वित्त

शेयर बाजार में निवेश कैसे शुरू करें? जानिए Share Market Me Invest Kaise Kare से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

0

आज हम जानेंगे शेयर बाजार में निवेश कैसे शुरू करें पूरी जानकारी (How to Invest in Share Market In Hindi) के बारे में क्योंकि जिस व्यक्ति के पास जितने ज्यादा पैसे होते हैं वह उतना ही ज्यादा सुख सुविधा प्राप्त करता है। वर्तमान के टाइम में लोग पैसे कमाने के लिए कई काम करते हैं और जो पैसे वह कमाते हैं उसमें से कुछ पैसे वह शेयर मार्केट में भी इन्वेस्ट करते हैं। कुछ लोगों के पॉइंट ऑफ व्यू के अनुसार देखा जाए तो शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करना एक रिस्क वाला काम होता है।

परंतु आपको बता दें कि कई रिसर्च में यह बात सामने आई है कि अगर आप शेयर मार्केट में सही शेयर में अपने पैसे लंबे समय के लिए इन्वेस्ट करते हैं तो आपको अच्छा रिटर्न में प्राप्त हो सकता है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Share Market Me Invest Kaise Kare, शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए क्या करे, शेयर बाजार में निवेश करने का तरीका, Share Market me Invest Kaise Kiya Jata Hai, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कैसे करें? – How to Invest in Share Market Information in Hindi?

Share Market Me Invest Kaise Kare

Share Market Me Invest Kaise Kare

कुछ लोगों के पास शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए शार्ट टर्म स्ट्रेटजी होती है, वहीं कई लोग शेयर मार्केट में लंबे समय के लिए इन्वेस्ट करते हैं। शेयर मार्केट में अवेलेबल सही शेयर में इन्वेस्ट करके कई ट्रेडर काफी जल्दी प्रॉफिट कमा लेते हैं, वहीं कई लोग जानकारी के अभाव में अपने पैसे गवा बैठते हैं। इसलिए तो यह कहा जाता है कि शेयर मार्केट जोखिमों के अधीन है क्योंकि यहां पर कब कौन सा शेयर हाई चला जाए और कब कौन सा शेयर डाउन चला जाए, इसके बारे में कोई भी तुक्का नहीं लगाया जा सकता।

शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए क्या करें? – What to do to invest in Share Market

शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने से पहले आपको शेयर मार्केट की इंफॉर्मेशन को हासिल करने का प्रयास करना चाहिए। अब यह जाहिर सी बात है कि जब आप इस फील्ड में नए हैं तो आपको यह पता ही नहीं होगा कि शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने की प्रक्रिया क्या है। ऐसी अवस्था में आप अपनी चॉइस के हिसाब से शेयर मार्केट एक्सपर्ट से मिल सकते हैं और उनसे कंसल्ट करके इसमें इन्वेस्टिंग करना स्टार्ट कर सकते हैं। फिलहाल आइए आपको बताते हैं कि शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कैसे किया जाता है।

1. अपना इंडिविजुअल डिमैट अकाउंट ओपन करें

जब बात आती है स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने की तो ऐसा कोई जरिया आपको सबसे पहले ढूंढना होता है जिसके जरिए आप स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टिंग करना स्टार्ट कर सकें। स्टॉक मार्केट में अपने पैसे डालने के लिए आपको सबसे पहले तो एक इंडिविजुअल डिमैट अकाउंट ओपन करना होता है जिसमें आप अपने ट्रेडिंग अकाउंट का इस्तेमाल करके शेयर मार्केट से जब कोई शेयर खरीदेंगे या फिर उसे बेचेंगे तो खरीदे हुए शेयर को आप डीमेट अकाउंट में स्टोर करके रखेंगे।

यहां आपको बता दे कि सेविंग अकाउंट और पैन कार्ड यह दो मुख्य चीजें हैं जो आपको डिमैट अकाउंट को ओपन करने के लिए चाहिए होंगी। डिमैट अकाउंट ओपन करने के लिए बहुत सारी एप्लीकेशन है जिसके बारे में आप इंटरनेट से जानकारी हासिल कर सकते हैं।

2. ब्रोकर के साथ कांटेक्ट करें

बता दें कि कोई भी आदमी डायरेक्ट शेयर मार्केट से शेयर की खरीदारी या फिर बिक्री नहीं कर सकता है बल्कि शेयर मार्केट से शेयर को खरीदने के लिए उसे एक व्यक्ति की आवश्यकता होगी जिसे शेयर मार्केट का ब्रोकर कहा जाता है। शेयर मार्केट ब्रोकर कोई इंडिविजुअल व्यक्ति भी हो सकता है, कोई कंपनी भी हो सकती है या फिर ऐसी एजेंसी भी हो सकती है जो सेबी के साथ रजिस्टर्ड हो या फिर सेबी के साथ ऑथराइज्ड हो।

ब्रोकर के द्वारा शेयर मार्केट से शेयर खरीदने के लिए अथवा बेचने के लिए आपको कुछ नॉर्मल फीस ब्रोकर को भी देनी पड़ेगी जिसे ब्रोकरेज फीस कहा जाता है। हर ब्रोकर की फीस अलग-अलग हो सकती है।

3. स्टार्टिंग में छोटा इन्वेस्टमेंट करें

शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए डिमैट अकाउंट प्राप्त कर लेने के बाद तथा ब्रोकर से कांटेक्ट कर लेने के बाद बारी आती है फंड की क्योंकि फंड ही वह चीज होती है जो आप का हथियार होता है। शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने के लिए किसी भी व्यक्ति के पास शेयर मार्केट की चाहे कितनी भी इंफॉर्मेशन क्यों ना हो परंतु अगर उसके पास पर्याप्त मात्रा में फंड नहीं है तो उसकी सारी इनफार्मेशन धरी की धरी रह जाती है।

अगर आप शेयर मार्केट में बिल्कुल नए-नए हैं और आप पहली बार शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करना स्टार्ट कर रहे हैं, तो हमारी सलाह के अनुसार आप स्टार्टिंग में छोटे इन्वेस्टमेंट से शेयर मार्केट में अपने पैसे डालना चालू कर सकते हैं। अगर आपके पास ज्यादा पैसे नहीं है तो आप 1000 हजार रुपए हर महीने के साथ भी अपने पैसे शेयर मार्केट में डालना चालू कर सकते हैं।

बताए दे कि शेयर मार्केट में अपने पैसे को बचाए रखना आपके लिए बहुत ही आवश्यक होता है क्योंकि जब तक आपके पास पैसे होते हैं तभी आप इसमें इन्वेस्ट कर सकते हैं या फिर इसके जरिए फायदा कमा सकते हैं। अगर आप स्टार्टिंग में अपने कम पैसे ही शेयर मार्केट में डालते हैं तो इससे लॉस होने की संभावना में भी आपका बहुत ही कम नुकसान होगा और आपका कैपिटल फंड बना रहेगा।

4. अच्छा इन्वेस्टर बनने की कोशिश करें

देखिए शेयर मार्केट से पैसा कमाने के लिए आपके अंदर धैर्य होना चाहिए क्योंकि कई लोग ऐसे होते हैं जो शेयर मार्केट में कम समय में ज्यादा पैसा कमाने के लिए इंट्राडे ट्रेडिंग या फिर शार्ट टर्म ट्रेडिंग करते हैं, यह काफी कम टाइम में अच्छा फायदा तो दिलाते हैं परंतु इसमें बहुत ही हाई रिस्क होता है। इसलिए जिन लोगों को शेयर मार्केट की इंफॉर्मेशन नहीं है अथवा जो लोग पहली बार इस फील्ड में आए हैं उन्हें इसमें भूल कर भी इन्वेस्ट नहीं करना चाहिए, वरना स्टार्टिंग में ही उन्हें नुकसान हो सकता है।

शेयर मार्केट से पैसे कमाने के लिए आपको सबसे पहले तो अच्छे शेयर का सिलेक्शन इन्वेस्ट करने के लिए करना चाहिए और उसके अंदर आपको शॉर्ट टर्म के लिए अपने पैसे डालने चाहिए फिर देखिए कैसे धीरे-धीरे आपके पैसे डबल होते हैं और एक दिन आपको अच्छा रिटर्न प्राप्त होगा।

5. अच्छे शेयर का सिलेक्शन करें

शेयर मार्केट में अपने पैसे डालने से पहले कई लोग किताबी ज्ञान हासिल करते हैं, हालांकि किताबी ज्ञान से ज्यादा बढ़िया होता है प्रैक्टिकल ज्ञान हासिल करना। इस प्रकार शेयर मार्केट में अपने पैसे डालने से पहले आपके पास भले ही कितना भी किताबी ज्ञान क्यों ना हो परंतु शेयर मार्केट में जब तक आप प्रैक्टिकल तौर पर नहीं उतरते हैं तब तक आपको अपनी कमियों के बारे में पता नहीं चल पाता है, ना ही आप शेयर मार्केट के एक्सपर्ट बन पाते हैं।

शेयर मार्केट में अपनी मेहनत की कमाई को किसी शेयर को खरीदने के लिए डालने से पहले आपको जिस भी कंपनी में इन्वेस्टमेंट करने के इच्छुक हैं उस कंपनी की बैलेंस शीट और उसके फायदे और नुकसान को पूरी तरह से एनालिसिस करना होगा जिसके लिए आप स्क्रीनर का यूज कर सकते हैं अथवा आप चाहें तो उस कंपनी के फंडामेंटल डाटा का एनालिसिस भी कर सकते हैं।

कंपनी का फंडामेंटल डाटा एनालिसिस करने के लिए आपको नीचे दिए गए क्वेश्चन पर विचार करना चाहिए।

  • कंपनी ने वार्षिक तौर पर कितनी तरक्की की है तथा उसे कितना प्रॉफिट हुआ है और उसकी कितनी सेल हुई है।
  • दूसरी कंपनियों की कंपैरिजन करके आपको यह भी पता करना चाहिए कि जिस कंपनी के शेयर आप खरीदने के इच्छुक हैं उस कंपनी का प्राइस टू एरनिंग कितना ज्यादा या फिर कम है।
  • कंपनी ने कितना लोन टोटल लिया हुआ है और वह लोन कंपनी ने किस-किस अन्य इंस्टिट्यूट या फिर कंपनी से हासिल किया है।
  • कंपनी का कंमपटीटर कौन है और वह किस फील्ड से संबंधित वर्क को करती है और उसी वर्क को दूसरी कौन-कौन सी कंपनियां करती हैं।
  • कंपनी के एडवांटेज और कंपनी के डिसएडवांटेज कौन-कौन से हैं।
  • कंपनी मार्केट में कितने पर्सेंट की हिस्सेदारी रखती है। आपको बता दें कि 1000 करोड़ से ज्यादा का मार्केट में हिस्सेदारी रखने वाली कंपनी अच्छी मानी जाती है।

6. रिश्क के लिए तैयार रहे

जितने भी शेयर, शेयर मार्केट में अवेलेबल होते हैं उनके दाम में विभिन्न प्रकार के फैक्टर शामिल होते हैं और सभी फैक्टर का शेयर के दाम पर किसी ना किसी प्रकार से इफेक्ट पड़ता ही है। इसलिए यह आवश्यक नहीं है कि आपने शेयर मार्केट में जिस शेयर को खरीदने की इच्छा जाहिर की है वह ट्रेंड में ही जाएगा यानी कि ऊपर की तरफ जाएगा क्योंकि किसी भी चीज की एक्यूरेसी होती है।

ऐसी अवस्था में यह भी हो सकता है कि आपने भले ही किसी भी अच्छे स्टॉक में अपने पैसे डाले हो परंतु किसी प्रकार के मिसमैनेजमेंट के कारण या फिर किसी अन्य रीजन से आपने जिस शेयर में अपने पैसे डाले हैं उसका प्राइस नीचे की तरफ चला जाए। इस अवस्था में हमने आपको ऊपर जो कैपिटल बचाए रखने की सलाह दी है वह आपके काम आती है।

7. अलग-अलग शेयर में इन्वेस्ट करें

शेयर मार्केट में नुकसान को कम करने के लिए और फायदे के चांस को बढ़ाने के लिए शेयर मार्केट के एक्सपर्ट के अनुसार व्यक्ति को अलग-अलग शेयर में अपने पैसे इन्वेस्ट करने चाहिए। इसे उदाहरण से समझे तो मान लीजिए कि आपने किसी एक ही कंपनी में अपने सारे पैसे इन्वेस्ट कर दिए और वह कंपनी अगर फायदे में जाती है तो आपको फायदा होगा परंतु वह अगर नुकसान में जाती है तो आपके पूरे पैसे डूब जाएंगे।

इसके विपरीत अगर आपने अपने पैसे 8 से 10 कंपनी में थोड़ा-थोड़ा करके इन्वेस्ट किए हैं तो उसमें कोई ना कोई कंपनी फायदे में जाएगी, कोई ना कोई कंपनी नुकसान में जाएगी। इस प्रकार आपका फंड मेंटेन रहेगा और इसमें अधिकतर यह चांस है कि आपको अच्छा रिटर्न आप के फंड का मिलेगा।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Invest in Share Market Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में Share Market me Invest Kaise Kare (How to Invest in Share Market In Hindi) और शेयर बाजार में निवेश कैसे शुरू करें? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं। अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Share Market me Invest Karne Ka Tarika बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा?
Ainain
मैं supportingainain ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️ Contact us via Email - [email protected]

ISRO क्या होता है? ISRO का फुल फॉर्म क्या होता है? ISRO Full Form In Hindi

Previous article

सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग क्या होता है? Software Programmer कैसे बने? जानिए Software Programmer बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.