प्रधानमंत्री कौन होता है? Prime Minister कैसे बने? जानिए Prime Minister बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे प्रधानमंत्री (Prime Minister) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become Prime Minister In Hindi) के बारे में क्योंकि भारत एक Democratic Country है, Democratic अर्थात लोकतांत्रिक। दुनिया में जितने भी लोकतांत्रिक देश है, वहां पर हर 5 साल में प्रधानमंत्री के चुनाव होते रहते हैं। कई देशों में प्रधानमंत्री को प्रेसिडेंट कहा जाता है। जबकि भारत का प्रथम नागरिक भारत के राष्ट्रपति को कहा जाता है। हलांकि संविधान में देश के  राष्ट्रपति से अधिक शक्तियां प्रधानमंत्री को दी गयी  है। प्रधानमंत्री का पद बहुत ही जिम्मेदारी वाला होता है और एक सामान्य इंसान को प्रधानमंत्री बनने के लिए काफी संघर्षों का सामना करना पड़ता है।

क्योंकि यह एक ऐसी पोस्ट होती है जहां तक पहुंचने के लिए आपको स्टेप बाय स्टेप अपने कदम आगे बढ़ाने होते हैं। अगर आप प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं और यह जानना चाहते हैं कि प्रधानमंत्री बनने के लिए क्या करना पड़ता है तो इस पोस्ट में हम आपको “प्रधानमंत्री कैसे बने” इससे संबंधित पूरी डिटेल देंगे। आज के इस लेख में जानेंगे कि Prime Minister Kaise Bane, प्रधानमंत्री बनने के लिए क्या करे, PM Meaning In Hindi, Prime Minister Kaun Hota Hai, प्रधानमंत्री बनने का तरीका, Prime Minister Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

पीएम कौन होता है? – Who is PM (Prime Minister) Information in Hindi?

विषय-सूची

Prime Minister Kaise Bane
Prime Minister Kaise Bane

जब लोकसभा चुनाव होता है, तो उस चुनाव में जिस पार्टी को सबसे ज्यादा सीटें प्राप्त होती हैं यानी कि जिस पार्टी को बहुमत प्राप्त होता है, उस पार्टी के किसी नेता को भारत के राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री का पद दिया जाता है। Indian Constitution में प्रधानमंत्री का पद संवैधानिक होता है। इंडियन कॉन्स्टिट्यूशन के अनुसार राष्ट्रपति को राज्कीय कामों में हेल्प देने के लिए और मंत्रणा देने के लिए एक मंत्री परिषद होती है, जिसका प्रमुख प्रधानमंत्री ही होता है। इंडिया में संवैधानिक रूप से प्रशासन की सभी पावर राष्ट्रपति के पास होती है, परंतु उन सभी पावर का इस्तेमाल असलियत में प्रधानमंत्री ही करता है।

प्रधानमंत्री बनने के फायदे – Benefits of Becoming Prime Minister

भारत का प्रधानमंत्री बनने से निम्न फायदे होते हैं।

  • भारत के प्रधानमंत्री को महीने में अच्छी खासी सैलरी प्राप्त होती है।
  • Z+ level तथा अन्य हाईटेक सुरक्षा प्रधानमंत्री को मिलती है।
  • आवागमन के लिए हाईटेक सुरक्षा वाले मुफ्त सरकारी वाहन मिलते हैं।
  • रहने के लिए मुफ्त आवास मिलता है।
  • प्रधानमंत्री को देश ही नहीं विदेशों में भी लोग जानते हैं।
  • दूसरे देशों के साथ अच्छे संबंध स्थापित करने के लिए मुफ्त हवाई जहाज की यात्रा करने को मिलती है।
  • देश के विकास से संबंधित किसी भी प्रकार के निर्णय लेने का अधिकार मिलता है।
  • बड़े-बड़े सेमिनार और उद्घाटन में जाने का मौका मिलता है।
  • 26 जनवरी के दिन लाल किले से भाषण देने का मौका मिलता है।
  • 15 अगस्त पर भी लाल किले से झंडा फहराने का मौका मिलता है।
  • दुश्मन देशों पर हमला करवाने का अधिकार प्राप्त होता है।
  • मंत्रिमंडल के अन्य सदस्य बिना प्रधानमंत्री से पूछे कोई काम नहीं कर सकते।
  • किसी भी राज्य की सरकार को बर्खास्त करने का अधिकार प्रधानमंत्री रखता है।
  • अपनी पार्टी के किसी भी सदस्य को प्रधानमंत्री जब चाहे बर्खास्त कर सकता है।
  • घर का काम करने के लिए मुफ्त नौकर, खाना बनाने के लिए बावर्ची और साफ सफाई के लिए सफाई कर्मचारी भी मिलता है।
  • प्रधानमंत्री के पद से हट जाने के बाद अच्छी खासी पेंशन प्राप्त होती है।

प्रधानमंत्री बनने के लिए आवश्यक योग्यता – Qualification/Eligibility Required to Become Prime Minister

प्रधानमंत्री बनने के लिए नीचे दी गई निम्नलिखित योग्यताएं/पात्रता होना आवश्यक है।

  • भारत का प्राइम मिनिस्टर बनने के लिए व्यक्ति का भारतीय नागरिक होना आवश्यक है।
  • उसका नाम इंडियन वोटर कार्ड लिस्ट में होना चाहिए।
  • वह लोकसभा या फिर राज्यसभा दोनों में से किसी भी एक सभा का मेंबर होना चाहिए, अगर वह मेंबर नहीं है तो उसे 6 महीने के अंदर ही राज्यसभा या फिर लोकसभा में से किसी भी एक की मेंबरशिप लेनी होती है, वरना उसे रिजाइन करना होता है।
  • इंडिया का पीएम बनने के लिए व्यक्ति की उम्र 25 साल या फिर उससे ज्यादा होनी चाहिए।
  • व्यक्ति शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।
  • इंडिया का प्राइम मिनिस्टर बनने के लिए व्यक्ति का कम से कम 10 वीं कक्षा पास होना अनिवार्य है, हालांकि कुछ मामलों में अपवाद हो सकता है।

प्रधानमंत्री बनने के बाद करियर – Career After Becoming Prime Minister

इंडिया का प्राइम मिनिस्टर बन जाने के बाद व्यक्ति के पास कई जिम्मेदारियां आ जाती है। प्राइम मिनिस्टर बनने के बाद उसे भारत के विकास से संबंधित कामों को अंजाम देना होता है, साथ ही दूसरे देशों के साथ अच्छे संबंध स्थापित करने होते हैं, ताकि भारत की GDP यानी की Gross domestic product में बढ़ोतरी हो और भारत तरक्की के रास्ते पर आगे बढ़े।

प्राइम मिनिस्टर के पद से रिटायर होने के बाद भी व्यक्ति का कैरियर खत्म नहीं होता है। रिटायर होने के बाद उसे कई लोग विभिन्न प्रकार के सेमिनार में बुलाते हैं, साथ ही उसे पेंशन भी प्राप्त होती है। इस प्रकार प्राइम मिनिस्टर बन जाने के बाद व्यक्ति की रिटायरमेंट और रिटायरमेंट से लेकर मृत्यु तक उसका कैरियर अच्छा रहता है।

प्रधानमंत्री का काम और जिम्मेदारियां – Job and Responsibilities of Prime Minister

प्राइम मिनिस्टर बन जाने के बाद प्राइम मिनिस्टर का काम और जिम्मेदारियां निम्न प्रकार की होती हैं।

  • प्रधानमंत्री अपने मंत्रिमंडल के जिन सदस्यों का नाम भारत के राष्ट्रपति के सामने प्रस्तुत करता है, राष्ट्रपति उन्हीं सदस्यों को प्रधानमंत्री के मंत्रिमंडल में शामिल होने की अनुमति देता है।
  • प्रधानमंत्री ही अपने मंत्रिमंडल के सदस्यों को उनकी योग्यता के आधार पर विभिन्न मंत्रिमंडल प्रदान करता है, जैसे किसी को रेल मंत्री बनाना, किसी को रक्षा मंत्री बनाना, किसी को बिजली विभाग का मंत्री बनाना इत्यादि।
  • प्रधानमंत्री जब चाहे मंत्रिमंडल में किसी भी व्यक्ति को दिए गए किसी भी पद से हटा सकता है या फिर उसका मंत्रिमंडल चेंज कर सकता है।
  • मंत्री परिषद की मीटिंग की लीडरशिप पीएम ही करता है और मीटिंग में अपने मंत्रियों को आवश्यक दिशा निर्देश तथा अन्य जानकारियां देता है।
  • इंडिया का प्राइम मिनिस्टर भारत के राष्ट्रपति को किसी भी मंत्री को रिजाइन देने के लिए या फिर उसे सस्पेंड करने की एडवाइज दे सकता है।
  • अपने सभी मंत्रियों की एक्टिविटी को कंट्रोल करने और उन्हें दिशा निर्देश देने का काम पीएम करता है।
  • राष्ट्रपति को प्रधानमंत्री अपने प्रधानमंत्री के पद से रिजाइन करके पूरे मंत्रिमंडल को सस्पेंड करके लोकसभा भंग करने की एडवाइज दे सकता है।

प्रधानमंत्री कैसे बने – How to Become PM (Prime Minister) Information in Hindi?

इंडिया का पीएम बनने के लिए आपको काफी सालों तक संघर्ष करना पड़ता है, तब जाकर आप पीएम बन सकते हैं। नीचे हम आपको पीएम बनने के लिए क्या करना पड़ता है, इसकी जानकारी स्टेप बाय स्टेप दे रहे हैं।

1. पॉपुलर नेता बने

पीएम बनने के लिए सबसे पहले आपको एक लोकप्रिय नेता बनना होगा। इसके लिए आपको सबसे पहले अपनी पसंद के अनुसार कोई भी पार्टी ज्वाइन करनी है और उसमें काम करना है। इस प्रकार उस पार्टी की लोगों की नजरों में आप आएंगे, जो आगे चलकर आपके लिए फायदेमंद रहेगा।निर्दलीय उम्मीदवार का पीएम बनना काफी मुश्किल होता है, इसीलिए आपको कोई पार्टी ज्वाइन करनी चाहिए और उसमें धीरे-धीरे बड़ा पद हासिल करना चाहिए।

2. कोई इलेक्शन जीते

पीएम बनने के लिए आपका सांसद होना अनिवार्य है हालांकि हम आपको यह नहीं कह रहे हैं कि आपको सीधा सांसद के पोस्ट पर ही पहुंच जाना है आप विधायक की पोस्ट के लिए भी चुनाव लड़ सकते हैं या फिर नगर निगम का चुनाव भी जीत सकते हैं इस प्रकार अगर किस्मत ने आप का साथ दिया साथ ही लोग आपको पसंद करते हैं तो आप सांसद का चुनाव भी अवश्य जीत जाएंगे।

प्रधानमंत्री बनने के लिए व्यक्ति का सांसद होना अनिवार्य है फिर चाहे वह लोकसभा का सांसद हो या फिर राज्यसभा का सांसद हो। अगर कोई व्यक्ति पीएम बनना चाहता है, परंतु वह किसी भी सभा का मेंबर नहीं है, परंतु अगर उसे सांसदों ने अपना नेता माना है, तो भी वह पीएम बन सकता है, परंतु ऐसा सिर्फ 6 महीने के लिए ही पॉसिबल है। 6 महीने के अंदर उसे राज्यसभा या फिर लोकसभा में से किसी एक की सदस्यता छोड़नी पड़ती है।

3. सांसदों का समर्थन हासिल करें

लोकसभा के चुनाव में जिस पार्टी को ज्यादा सीट मिलती है, उन्हें अपना एक नेता चुनना होता है, तभी वह पीएम बन सकता है। मतलब कि पीएम बनने के लिए आपको सांसदों का समर्थन लेना जरूरी है, क्योंकि पीएम का चुनाव जनता के द्वारा नहीं बल्कि सांसद के द्वारा होता है। इस प्रकार आपको अपनी छवि ऐसी बनानी है, ताकि अधिक से अधिक सांसद आपके नाम को पीएम के उम्मीदवार के तौर पर समर्थन करने के लिए राजी हो जाएं।

4. प्रधान मंत्री बन जाए

जब आपकी पार्टी के ज्यादा से ज्यादा सांसद आपको पीएम के पद पर विराजमान करने के लिए तैयार हो जाते हैं, तब आपको एक निश्चित दिन राष्ट्रपति के समक्ष अपने मंत्रिमंडल के साथ प्रधानमंत्री के पद की शपथ लेनी होती है। इस प्रकार आप प्रधानमंत्री बन जाते हैं।

प्रधान मंत्री बनने के लिए क्या पढ़ना चाहिए?- What Should Study to Become Prime Minister?

वैसे तो प्रधानमंत्री बनने के लिए पढ़ने से ज्यादा आपको एक्सपीरियंस हासिल करने की कोशिश करनी चाहिए, परंतु फिर भी पीएम बनने के लिए आपको राजनीति से संबंधित किताबें पढ़नी चाहिए या फिर आप चाहे तो पॉलिटिक्स से संबंधित कोई कोर्स भी कर सकते हैं। इसके अलावा आपको डेली करंट अफेयर पढ़ना चाहिए, साथ ही टीवी पर आने वाली नेताओं की डिबेट को भी देखना चाहिए।

प्रधानमंत्री की नियुक्ति कैसे होती है? – How is the Prime Minister Appointed?

पीएम पद के इलेक्शन में जिस पार्टी को ज्यादा सीट मिलती है, उस पार्टी के नेता को भारत के राष्ट्रपति के द्वारा प्रधानमंत्री के पद के लिए इनविटेशन दिया जाता है। इसके बाद राष्ट्रपति की उपस्थिति में शपथ ग्रहण होता है। शपथ ग्रहण के कुछ समय बाद ही भारतीय संसद में संबंधित आदमी को लोकसभा में मतदान द्वारा विश्वास मत हासिल करना होता है। इस प्रकार प्रधानमंत्री के पद पर व्यक्ति को नियुक्ति दी जाती है।

प्रधानमंत्री की पावर – Power of Prime Minister

प्रधानमंत्री की पावर निम्नानुसार होती है।

  • भारत का प्रधानमंत्री भारतीय विदेश नीति को अच्छा करने में महत्वपूर्ण भुमिक निभाता है।
  • भारत का प्राइम मिनिस्टर सेंट्रल गवर्नमेंट का मुख्य स्पीकर होता है।
  • प्राइम मिनिस्टर सत्ताधारी दल का मुख्य नेता होता है।
  • इंडिया का प्राइम मिनिस्टर नीति आयोग, योजना आयोग, राष्ट्रीय विकास परिषद, राष्ट्रीय एकता परिषद और राष्ट्रीय जल संसाधन परिषद का मुख्य अध्यक्ष होता है।
  • emergency के दरमियान पॉलिटिकल लेवल पर emergency management का प्रमुख होता है।
  • प्रधानमंत्री तीनों सेनाओं का हेड होता है

प्रधानमंत्री का वेतन कितना होती है – How Much is the Prime Minister Salary

प्रधानमंत्री की मासिक सैलरी 1.6 लाख के आसपास होती है, जिसमें सैलरी के तौर पर प्रधानमंत्री को ₹50,000, निर्वाचन फील्ड भत्ता के तौर पर ₹45,000, रोजाना ₹2,000 का भत्ता तथा अन्य प्रकार का ₹3, 000 का भत्ता शामिल होता है। इसके अलावा भी प्रधानमंत्री को अन्य कई सरकारी सुविधाएं मिलती हैं। जैसे कि मुफ्त सरकारी वाहन,सरकारी सुरक्षा, रसोईया, बावर्ची, मुफ्त टेलीफोन बिल खर्चा, राशन खर्चा रिटायरमेंट के बाद पेंशन।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Prime Minister Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में Prime Minister Kaise Bane (How To Become Prime Minister In Hindi) और प्रधानमंत्री कैसे बने? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Prime Minister Kon Hota Hai बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

About Ainain

Prime Ministerमैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.