म्यूचुअल फंड क्या होता है? Mutual Fund मे कैसे Invest करें? जानिए Mutual Fund से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) क्या होता है पूरी जानकारी (What Is Mutual Fund In Hindi) के बारे में क्योंकि जैसे जैसे आदमी बड़ा होता जाता है, वैसे वैसे ही उसके पैसे की आवश्यकता भी बढ़ती जाती है और इसीलिए आदमी अधिक से अधिक पैसे कमाने की कोशिश करता है। जिंदगी में यह निश्चित नहीं होता है कि हमारी जितनी इनकम आज है, उतनी कल भी होगी। इसीलिए हर व्यक्ति ऐसे किसी रास्ते की तलाश में रहता है, जिसके द्वारा उसे पैसे की प्राप्ति होती रहे। सामान्य तौर पर लोग पैसे की बचत करते हैं परंतु कई लोग ऐसे होते हैं, जो पैसे को Invest करके उसे बढ़ाने का काम करते हैं।

पैसे को Invest करने के कई तरीके हैं जिसमें से ही एक तरीका है Mutual Fund में निवेश करना। म्यूचल फंड में इन्वेस्ट करने से पहले इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए। इस आर्टिकल में हम आपको म्यूच्यूअल फंड क्या है तथा म्यूचल फंड से रिलेटेड अन्य जानकारी दे रहे हैं। आज के इस लेख में जानेंगे कि Mutual Fund Kya Hota Hai, म्यूचुअल फंड काम कैसे करता है, Mutual Fund Kaise Kam Karta Hai, म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट क्यों करना चाहिए, Mutual Fund Kaise Kharide, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

म्यूचुअल फंड क्या है? – What is Mutual Fund Information in Hindi?

Mutual Fund Kya Hai
Mutual Fund Kya Hai

Mutual Fund एक ऐसी संस्था अथवा इंस्टिट्यूट होता है, जो काफी बड़ी मात्रा में ऐसे लोगों से पैसे इकट्ठा करने का काम करता है जो म्युचुअल फंड में Invest करना चाहते हैं। निवेशकों के द्वारा इकट्ठा किए गए पैसे को स्टॉक मार्केट, इक्विटी, बॉन्ड में निवेश किया जाता है और जो व्यक्ति जितना ज्यादा पैसा इन्वेस्ट करता है वह अपने द्वारा Invest किए गए पैसे के प्रतिशत के हिसाब से उतने शेयर का मालिक बन जाता है।

अगर उदाहरण के तौर पर समझाएं तो आप इसे इस प्रकार से समझे की म्यूचल फंड एक प्रकार का इंस्टिट्यूट होता है, जो गवर्नमेंट रूल्स और रेगुलेशन के हिसाब से रजिस्ट्रेशन करने के बाद पैसे Invest करने वाले लोगों के पैसे को शेयर मार्केट में निवेश करने का काम करता है। यह संस्था शेयर मार्केट में लोगों के पैसे निवेश करने के लिए बेस्ट मैनेजमेंट को काम पर रखती है। इस मैनेजमेंट के स्टाफ में शेयर मार्केट से जुड़े हुए काफी दिग्गज लोग होते हैं, जिसके कारण व्यक्ति के पैसे डूबने का खतरा काफी कम हो जाता है या फिर उसे नुकसान होने की संभावना काफी कम होती है।

बता दें म्यूचुअल फंड के अंदर विभिन्न प्रकार के प्लान होते हैं, जिसमें से आप अपनी इच्छा के अनुसार कोई भी प्लान ले सकते हैं। प्लान के हिसाब से ही जोखिम फैक्टर में कटौती या फिर बढ़ोतरी होती है। जब म्यूचुअल फंड में फायदा होता है, तो कंपनी अपना 2 से 3% का कमीशन काटकर के बाकी पैसा निवेश करने वाले लोगों को वापस दे देती है। इस प्रकार से जो इसमें पैसा Invest करता है, उसे काफी अच्छा रिटर्न प्राप्त होता है और उसके पैसे ग्रो करते हैं।

म्यूचुअल फंड के फायदे – Benefits of Mutual Funds

यह सवाल हर उस व्यक्ति के मन में आता है, जो म्यूचल फंड में अपने पैसे निवेश करना चाहता है और ऐसा जरूरी भी है क्योंकि कोई भी व्यक्ति अपने पैसे ऐसी जगह पर ही Invest करना चाहेगा, जहां से उसे नुकसान होने की संभावना कम हो और फायदा होने की संभावना ज्यादा हो। Mutual Fund में Invest करने से जो फायदे होते हैं, वह निम्नानुसार हो सकते हैं।

  • मुचल फंड में investment करने से सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि, इसमें व्यक्ति के पैसे डूबने की संभावना बहुत ही कम होती है।इसीलिए लोग इसमें निवेश करने की इच्छा रखते हैं, हालांकि फिर भी इसमें investment करने से पहले इसके बारे में पूरी जानकारी इकट्ठा करनी चाहिए।
  • अगर किसी व्यक्ति के पास म्यूचल फंड में निवेश करने के लिए ज्यादा पैसे नहीं है, तो वह कम से कम सिर्फ ₹500 से भी इसके अंदर इन्वेस्टमेंट करना चालू कर सकता है। इस प्रकार मिडिल क्लास लोग भी इसमें ₹500 से भी investment करना चालू कर सकते हैं।
  • जब निवेशक म्यूचुअल फंड के अंदर अपने पैसे investment कर देता है, तो उसे अपने पैसों की देखरेख खुद से नहीं करनी पड़ती है, क्योंकि उसके पैसे की देखरेख और उसके पूरे फंड की देखरेख एक्सपर्ट मैनेजर के द्वारा की जाती है।
  • Mutual Fund के मैनेजर म्यूचल फंड में पैसा डालने वाले व्यक्ति को पैसे डालने के पहले और पैसे डालने के बाद समय समय पर पूरी जानकारी देते रहते हैं, जैसे कि वह अपने क्लाइंट को यह बताते हैं कि मार्केट में कौन से उतार चढ़ाव हो रहे हैं, आपको पैसे कहां पर निवेश करना चाहिए इत्यादि।
  • जब कोई व्यक्ति म्यूचल फंड में पैसा investment करने की इच्छा रखता है, तो उसे म्युचुअल फंड में विभिन्न प्रकार की स्कीम और योजनाओं के बारे में बताया जाता है, जिनमें से व्यक्ति अपनी पसंद के अनुसार या फिर अपनी क्षमता के अनुसार किसी भी योजना अथवा स्कीम में अपने पैसे निवेश कर सकता है।
  • हमारे देश में म्युचुअल फंड को कंट्रोल करने के लिए सेबी नाम की संस्था का गठन काफी सालों पहले ही इंडियन गवर्नमेंट ने किया है। SEBI संस्था का काम होता है Mutual Fund में या फिर शेयर मार्केट में पैसे निवेश करने वाले लोगों के हितों का पूरा पूरा ध्यान रखना।

म्यूचुअल फंड के प्रकार – Types of Mutual Funds

म्यूचल फंड टोटल 7 प्रकार के होते हैं जो हैं

  1. इक्विटी फंड
  2. बैलेंस फंड
  3. इंडेक्‍स फंड
  4. डेब्‍ट फंड
  5. मनी मार्केट फंड
  6. गिल्‍ड फंड
  7. लिक्विड फंड

1. Money Market Fund : इस प्रकार के म्यूचल फंड में अन्य प्रकार के Mutual Fund के कंपैरिजन में रिटर्न कम मिलता है। इसे एक सुरक्षित फंड माना जाता है। यह ऐसे लोगों के लिए अच्छा है जो तुरंत बेनिफिट चाहते हैं।

2. Equity Fund: इसे स्टॉक फंड के तौर पर भी जाना जाता है। यह मुख्य तौर पर स्टॉक में निवेश करता है।

3. Debt Fund : इस प्रकार के म्यूचल फंड गवर्नमेंट और कंपनियों की फिक्स इनकम सिक्योरिटी में निवेश करते हैं। इसमें गवर्नमेंट सिक्योरिटी, ट्रेजरी बिल, मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट, कॉरपोरेट बॉन्ड शामिल है।

4. Balance Fund : हाइब्रिड फंड को ही बैलेंस फंड कहा जाता है। यह बॉन्ड, कॉमन स्टॉक और अल्पावधि बॉन्ड होता है। इसका जोखिम काफी कम होता है और अधिकतर निवेश की गई रकम की सिक्योरिटी की गारंटी होती है। इस प्रकार से यह कह सकते हैं कि यह फायदेमंद फंड होता है।

5. Gilt Fund : इस फंड को सबसे सिक्योर फंड माना जाता है। इसमें कंपनी पैसे डालने वाले लोगों से लिया हुआ सारा पैसा गवर्नमेंट, गवर्नमेंट स्कीम के अंदर लगा देती है। इसमें सरकार का भी बैकअप होता है, इसलिए पैसा डूबने का खतरा इसमें नहीं होता।

6. Liquid Fund : लिक्विड फंड को कम समय में बढ़िया रिटर्न देने के लिए जाना जाता है। इसके अंतर्गत मुख्य तौर पर कम समय की योजनाओं में पैसा निवेश किया जाता है।

7. Growth Fund : ज्यादा से ज्यादा फायदा प्राप्त करने का प्रयास इस प्रकार के फंडे की सहायता से किया जाता है। इस प्रकार के फंड के अंतर्गत ऐसी कंपनियों में निवेश किया जाता है, जो मार्केट में अच्छी तरककी करती हैं, परंतु इस प्रकार के फंड में रिस्क ज्यादा होता है।

म्यूचुअल फंड में निवेश क्यों करना चाहिए? – Why Should you Invest in Mutual Funds

म्यूचुअल फंड में इन्वेस्टमेंट क्यों करना चाहिए, इसके कारण निम्नलिखित हो सकते हैं।

1. आपके पैसे पर अगर आप अच्छा रिटर्न कमाना चाहते हैं, तो Mutual Fund आपके लिए बेहतरीन माध्यम हो सकता है। अगर आप थोड़ा सा रिस्क उठाने के लिए तैयार हैं तो आप Mutual Fund की इक्विटी स्कीम में अपने पैसे निवेश कर सकते हैं, वही जो लोग बिल्कुल भी जोखिम नहीं उठाना चाहते हैं वह लोग म्युचुअल फंड की डेट स्कीम में अपने पैसे invest कर सकते हैं।

2. लंबे समय में इक्विटी फंड का रिटर्न invest के दूसरे अन्य तरीकों के मुकाबले काफी हाई रहता है।लंबे समय का मतलब 10 साल या फिर से ज्यादा का समय। बच्चों की एजुकेशन, उनकी मैरिज, घर खरीदने की योजना जैसे अपनी मंजिल को हासिल करने के लिए Mutual Fund की योजना से SIP से निवेश किया जा सकता है।

3. म्यूचल फंड कंपनी में पेशेवर फंड मैनेजर होते हैं, जो invest के लिए शेयरों का सिलेक्शन करते हैं। इनके पास किसी भी शेयर के बारे में रिसर्च करने के लिए काफी अच्छी टीम मौजूद होती है और इसीलिए यह अपने क्लाइंट को म्यूचुअल फंड के बारे में तथा शेयर मार्केट के बारे में सटीक इंफॉर्मेशन प्रदान करते हैं।

4. Mutual Fund में इन्वेस्ट करने के लिए आप अपनी आवश्यकता के अनुसार Mutual Fund की सही योजना का सिलेक्शन कर सकते हैं।उदाहरण के स्वरूप पैसे की वृद्धि के लिए इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करना सही होता है, वही पैसे की सुरक्षा के लिए डेट/ हाइब्रिड म्युचुअल फंड में invest करना सही माना जाता है।

5. Mutual Fund की देखरेख रखने के लिए आपको Mutual Fund कंपनियों की वेबसाइट प्राप्त होती है, ऐसे में अगर आपको लगता है कि आप किसी खास म्युचुअल फंड स्कीम की परफॉर्मेंस से खुश नहीं है, तो आप उसमें से अपना पैसा निकाल कर किसी दूसरी बेटर म्युचुअल फंड स्कीम में निवेश कर सकते हैं

म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें? – How to Invest in Mutual Funds?

अगर आपने म्युचुअल फंड में invest करने का मन बना लिया है, तो इसके लिए आप निम्न तरीके का इस्तेमाल करके म्यूचल फंड में निवेश कर सकते हैं।

  • सीधे AMC की वेबसाइट से
  • एजेंट या ब्रोकर के माध्यम से
  • AMC के ऑफिस के माध्यम से
  • Apps के माध्यम से
  • बैंक के माध्यम से
  • डीमैट एकाउंट के माध्यम से

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Mutual Fund Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में Mutual Fund Kya Hai (What Is Mutual Fund In Hindi) और म्यूचुअल फंड क्या होता है? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Mutual Fund Me Invest Kaise Kare बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

About Ainain

mutual fundमैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.