म्यूचुअल फंड एजेंट क्या होता है? Mutual Fund Agent कैसे बने? जानिए Mutual Fund Agent बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे म्यूचुअल फंड एजेंट (Mutual Fund Agent) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become Mutual Fund Agent In Hindi) के बारे में क्योंकि आज के समय में Mutual Fund में इन्वेस्ट करना एक पॉपुलर तरीका बनकर लोगों के सामने आ रहा है। कई लोग म्युचुअल फंड में इन्वेस्ट तो करना चाहते हैं परंतु वह थोड़े कन्फ्यूजन में रहते हैं क्योंकि उन्हें म्यूच्यूअल फंड के बारे में पूरी जानकारी नहीं होती है। म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करने के अलावा म्युचुअल फंड एजेंट बनकर भी व्यक्ति अपनी कमाई कर सकता है। हालांकि इसके लिए उसे म्युचुअल फंड एजेंट कैसे बना जाता है, इसकी पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी होनी चाहिए।

अगर आप Mutual Fund में इंटरेस्ट रखते हैं और Mutual Fund Agent या फिर Mutual Fund Distributor बनना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में आपको इसकी पूरी इंफॉर्मेशन प्राप्त होगी। आज के इस लेख में जानेंगे कि Mutual Fund Agent Kya Hota Hai, म्यूच्यूअल फंड एजेंट बनने के लिए क्या करे, Mutual Fund Agent Meaning In Hindi, Mutual Fund Agent Kaise Bane, म्यूचुअल फंड एजेंट बनने का तरीका, Mutual Fund Agent Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

म्यूचुअल फंड एजेंट किसे कहते है? – Who is a Mutual Fund Agent Information in Hindi?

विषय-सूची

Mutual Fund Agent Kaise Bane
Mutual Fund Agent Kaise Bane

Mutual Fund Agent या फिर Mutual Fund Distributor की कमाई म्यूचुअल फंड की Selling करके होती है, वही जो लोग रजिस्टर्ड इन्वेस्टमेंट एडवाइजर होते हैं, वह अपनी कमाई किसी कस्टमर को इन्वेस्ट करने की सलाह देने के बदले फीस के तौर पर चार्ज करते हैं। कहने का मतलब यह है कि जो व्यक्ति पर्सनली लोगों को म्यूच्यूअल फंड की सेलिंग करने का काम करता है उसे म्युचुअल फंड एजेंट या फिर म्युचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर कहा जाता है। यह Share Market, Stock Market से जुड़े हुए होते हैं और इन्हें स्टॉक मार्केट की अच्छी खासी समझ होती है।

म्यूचुअल फंड एजेंट का काम – Work of a Mutual Fund Agent

जैसा कि इसके नाम से ही प्रतीत हो रहा है कि एक Mutual Fund Agent अथवा Mutual Fund Distributor को उस कंपनी के म्युचुअल फंड को सेल करने के लिए ग्राहक को समझाना होता है, जिस कंपनी के लिए वह काम करता है। हालांकि अगर म्यूच्यूअल फंड एजेंट स्वतंत्र रूप से काम करता है तो वह किसी भी कंपनी के म्युचुअल फंड को सेल करने के लिए ग्राहकों को कन्वेंस कर सकता है।

एक म्यूच्यूअल फंड एजेंट का मुख्य काम म्युचुअल फंड की सेलिंग करना होता है और इसके लिए उसे ग्राहकों को सभी प्रकार से संतुष्ट करना पड़ता है ताकि ग्राहक म्युचुअल फंड एजेंट की बातों पर विश्वास करके म्यूचुअल फंड खरीदें।

म्यूचुअल फंड एजेंट बनने के फायदे – Benefits of Becoming a Mutual Fund Agent

Mutual Fund Agent बनने के कुछ प्रमुख फायदे इस प्रकार हैं।

  • जो व्यक्ति Mutual Fund Agent बनता है, उसकी कमाई के कई रास्ते खुल जाते हैं, जिसके कारण उसके पास पैसों की तंगी नहीं रहती है।
  • Mutual Fund Agent बिल्कुल आजाद होकर फुल टाइम या फिर पार्ट टाइम काम कर सकता है और अपनी इनकम कर सकता है।
  • म्यूच्यूअल फंड एजेंट में कमाई इस बात पर आधारित होती है कि व्यक्ति कितना अच्छा काम कर रहा है। व्यक्ति जितना ज्यादा अच्छा काम करेगा, उसकी कमाई भी उतनी ज्यादा होगी।
  • इसमें समय की बाध्यता नहीं होती है।
  • व्यक्ति स्वतंत्र रूप से अपना काम जब चाहे कर सकता है।
  • वर्क फ्रॉम होम से भी व्यक्ति काम कर सकता है।
  • आज के समय में कई लोग म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करना चाहते हैं, ऐसे में जो व्यक्ति म्युचुअल फंड एजेंट होता है वह सामान्य लोगों को म्यूच्यूअल फंड में इन्वेस्ट करने के बारे में सलाह दे सकता है जो इसमें इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं और उसके बदले वह उनसे कमीशन चार्ज कर सकता है।
  • Mutual Fund Agent के तौर पर काम करके व्यक्ति अपनी कमाई में बढ़ोतरी कर सकता है।
  • Mutual Fund Agent की सलाह पर जब कोई कस्टमर एक बार ग्राहक बन जाता है, तो वह एक निश्चित टाइम के लिए इन्वेस्ट करता है, इस प्रकार म्युचुअल फंड एजेंट की पैसिव इनकम चालू हो जाती है।

म्यूचुअल फंड एजेंट बनने की योग्यता – Eligibility to Become a Mutual Fund Agent

म्यूच्यूअल फंड एजेंट बनने के लिए व्यक्ति को AMFI Exam को पास करना पड़ता है। इसका आयोजन नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सिक्योरिटी मार्केट के द्वारा करवाया जाता है। इस परीक्षा में बैठने के लिए उम्मीदवार के पास निम्न योग्यता होनी चाहिए।

  • उसकी उम्र कम से कम 18 साल होनी चाहिए।
  • 12वीं कक्षा पास होना आवश्यक है।
  • जो लोग दसवीं कक्षा पास कर चुके हैं और उनके पास 3 साल का डिप्लोमा है वह भी पात्र होंगे इस परीक्षा में बैठने के लिए।

म्यूचुअल फंड एजेंट बनने के लिए कौशल – Skills to Become a Mutual Fund Agent

म्यूचुअल फंड एजेंट बनने के लिए आवश्यक कौशल इस प्रकार हैं।

  • व्यक्ति के अंदर बातचीत करने की अच्छी कला होनी चाहिए।
  • उसके अंदर नेतृत्व करने का गुण होना चाहिए।
  • व्यक्ति का स्वभाव मिलनसार होना चाहिए, क्योंकि अक्सर म्यूचुअल फंड एजेंट को ग्राहकों को म्युचुअल फंड के बारे में समझाना पड़ता है।
  • व्यक्ति के अंदर धैर्य होना चाहिए।
  • काम करने का जज्बा होना चाहिए।
  • वाणी मीठी होनी चाहिए।
  • म्यूचुअल फंड से संबंधित सभी प्रकार की इंफॉर्मेशन से अपडेटेड होना चाहिए।
  • अपने काम के प्रति समर्पित होना चाहिए।

म्यूचुअल फंड में करियर स्कोप और जॉब – Career Scope and Job in Mutual Fund

अभी भी हमारे भारत देश में ऐसे कई लोग हैं, जो Mutual Fund के बारे में पूरी तरह से नहीं जानते हैं। हालांकि वह इसमें इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं। ऐसे में उन्हें एक उचित म्युचुअल फंड एजेंट की सलाह की आवश्यकता होती है। ऐसे में जो व्यक्ति म्यूचुअल फंड एजेंट है, उसके पास इस क्षेत्र में कैरियर की अपार संभावनाएं हैं।

Mutual Fund Agent बनने के बाद व्यक्ति चाहे तो अपना खुद का ऑफिस खोल कर भी काम कर सकता है या फिर किसी कंपनी अथवा इंस्टिट्यूट में म्यूचुअल फंड एजेंट अथवा म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर के पद पर काम कर सकता है और कमाई कर सकता है।

म्यूचुअल फंड एजेंट की सैलरी – Salary of Mutual Fund Agent

Mutual Fund Agent की सैलरी सामान्य तौर पर ₹15,000 से ₹20,000 की होती है, क्योंकि इनका मुख्य म्यूचुअल फंड को बेच करके कमीशन प्राप्त करना है। यह अपनी अधिकतम कमाई म्यूचुअल फंड की सेलिंग करके ही प्राप्त करते हैं।

म्यूच्यूअल फंड एजेंट कैसे बने? – How to Become a Mutual Fund Agent?

अगर आप म्यूचुअल फंड एजेंट बनकर अच्छी खासी इनकम करना चाहते हैं तो आपको इस दिशा में अपने कदम आगे बढ़ने से पहले इसके बारे में पूरी जानकारी इकट्ठा कर लेनी चाहिए कि आखिरी म्युचुअल फंड एजेंट बनने के लिए आपको करना क्या पड़ेगा और इसके लिए आपको अपने अंदर कौन सी योग्यताओं को लाना पड़ेगा। नीचे हम आपको म्युचुअल फंड एजेंट बनने की पूरी प्रोसेस के बारे में इंफॉर्मेशन दे रहे हैं।

1. अपने आप को NISM Series V-A के लिए रजिस्टर कराएं

जो लोग म्यूचुअल फंड एजेंट बनना चाहते हैं, उन्हें सबसे पहले अपने आपको NISM Series V-A परीक्षा के लिए रजिस्टर करवाना होगा। इस परीक्षा का आयोजन नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सिक्योरिटी मार्केट के द्वारा अलग-अलग राज्यों में 150 से भी अधिक सिटी में करवाया जाता है।

यह एक सर्टिफिकेशन परीक्षा होती है। इसके लिए अभ्यर्थियों को 1500 की फीस भरनी पड़ती है। इस परीक्षा के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सिक्योरिटी की ऑफिशल वेबसाइट पर नोटिफिकेशन जारी की जाती है, जहां पर दिए गए लिंक से व्यक्ति अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकता है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के बाद परीक्षा से संबंधित सभी प्रकार की इंफॉर्मेशन अभ्यर्थी के द्वारा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के समय दिए गए ईमेल आईडी पर भेजी जाती है।

2. NISM Series V-A Exam को क्लियर करें

NISM Series V-A Exam में सामान्य तौर पर उम्मीदवार से 100 सवाल पूछे जाते हैं जिनके पूरे अंक 100 होते हैं। अभ्यर्थी को इस एग्जाम को पास करने या फिर म्युचुअल फंड एजेंट बनने के लिए कम से कम 50% अंक लाने की जरूरत होती है। अभ्यर्थी को इस परीक्षा को देने के लिए टोटल 2 घंटे का समय कमेटी की तरफ से दिया जाता है।

परीक्षा को क्लियर कर लेने के बाद जो सर्टिफिकेट उम्मीदवारों को मिलता है, वह 3 साल के लिए वैलिड होता है। उस सर्टिफिकेट को रिन्यू कराने के लिए अभ्यर्थी को सर्टिफिकेट की एक्सपायरी डेट से पहले फिर से संबंधित एग्जाम को क्लियर करने की आवश्यकता होती है।

3. म्यूचुअल फंड एसोसिएशन से ARN प्राप्त करें

NISM Exam को पास कर लेने और सर्टिफिकेट प्राप्त कर लेने के बाद Mutual Fund Agent बनने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति को अपने आपको म्युचुअल फंड एसोसिएशन में रजिस्टर करवाना पड़ता है। इंडिया में म्यूचुअल फंड एसोसिएशन में रजिस्टर्ड एजेंट ही म्युचुअल फंड बेचने के लिए अधिकृत होते हैं। इसी के कारण एसोसिएशन ऑफ म्यूच्यूअल फंड इन इंडिया द्वारा हर रजिस्टर्ड म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर या फिर म्युचुअल फंड एजेंट को ARN Number दिया जाता है।

4. म्यूचुअल फंड हाउस से एग्रीमेंट करना

ARN Number को प्राप्त कर लेने के बाद व्यक्ति एक रजिस्टर म्यूचुअल फंड एजेंट तो बन जाता है, परंतु उसके पास कस्टमर को सेल करने के लिए खुद का प्रोडक्ट नहीं होता है। ऐसी अवस्था में उसका अगला कदम किसी म्युचुअल फंड हाउस या फिर ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी के साथ एग्रीमेंट करने का होता है। हमारे देश में एक नहीं बल्कि ऐसे कई म्युचुअल फंड हाउस है जिसके साथ Mutual Fund Agent एग्रीमेंट कर सकता है। म्यूच्यूअल फंड एजेंट को ऐसी किसी कंपनी के साथ ही एग्रीमेंट करना चाहिए जिस पर उसे यह विश्वास हो कि वह ज्यादा से ज्यादा फंड बेच सकेगा, क्योंकि एजेंट जितने ज्यादा फंड बेचेगा, उसकी कमाई भी उतनी ही ज्यादा ही होगी।

म्यूचुअल फंड एजेंट को फंड हाउस के द्वारा एग्रीमेंट के मुताबिक ही म्युचुअल फंड की सेलिंग करने पर कमीशन का अमाउंट दिया जाता है। इसके अलावा बढ़िया परफॉर्मेंस होने पर म्युचुअल फंड हाउस के द्वारा म्युचुअल फंड एजेंट अथवा म्युचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर को समय-समय पर बोनस भी दिया जाता है।

5. म्यूच्यूअल फंड एजेंट बनकर कमाई

जब व्यक्ति म्युचुअल फंड एजेंट अथवा म्युचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर बन जाता है, तो उसे म्यूच्यूअल फंड बेचने के लिए काफी परिश्रम करने की जरूरत होती है। कहने का मतलब यह है कि सिर्फ Mutual Fund Agent बन जाना ही कमाई के हिसाब से सही नहीं है, बल्कि इनकम करने के लिए एजेंट को ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्ट को सेल करने की जरूरत होती है।

क्योंकि जब म्यूच्यूअल फंड एजेंट ज्यादा से ज्यादा म्यूचुअल फंड की सेलिंग करेगा तो उसे ज्यादा कमीशन की प्राप्ति होगी, जिसके कारण उसकी इनकम में वृद्धि होगी। म्यूचुअल फंड एजेंट चाहे तो इस काम को पार्ट टाइम कर सकता है या फिर फुल टाइम कर सकता है, परंतु उसकी कमाई तभी होगी जब म्युचुअल फंड एजेंट म्यूचुअल फंड बेच पाने में सक्सेस होगा।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Mutual Fund Agent Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में Mutual Fund Agent Kaise Bane (How To Become Mutual Fund Agent In Hindi) और म्यूच्यूअल फंड एजेंट कैसे बने? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Mutual Fund Agent Kon Hota Hai बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

About Ainain

Mutual Fund Agentमैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.