होना अनिवार्य है। इसके बाद Candidate को कम से कम 60% marks के साथ 12वी pass होना जरूरी है। इसके बाद वह किसी entrance exam में apply करने के लिए eligible हो सकते है। इसके बाद Candidate को Civil Engineering में Bachelor Degree पूरी करनी पड़ती है। अगर Candidate चाहे तो bachelor degree Complete करने के बाद civil engineering में master degree भी कर सकता है। 

Civil Engineering में candidate को कई तरह के engineering विषय मिलेंगे। जैसे – Costal Engineering, Structure Engineering, Earthquake Engineering, Forensic Engineering, Geotechnical engineering, etc. इनमें से Candidate किसी एक में भी Expert बन सकते है।

सिविल इंजीनियर बनने का कोर्स – Course to Become a Civil Engineer

Civil Engineer बनने के लिए Candidate 2 तरीके से Course कर सकते है। पहला होता है Diploma in Civil Engineering Course जिसे Candidate अपनी 10वी के पढ़ाई के बाद कर सकते है। इसे हम Junior Civil Engineer भी कहते है। यह course तीन साल का होता है। इसके लिए candidate को polytechnic जैसे entrance exam को दे कर के हो सकता है। 

दूसरा तरीका है Senior Civil Engineering का जिसे Candidate अपनी 12वी की पढ़ाई के बाद कर सकते हैं। इस कोर्स के लिए कुल 4 साल का समय लगता है। Civil engineering में bachelor degree हासिल करने के बाद Candidate चाहे तो Postgraduate Degree के लिए भी apply कर सकते है। इसे Master in Civil Engineering भी कहा जाता है।

सिविल इंजीनियर बनने के लिए योग्यता – Qualifications to Become Civil Engineer

Civil Engineering भी में admission के लिए Candidate को कम से कम Science stream के साथ 12वी pass होना जरूरी है जिसमें Candidate के Math, Physics और Chemistry subject हो। 12वी में 60% आना भी अनिवार्य होता है अगर Candidate को कोई entrance exam देना है तो। 

Junior Civil Engineer या Diploma in Civil Engineering के लिए Candidate को केवल 10वी pass होना जरूरी है।

सिविल इंजीनियर बनने के लिए प्रवेश परीक्षा – Entrance Exam to Become Civil Engineer

भारत में Civil Engineering में admission के लिए JEE Main (Joint Entrance Examination) और GATE (Graduate Aptitude Test Engineering) की परीक्षा होती है। यह दोनों राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली परीक्षा है। इसके अलावा कई Colleges खुद के personal entrance exam रखते है। जैसे –

  • BITSAT (Birla Institute of Technology and Science Admission Test )
  • MHT CET (Maharashtra Health and Technical Common Entrance Test)
  • KCET ( Karnataka Common Entrance Test) etc.

इसके अलावा कई सारे ऐसे भी Colleges होते है जो बिना entrance exam के भी admission दे देते है। लेकिन इसके लिए Colleges अच्छी खासी donation लेती है। तो अगर Candidate को donation से बचना हैं तो उन्हें अच्छी तरह से entrance exam की तैयारी करनी चाहिए।

सिविल इंजीनियर की फीस – Civil Engineer Fees

भारत में Civil Engineer के Course की पढ़ाई का खर्च Public Institute में प्रति साल 1 लाख रुपए से लेकर 7 लाख रुपए तक हो सकती है। वहीं में इसका खर्च सालाना 7 लाख से 15 लाख रुपए तक भी हो सकती है। हर Colleges की fees अलग अलग होती हैं। Candidate के College selection के ऊपर उसकी fees depend करती है।

सिविल इंजीनियर के पाठ्यक्रम – Civil Engineer Syllabus

Civil Engineering के course में Candidate को काफी पढ़ाई करनी होती है। इस Course के पूरे syllabus को पूरे ध्यान से पढ़ने कि जरूरत है तभी Candidate एक अच्छा Civil Engineer बन पाता है। Civil engineering के syllabus में कुछ इस तरह के विषय होंगे। जैसे –

  • Basic Electronics
  • Engineering Drawing and Graphics
  • Design of steel structure
  • Soil Mechanics & Foundation Engineering
  • Water Resources Engineering
  • Solid Mechanics & Foundation Engineering
  • IT & CAD Applications, etc.

सिविल इंजीनियरिंग के लिए कौशल – Skillset for Civil Engineering

एक Civil Engineer बनने के लिए Candidate के अंदर Technical Skills, Project Management, Critical Thinking और Creativity जैसी skills होनी तो जरूरी है ही लेकिन इसके अलावा भी एक Civil Engineer के अंदर और भी बहुत सारे skills की जरूरत होती है जिसकी उसे इस क्षेत्र में काफी जरूरत होती है। जैसे –

  • Leadership skills
  • Negotiating skills
  • Ability to Visualize
  • Problem Solving Skills
  • Good time management
  • Team Player, आदि।

सिविल इंजीनियरिंग की नौकरी – Civil Engineering Job

अगर आप एक अच्छे Civil Engineer बन जाते है तो आपके लिए Job के कई सारे क्षेत्र खुल जाएंगे। Civil Engineer का कार्य ज्यादातर construction firms, Highway, Bridges, Road, Docks आदि को बनाने के क्षेत्रों में होती है।

एक Civil Engineer अपनी graduation की पढ़ाई के बाद बहुत सारे job profile में अपना career बना सकते है। उनमें से कुछ विकल्प है। जैसे –

  • Structural Engineer
  • Geo technical Engineers
  • Site Engineers
  • Lecturer / Professor, etc.

भारत में ऐसी कई सारी companies है जो Civil Engineering में graduate हुए candidates को hire करती है। जैसे –

  • TATA Consulting Engineers Ltd
  • Maytas Infra Ltd
  • Power Grid Corporation of India Ltd, etc.

सिविल इंजीनियर अधिकारी का वेतन – Civil Engineer salary

भारत में एक Civil Engineer की salary entry level पर सालाना Rs.161,000 तक हो सकती है। ऐसा देखा गया है कि भारत में एक Civil Engineer की monthly salary कम से कम Rs. 14,700 तक हो सकती है। Civil Engineer की salary उसके experience के साथ बढ़ती भी रहती है। Experience के बाद इनकी maximum salary Rs. 45,600 प्रति माह तक हो सकती है।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Civil Engineer Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में सिविल इंजीनियर क्या होता है? (What Is Civil Engineer In Hindi) और सिविल इंजीनियर कैसे बने? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Civil Engineer Kaise Bane बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

Leave a Comment