आंगनवाड़ी योजना क्या होता है? Anganwadi Worker कैसे बने? जानिए Anganwadi Teacher बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे आंगनवाड़ी कार्यकर्ता कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become Anganwadi Worker In Hindi) के बारे में क्यों की क्या आप जानते हैं भारत में 6 वर्ष की आयु तक के बच्चों के लिए आंगनवाड़ी योजना बनाई गई है? इस योजना के तहत बच्चों को बहुत से लाभ प्राप्त होते हैं। बच्चों के साथ-साथ उनकी मां को भी बहुत सी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है। यदि आप इस योजना के बारे में नहीं जानते हैं तो हम इस लेख में आंगनवाड़ी योजना के बारे में ही बात करने वाले हैं।

आज के इस आर्टिकल में जानेंगे कि आंगनवाड़ी क्या होता हैं, आंगनवाड़ी के कार्य, आंगनवाड़ी Worker कैसे बनते है, Anganwadi Worker बनने के लिए Qualifications, Anganwadi Worker के लिए Skills, Anganwadi Worker की Career, Anganwadi Worker की Salary, आंगनवाड़ी योजना, आंगनवाड़ी केन्द्र, meaning of anganwadi in hindi आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

आंगनवाड़ी क्या होता है? – What is Anganwadi Information in Hindi

विषय-सूची

Anganwadi Information in Hindi
Anganwadi Information in Hindi

आंगनवाड़ी योजना के तहत प्रत्येक गांव के 6 वर्ष तक के बच्चों को सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है। यह सुविधाएं शिक्षा, पौष्टिक आहार, स्वास्थ्य, टीका करण, इत्यादि होती हैं। 6 वर्ष तक के बच्चों के साथ-साथ गर्भवती महिलाओं तथा इन बच्चों की माताओं को भी बहुत सी सुविधाएं दी जाती है।

इन सुविधाओं के नाम मात्र पैसे लिए जाते हैं। यह योजना लगभग भारत के हर एक गांव में है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य यही है कि 6 साल तक के बच्चों को हर तरह की सुविधा का लाभ दिया जाए तथा कोई भी बच्चा कुपोषण का शिकार ना हो।

आंगनबाड़ी योजना कब शुरू हुई? – When did the Anganwadi Scheme Start?

बच्चों में बढ़ते हुए कुपोषण को देखकर आंगनवाड़ी योजना शुरू की गई थी। इस योजना को 1975 में भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया था। 1975 से लेकर इस योजना के तहत बहुत से बच्चों तथा उनकी माताओं ने जरूरी सुविधाओं का लाभ उठाया है।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का काम और जिम्मेदारियां – Anganwadi worker work and responsibilities

आंगनवाड़ी में निम्नलिखित सेवाएं बच्चों तथा उनकी माताओं को उपलब्ध कराई जाती है:

  • 6 वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए टीका करण कराना तथा उन्हें पोषक आहार उपलब्ध कराना।
  • गर्भवती महिलाओं को प्रसव के समय तक टीका करण उपलब्ध कराना।
  • नवजात बच्चों की माताओं तथा उनकी देखभाल करने वाली औरतों को पोषक आहार देना।
  • किसी कुपोषित बच्चे को उचित स्वास्थ्य प्रदान करना तथा उन्हें केंद्र अस्पताल भेजना।
  • 15 से 45 वर्ष के बीच की महिलाओं को स्वास्थ्य शिक्षा का ज्ञान देना।
  • बच्चों तथा गर्भवती महिलाओं को समय-समय पर टीका करण की जानकारी देना भी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की जिम्मेवारी है।
  • 6 वर्ष तक के बच्चों के लिए अनौपचारिक पढ़ाई की सुविधा देना।
  • नवजात तथा 6 वर्ष तक के बच्चों की देखभाल करना।
  • 6 वर्ष तक के बच्चों को एक स्वस्थ वातावरण देना।
  • बच्चों के खान-पान तथा पानी पीने का ध्यान भी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को रखना पड़ता है।
  • बच्चों का मल मूत्र भी कार्यकर्ताओं को ही साफ करना पड़ता है।
  • बच्चों तथा माताओं के लिए जो भी सामान आता है उसे घर-घर तक पहुंचाना भी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का भी फर्ज होता है।

आंगनवाड़ी केंद्र में क्या होता है? – What happens at Anganwadi Center?

प्रत्येक गांव में एक आंगनवाड़ी केंद्र होता है। लगभग 400 से 800 लोगों की जनसंख्या के लिए एक आंगनवाड़ी केंद्र बनाया जाता है। इस केंद्र में 6 साल तक के बच्चों तथा उनकी माताओं को जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है। आंगनवाड़ी केंद्र में ही बच्चों की देखभाल की जाती है तथा सुविधाओं के लिए जो भी सामान आता है वह आंगनवाड़ी केंद्र में ही आता है। उसके बाद आंगनवाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर उस सामान को बांटती है। यदि किसी 6 वर्ष तक के बच्चे की मां duty पर जाती है तो वह अपने बच्चे को निश्चिंत होकर आंगनवाड़ी केंद्र में छोड़ सकती है। आंगनवाड़ी केंद्र एक छोटे स्कूल की तरह ही होता है जहां पर इन बच्चों को शिक्षा भी प्रदान कराई जाती है।

आंगनवाड़ी केंद्रों की देखरेख कौन करता है? – Who Oversees Anganwadi Centers?

Anganwadi Centers Information in Hindi
Anganwadi Centers Information in Hindi

प्रत्येक आंगनवाड़ी केंद्र में कुछ कार्यकर्ता रखे जाते हैं। वही कार्यकर्ता आंगनवाड़ी केंद्र की देखरेख करते हैं। यदि किसी आंगनवाड़ी केंद्र में अधिक कार्यकर्ता होते हैं तो, एक कार्यकर्ता को मुख्य सेविका के तौर पर नियुक्त किया जाता है। सभी कार्यकर्ता उसी के अनुसार कार्य करते हैं। इसलिए आंगनवाड़ी केंद्र की देखरेख कार्यकर्ताओं द्वारा की जाती है। रात को पहरा देने के लिए चौकीदारों को भी नियुक्त किया जाता है।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का चयन कैसे किया जाता है? – How is an Anganwadi worker selected?

पहले आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को ग्रामीण स्तर पर पंच तथा सरपंचों द्वारा चुना जाता था। परंतु अब राज्य सरकारों ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए नियमों में बदलाव कर दिया है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता चुनने की पूरी प्रक्रिया को नीचे दिए गए बिंदुओं में बताया गया है:

1. आंगनवाड़ी कार्यकर्ता चुनने की सबसे पहली शर्त यह है कि केवल वही लोग कार्यकर्ता बनने के लिए apply कर सकते हैं जो दसवीं पास है।  इसके पहले आठवीं पास भी apply कर सकते थे। परंतु अब सरकार ने नियमों में बदलाव कर दिया है।

2. अब आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की सरपंच द्वारा direct नियुक्ति नहीं की जाएगी। परंतु अब apply करने वाले प्रत्येक candidate को विभिन्न criteria पर कुछ अंक दिए जाएंगे। अंत में उसी candidate को कार्यकर्ता नियुक्त किया जाएगा जिसके पास कुल 25 पॉइंट होंगे। पॉइंट देने के criteria निम्नलिखित बिंदुओं में दर्शाए गए हैं:

3. 25 में से 10 अंक शैक्षणिक स्तर पर दिए जाएंगे। 10 में से 7 अंक राज्य सरकार द्वारा निर्धारित योग्यताओं के अनुसार दिए जाएंगे।

4. स्नातक उत्तीर्ण candidate को 2 अंक दिए जाएंगे। यदि वह candidate स्नातकोत्तर उत्तीर्ण भी है तो उसे एक और अंक दिया जाएगा।

5. यदि apply करने वाले candidate को पहले से ही बाल सेविका, शिक्षिका, टेलर, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता जैसी चीजों का 10 माह तक का अनुभव है तो उसे 3 अंक दिए जाएंगे।

6. यदि कोई candidate वृद्ध आश्रम तथा बालिका आश्रम में रहती है। या फिर वह तलाक शुदा है और अपने पति से 7 साल से अलग रह रही है तो उसे 3 अंक मिलेंगे।

7. 40% से अधिक विकलांग candidate को 2 अंक दिए जाते हैं।

8. पिछड़ी हुई जातियों से संबंध रखने वाले candidates को 2 अंक दिए जाते हैं।

9. तीन अंक व्यक्तिगत साक्षात्कार candidate को मिलेंगे।

10. मिले गए अंकों के आधार पर एक merit लिस्ट बनाई जाती है। इस लिस्ट में जो भी candidates top पर होते हैं उन्हें आंगनवाड़ी कार्यकर्ता नियुक्त कर दिया जाता है। कार्यकर्ताओं की संख्या जरूरत के अनुसार तय की जाती है।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने की योग्यता – Qualification to become an Anganwadi worker

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए एक ही योग्यता निर्धारित की गई है वह है candidate का 10वीं पास होना। यदि कोई व्यक्ति दसवीं पास नहीं है तो वह आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए apply नहीं कर सकता है।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का वेतन – Anganwadi worker salary

प्रत्येक राज्य की आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को लगभग एक जैसी salary ही दी जाती है। Salary में 100-200 रुपये का फर्क हो सकता है। परंतु सभी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को 4000 से 5000 के बीच सैलरी दी जाती है। यदि आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की average salary निकाली जाए तो वह है 4500 प्रति माह।

आंगनवाड़ी शिक्षक बनने के लिए कौशल – Skills to become an Anganwadi teacher

  • आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए आपको बच्चों की देखरेख करना आना चाहिए।
  • कार्यकर्ताओं को पौष्टिक आहार और टीका करण के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए।
  • सामान बांटने के लिए कार्यकर्ताओं को घर-घर जाना पड़ता है। इसलिए आपकी communication skills अच्छी होनी चाहिए।
  • कार्यकर्ता बनने के लिए आपको नवजात बच्चे की देखभाल करना आना चाहिए।
  • 6 वर्ष से कम आयु के बच्चों को पढ़ाने के लिए आपको पढ़ाई लिखाई भी आनी चाहिए।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के रूप में कैरियर का दायरा – Career Scope as Anganwadi Worker

यदि आप एक बेसहारा औरत है तो आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की नौकरी आपके लिए सबसे अच्छी रहेगी। इस नौकरी के तहत आपको अपनी दैनिक जिंदगी चलाने के लिए अच्छी खासी सैलरी दी जाएगी। इस नौकरी की सबसे अच्छी बात यह है कि इसके लिए ज्यादा पढ़े लिखे होने की जरूरत नहीं है। दसवीं पास लोग भी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसलिए यदि आप आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बन जाते हैं तो जब तक आप काम करना चाहेंगे एक निर्धारित सैलरी आपको हर महीने मिलती रहेगी। दसवीं पास लोगों के लिए यह नौकरी बहुत अच्छा करियर scope है।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को बढ़ावा देना – Promotion of Anganwadi workers

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की प्रमोशन भी होती है। किसी भी कार्यकर्ताओं को शुरुआत में peon की तरह काम करना पड़ता है। यानी कि उन्हें बच्चे का मल मूत्र साफ करना पड़ता है तथा केंद्र की साफ सफाई का ध्यान रखना पड़ता है। परंतु प्रमोशन होने पर वह एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बन जाती है। कार्यकर्ता बनने के बाद उसका काम सिर्फ और सिर्फ लोगों को जानकारी देना तथा सामान बांटना होता है। यदि उसकी फिर से प्रमोशन हो जाती है तो वह आंगनवाड़ी teacher के तौर पर नियुक्त हो जाती है। यानी कि उसका काम सिर्फ और सिर्फ बच्चों को पढ़ाना ही रह जाता है।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Anganwadi Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में आंगनवाड़ी क्या होता है? (What Is Anganwadi information In Hindi) और आंगनवाड़ी शिक्षक कैसे बने? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Anganwadi worker Kaise Bane बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

Leave a Comment