सरकारी डॉक्टर क्या होता है? Government Doctor कैसे बने? जानिए Government Doctor बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे सरकारी डॉक्टर (Government Doctor) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become Government Doctor In Hindi) के बारे में क्योंकि डॉक्टर को भगवान का दूसरा रूप कहा जाता है क्योंकि जब किसी घायल व्यक्ति की जान बचाने की बात आती है या फिर उसके ट्रीटमेंट करने की बात आती है तो डॉक्टर ही वह व्यक्ति होता है जो अपनी जानकारी से व्यक्ति का सही इलाज करता है और उसकी जान बचाने की कोशिश करता है। कई लोग डॉक्टर बनने की इच्छा रखते हैं। आपको बता दें कि डॉक्टर दो प्रकार के होते हैं सरकारी और प्राइवेट।

अगर आप सरकारी डॉक्टर बनना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में हम आपको सरकारी डॉक्टर अथवा गवर्नमेंट डॉक्टर कैसे बना जाता है, इसकी प्रक्रिया के बारे में जानकारी दे रहे हैं। आज के इस लेख में जानेंगे कि Government Doctor Kaise Bane, सरकारी डॉक्टर बनने के लिए क्या करे, Government Doctor Meaning In Hindi, Government Doctor Kise Kahte Hai, सरकारी डॉक्टर बनने का तरीका, Government Doctor Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

सरकारी डॉक्टर क्या होता है? – What is Government Doctor Information in Hindi?

विषय-सूची

Government Doctor Kaise Bane
Government Doctor Kaise Bane

Doctor अथवा Government Doctor में ज्यादा अंतर नहीं है। चाहे सरकारी डॉक्टर हो या प्राइवेट हो, उनका मुख्य कार्य मरीजों का इलाज कर उन्हें स्वस्थ्य करना होता है। सरकारी डॉक्टर सरकारी विभाग से संबंधित होते हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इन्हें काफी अच्छी सैलरी प्राप्त होती है। सरकारी डॉक्टर बनने के लिए विभिन्न प्रकार की प्रक्रिया से उम्मीदवार को गुजरना होता है। जिसके बारे में विस्तृत जानकारी नीचे दी गई है।

सरकारी डॉक्टर बनने के लिए योग्यता – Qualifications/Eligibility to Become a Government Doctor?

गवर्नमेंट डॉक्टर अथवा सरकारी डॉक्टर बनने के लिए विद्यार्थी को बायोलॉजी के विषय के साथ 12वीं की परीक्षा को पास करना जरूरी है, साथ ही उसके हर विषय में कम से कम 50% अंक भी होने चाहिए। इसके अलावा विद्यार्थी की उम्र कम से कम 18 साल होनी चाहिए।

सरकारी डॉक्टर बनने की प्रक्रिया – Process to Become a Government Doctor

मेडिकल की फील्ड में सरकारी डॉक्टर बनने के लिए विद्यार्थियों को दसवीं कक्षा से ही अपनी तैयारी चालू करनी पड़ती है, क्योंकि जब विद्यार्थी दसवीं कक्षा को पास कर के 12वीं कक्षा में एडमिशन लेते हैं, तो विद्यार्थियों के सामने साइंस स्ट्रीम में मेडिकल और नॉन मेडिकल दो प्रकार के ऑप्शन आते हैं। जिनमें से विद्यार्थियों को मेडिकल का विकल्प चयन करना होता है।

मेडिकल का ऑप्शन सेलेक्ट करने के बाद विद्यार्थियों को केमिस्ट्री, बायोलॉजी और फिजिक्स जैसे विषयों की पढ़ाई करनी पड़ती है। इन सभी सब्जेक्ट में विद्यार्थियों को अपना Score कम से कम 60% या फिर उससे ज्यादा बनाना पड़ता है। इसके साथ ही साथ विद्यार्थियों को एंट्रेंस एग्जाम की भी तैयारी चालू कर देनी पड़ती है क्योंकि डॉक्टर बनने के लिए जिस एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन होता है, वह काफी कठिन होती है। इसीलिए अगर आप पहले से ही तैयारी करके रखते हैं तो यह आगे चलकर फायदेमंद साबित होता है।

सरकारी डॉक्टर बनने के लिए प्रवेश परीक्षा – Entrance Exam to Become a Government Doctor

विद्यार्थी चाहे तो सरकारी डॉक्टर बनने के लिए 12वीं कक्षा में ऑल इंडिया मेडिकल एग्जाम या फिर स्टेट लेवल के फॉर्म को भर सकते हैं, परंतु एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे अंक पाना जरूरी होता है, क्योंकि एंट्रेंस एग्जाम में जो अंक विद्यार्थियों को मिलते हैं, उन्ही अंकों के आधार पर उन्हें कॉलेज में एडमिशन की प्राप्ति होती है। मेडिकल की फील्ड में जाने के लिए विद्यार्थियों को सीबीएससी बोर्ड द्वारा नेशनल लेवल पर आयोजित नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट यानी कि (नीट यूजी) एग्जाम को पास कर के किसी भी सर्टिफाइड इंस्टीट्यूट से MBBS के कोर्स की स्टडी करनी होती है।

देश में AIIMS जैसे बड़े इंस्टीट्यूट डायरेक्ट ऐडमिशन की परीक्षा का आयोजन करवाते हैं। इंडियन नेशनल लेवल पर सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन यानी कि सीबीएसई के द्वारा हर साल की जाने वाली ऑल इंडिया प्री मेडिकल, फ्री डेंटल टेस्ट सबसे मुख्य एग्जाम है। इसके अलावा भी कुछ मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन करवाने वाले इंस्टीट्यूट के नाम निम्नानुसार हैं।

  • आल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी-दिल्ली
  • वर्धा मेडिकल कॉलेज-वर्धा, आम्र्ड फोर्स-पुणे
  • Uttar Pradesh Combined Pre Medical Test (UPCPMT)

सरकारी डॉक्टर बनने के लिए एमबीबीएस कोर्स और इंटर्नशिप – MBBS Course and Internship to Become a Government Doctor

सामान्य तौर पर देखा जाए तो सरकारी डॉक्टर बनने के लिए विद्यार्थियों को MBBS के Course को करना पड़ता है। इस कोर्स को करने में कुल 4.5 साल का समय लगता है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद विद्यार्थियों को अनिवार्य तौर पर किसी भी मेडिकल कॉलेज में कम से कम 1 साल की इंटर्नशिप करनी आवश्यक होती है। इस प्रकार देखा जाए तो एमबीबीएस का कोर्स पूरे 5.5 साल का पड़ जाता है।

MBBS के कोर्स को पूरा करने के बाद MCI यानी की medical council of india के द्वारा सर्टिफाइड डॉक्टर के रूप में व्यक्ति को एमबीबीएस की डिग्री दी जाती है। इसके बाद व्यक्ति चाहे तो अपनी इच्छा के अनुसार Practice चालू कर सकता है या फिर वह अपने इंटरेस्ट और अपनी योग्यता के आधार पर MS, MD जैसे कोर्स को करके पोस्ट ग्रेजुएशन का कोर्स कर सकता है और आगे चलकर विभिन्न प्रकार की रिसर्च कर सकता है।

सरकारी डॉक्टर बनने के लिए प्रवेश परीक्षा की तैयारी कैसे करें? – How to Prepare For the Entrance Exam to Become a Government Doctor?

अगर आप सरकारी डॉक्टर या फिर गवर्नमेंट डॉक्टर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपना मुख्य ध्यान एंट्रेंस एग्जाम को क्लियर करने पर लगाना पड़ेगा, क्योंकि इस परीक्षा को पास करने के बाद ही आपको एमबीबीएस जैसे कोर्स में गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन मिलेगा। एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करने के लिए नीचे दी गई बातों को अपने ध्यान में अच्छे से बिठाले।

  • मेडिकल की जो एंट्रेंस एग्जाम होती है वह सामान्य तौर पर 12वीं और 10वीं के सिलेबस पर ही आधारित होती है, इसीलिए विद्यार्थियों को 10वीं और 12वीं की पढ़ाई को अच्छे से करना चाहिए।
  • विद्यार्थियों को 12 वीं के तीनों सब्जेक्ट के फंडामेंटल को पूरी तरह से रेडी करना चाहिए और उनकी एप्लीकेशन पर अपना ध्यान रखना चाहिए तथा इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा खत्म होते ही मेडिकल एग्जाम से रिलेटेड पहले पूछे गए सवालों को गंभीरता से Solve करने की कोशिश करनी चाहिए और उनके सिलेबस को समझने का प्रयास करना चाहिए।
  • सैंपल पेपर को टाइम में हल करने की कोशिश करनी चाहिए और उसके आधार पर अपनी स्टडी का मूल्यांकन करना चाहिए।
  • अपनी कमजोरियों पर ध्यान देना चाहिए और उसे दूर करने की कोशिश करनी चाहिए।
  • अच्छी तैयारी करने के लिए किसी कोचिंग इंस्टिट्यूट का सहारा लेना चाहिए।
  • यूट्यूब पर जो भी एजुकेशनल चैनल है, उन्हें रोजाना देखना चाहिए और जो भी काम की बातें हैं, उन्हें डायरी में नोट करना चाहिए।

सरकारी डॉक्टर बनने के लिए भारत के सबसे अच्छे मेडिकल कॉलेज – Best Medical Colleges in India to Become a Government Doctor?

गवर्नमेंट डॉक्टर या फिर सरकारी डॉक्टर बनने के लिए भारत के प्रमुख मेडिकल कॉलेज की जानकारी निम्नानुसार है।

  • AIIMS
  • सेंट जॉन्स मेडिकल, कॉलेज बेंगलुरू
  • मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज, दिल्ली
  • ग्रांट मेडिकल कॉलेज, मुंबई
  • क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज वेल्लूर
  • जेआईपीएमईआर, पांडुचेरी
  • मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेन्नई
  • यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेस एंड जीटीबी हॉस्पिटल, दिल्ली

सरकारी डॉक्टर बनने के लिए कौशल – Skills to Become a Government Doctor

सरकारी डॉक्टर बनने के लिए आपके अंदर निम्न कौशल होने चाहिए।

  • बायोलॉजी के विषय में आपको इंटरेस्ट होना चाहिए।
  • प्रॉब्लम सॉल्विंग का गुण होना चाहिए।
  • आपके अंदर निडरता होनी चाहिए क्योंकि अक्सर डॉक्टरी की पढ़ाई में लाशों की चिरफाड करने के लिए आपको कहा जा सकता है।
  • मानव अंगों की समझ होनी चाहिए।
  • पढ़ाई के प्रति गंभीरता होनी चाहिए।
  • आई क्यू लेवल या तो अच्छा होना चाहिए या तो औसत होना चाहिए।
  • धैर्य होना चाहिए क्योंकि, यह कोर्स साढ़े 5 सालों का होता है।
  • लगातार मेहनत करने के लिए तैयार रहना चाहिए।

सरकारी डॉक्टर बनने के फायदे – Benefits/Advantages of Becoming a Government Doctor

जब आप सरकारी डॉक्टर बन जाते हैं, तो सबसे पहला फायदा आपको जो मिलता है वह यह है कि आपको अच्छी सैलरी प्राप्त होती है। इसके अलावा जैसे जैसे आप काम करते जाते हैं वैसे वैसे आपको अपनी फील्ड में काफी ज्यादा अनुभव प्राप्त होने लगता है और जब कभी भी आप रिटायर होते हैं।

तो भी आपकी कमाई बंद नहीं होती है, क्योंकि आप अपने एक्सपीरियंस से कोई भी क्लीनिक खोल सकते हैं और अपनी कमाई कर सकते हैं। आप चाहे तो घर बैठे ही लोगों को दवाइयों के बारे में जानकारी दे सकते हैं या फिर ऑनलाइन यूट्यूब पर भी अपना हेल्थ से संबंधित चैनल चालू करके लोगों को जानकारी दे सकते हैं।

सरकारी डॉक्टर का वेतन – Salary of Government Doctor

हमारे देश में एक सरकारी डॉक्टर को महीने की सैलरी के तौर पर ₹80,000 से लेकर ₹16,000 तक की सैलरी प्राप्त होती है। हालांकि जो प्राइवेट डॉक्टर हैं उनकी महीने की सैलरी इंडिया में ही कम से कम चार लाख के आसपास होती है, यह एमबीबीएस डॉक्टर की सैलरी होती है। विदेशों में गवर्नमेंट डॉक्टर की सैलरी महीने की कम से कम ₹800,000 से लेकर ₹900,000 लाख के आसपास होती है।

एमबीबीएस कोर्स करने में कितना खर्चा आता है? – How Much Does it Cost to do MBBS Course?

हमारे भारत देश में एमबीबीएस का कोर्स अगर आप सरकारी मेडिकल कॉलेज से करते हैं, तो इसके लिए तकरीबन पूरे कोर्स के लिए आपको ₹5 लाख से ₹7 लाख तक की फीस भरनी पड़ सकती है, वहीं अगर आप प्राइवेट मेडिकल कॉलेज से इस कोर्स को करते हैं, तो इसके लिए आपको पूरे कोर्स के लिए तकरीबन 15 लाख से ₹40 लाख तक की फीस भरनी पड़ सकती है।

सरकारी डॉक्टर कैसे बने? – How to Become Government Doctor?

सरकारी डॉक्टर बनने के लिए आपको क्या करना पड़ेगा और किस प्रक्रिया से आपको गुजरना पड़ेगा, इसकी जानकारी नीचे हम आपको दे रहे हैं

1. 10वीं कक्षा के बाद Biology विषय लें

गवर्नमेंट डॉक्टर बनने के लिए जैसे ही आप दसवीं कक्षा पास कर लेते हैं, वैसे ही आपको 11वीं कक्षा में बायोलॉजी का विषय लेना चाहिए और अच्छे से साइंस के विषयों के साथ आपको 11वीं तथा 12वीं की परीक्षा को पास करना चाहिए। अगर आप अच्छे कॉलेज में एडमिशन पाना चाहते हैं तो आपको 12वीं में कम से कम 60% अंक लाना चाहिए।

2. एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करें और क्लियर करें

जब आप 11वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ रहे हो तभी आपको एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी धीरे-धीरे चालू कर देनी चाहिए, क्योंकि अच्छे कॉलेज में एडमिशन पाने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम को पास करना ही पड़ेगा। बिना एंट्रेंस एग्जाम पास किए आपको कॉलेज में एडमिशन नहीं मिलेगा। इसलिए आपको एंट्रेंस एग्जाम की अच्छे से तैयारी करनी चाहिए ताकि आप एंट्रेंस एग्जाम को क्लियर कर ले और एमबीबीएस के कोर्स में एडमिशन पाने में सफलता प्राप्त करें।

3. MBBS के कोर्स को सफलतापूर्वक पूरा करें

एंट्रेंस एग्जाम को पास करने के बाद आपको एमबीबीएस के कोर्स में एडमिशन मिल जाता है। यह कोर्स टोटल साढ़े 4 साल का होता है। सरकारी डॉक्टर बनने के लिए आपको इस कोर्स पर विशेष तौर पर ध्यान देना पड़ता है और इसकी अच्छे से स्टडी करनी होती है।

4. इंटर्नशिप करें

एमबीबीएस की पढ़ाई को पूरा करने के बाद आपको कम से कम 1 साल के लिए किसी भी मेडिकल कॉलेज में इंटर्नशिप करना आवश्यक है यानी कि आपको गवर्नमेंट डॉक्टर बनने के लिए टोटल साढ़े 5 साल का समय देना होगा। जैसे ही आप एमबीबीएस के कोर्स को करने के बाद 1 साल की इंटर्नशिप भी पूरी कर लेते हैं, वैसे ही आपको मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के द्वारा सर्टिफाइड डॉक्टर की डिग्री दी जाती है, जिसके बाद आप डॉक्टर कहलाने लायक बन जाते हैं

5. नौकरी के लिए अप्लाई करें

मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के द्वारा सर्टिफाइड डॉक्टर की डिग्री प्राप्त करने के बाद आपको गवर्नमेंट कॉलेज में जब नोटिफिकेशन निकले, तब डॉक्टर की पोस्ट के लिए अप्लाई करना है। डॉक्टर की पोस्ट के लिए अप्लाई करने के बाद गवर्नमेंट कॉलेज की कमेटी के द्वारा आपकी योग्यता, आपके डॉक्यूमेंट की चेकिंग की जाएगी और अगर आप एलिजिबल पाए जाते हैं तो आपको गवर्नमेंट कॉलेज में सरकारी डॉक्टर अथवा गवर्नमेंट डॉक्टर की पोस्ट प्रदान की जाएगी। इस प्रकार आप गवर्नमेंट डॉक्टर बनने में कामयाब हो जाएंगे।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Government Doctor Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में Government Doctor Kaise Bane (How To Become Government Doctor In Hindi) और सरकारी डॉक्टर कैसे बने? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Government Doctor Kya Hota Hai बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

About Ainain

government doctorमैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.