पुलिस कमिश्नर क्या होता है? Police Commissioner कैसे बने? जानिए Police Commissioner बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे पुलिस कमिश्नर (Police Commissioner) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become Police Commissioner In Hindi) के बारे में क्योंकि पुलिस विभाग में अनेकों छोटे और बड़े पद होते हैं। पुलिस डिपार्टमेंट में कांस्टेबल, सब इंस्पेक्टर, SO, SHO यह सभी छोटे पद माने जाते हैं और इनसे बड़े पद DSP, डीजीपी आईजी के माने जाते हैं। पुलिस डिपार्टमेंट में ही आना वाले कमिश्नर का पद भी एक बहुत बड़ा पद माना जाता है। जो भी व्यक्ति पुलिस कमिश्नर होता है उसके पास बहुत सारी गवर्नमेंट पावर होती है,

जिसका इस्तेमाल करके वह राज्य में कानून व्यवस्था का सही ढंग से पालन करवाने का काम करता है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Police Commissioner Kaise Bane, पुलिस कमिश्नर बनने के लिए क्या करे, Police Commissioner Meaning In Hindi, Police Commissioner Kya Hota Hai, पुलिस कमिश्नर बनने का तरीका, Police Commissioner Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

पुलिस कमिश्नर कैसे बने? – How to Become Police Commissioner Information in Hindi?

विषय-सूची

Police Commissioner Kaise Bane
Police Commissioner Kaise Bane

पुलिस कमिश्नर की सैलरी काफी अच्छी होती है और इन्हें काफी ज्यादा पावर गवर्नमेंट की तरफ से प्राप्त होती है, इसीलिए कई लोग पुलिस कमिश्नर बनने के बारे में सोचते हैं, परंतु हम आपको बता दें कि पुलिस कमिश्नर बनना इतना आसान नहीं है, क्योंकि यह एक हाई पोस्ट, इंडियन पुलिस डिपार्टमेंट में होती है। इसलिए आपको इसके लिए काफी मेहनत के साथ और हार्ड स्टडी करके अपनी प्रिपरेशन करनी होती है।

पुलिस कमिश्नर बनने के लिए क्या करें? – What to do to become Police Commissioner?

पुलिस कमिश्नर बनने के लिए आपको सिविल सर्विस एग्जाम को देना पड़ता है और उसे क्वालीफाई करना पड़ता है। इसके बाद ही आप पुलिस कमिश्नर बन सकते हैं और यह बात तो आप जानते ही हैं कि, सिविल सर्विस एग्जाम को पास करना कितना ज्यादा कठिन होता है। हर साल लाखों विद्यार्थी सिविल सर्विस एग्जाम को देते हैं, परंतु उसमें से कुछ ही इस एग्जाम को पास करने में सफलता हासिल करते हैं। चलिए आगे जानते हैं कि पुलिस कमिश्नर कैसे बने और पुलिस कमिश्नर बनने के लिए क्या-क्या करना पड़ता है।

पुलिस कमिश्नर बनने के लिए योग्यता – Eligibility to become Police Commissioner

ऐसे अभ्यर्थी, जो पुलिस डिपार्टमेंट में पुलिस कमिश्नर बनना चाहते हैं या फिर पुलिस कमिश्नर की पोस्ट प्राप्त करना चाहते हैं, उन्हें पुलिस कमीशनर बनने के लिए इंडिया के किसी भी सर्टिफाइड कॉलेज से किसी भी कोर्स में ग्रेजुएशन की डिग्री को प्राप्त करना जरूरी है। ग्रेजुएट लोग ही पुलिस कमिश्नर बनने के लिए सिविल सर्विस एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

पुलिस कमिश्नर बनने के लिए उम्र सीमा – Age Limit to Become Police Commissioner

अलग-अलग समुदाय के अभ्यर्थियों के लिए गवर्नमेंट की तरफ से पुलिस कमिश्नर बनने के लिए अलग-अलग एज लिमिट तय की गई है। इसकी जानकारी इस प्रकार है

  • जनरल समुदाय: कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 32 साल
  • ओबीसी समुदाय: कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 35 साल
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति समुदाय: कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक से अधिक 37 साल

पुलिस कमिश्नर बनने के लिए शारीरिक योग्यता – Physical Eligibility to become Police Commissioner

पुलिस कमिश्नर का पद प्राप्त करने के लिए पुरुष अभ्यर्थियों की लंबाई 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए और छाती फुलाने पर उनकी छाती 85 सेंटीमीटर तक होनी चाहिए। ऐसी महिलाएं जो पुलिस कमिश्नर बनना चाहती हैं उनकी लंबाई पुलिस कमिश्नर बनने के लिए कम से कम 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए।

पुलिस कमिश्नर बनने के लिए कितनी बार कोशिश कर सकते हैं?

जिस प्रकार पुलिस कमीशनर बनने के लिए अलग-अलग वर्गों के लिए अलग-अलग उम्र सीमा तय की गई है, उसी प्रकार अलग-अलग वर्गों के लिए अधिकतम प्रयास की सीमा भी तय की गई है, जो इस प्रकार है।

  • सामान्य वर्ग के अभ्यर्थी: सामान्य वर्ग के अभ्यर्थी अधिक से अधिक 6 बार कोशिश कर सकते हैं।
  • ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थी: ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थी ज्यादा से ज्यादा 9 बार कोशिश कर सकते हैं।
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के अभ्यर्थी: इनके लिए किसी भी प्रकार की अधिकतम प्रयास की सीमा तय नहीं की गई है।

पुलिस कमिश्नर बनने की प्रक्रिया – Process to Become Police Commissioner

आपकी इंफॉर्मेशन के लिए यह बता दें कि, पुलिस कमिश्नर बनने के लिए आपको यूपीएससी यानी की यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा करवाई जाने वाली सिविल सर्विस एग्जाम/आईएएस के एग्जाम में शामिल होना पड़ता है और इस एग्जाम को पास करने के बाद ही आपको आगे चलकर के पुलिस कमिश्नर बनने का मौका प्राप्त होता है। पुलिस कमिश्नर बनने के लिए आपको यूपीएससी के द्वारा करवाए जाने वाले एग्जाम में शामिल होना पड़ता है, जिस एग्जाम को टोटल 3 चरणों में बांटा गया है, जो इस प्रकार है‌

  1. प्रारम्भिक परीक्षा
  2. मुख्य परीक्षा
  3. साक्षात्कार

1. प्रारम्भिक परीक्षा

पुलिस कमिश्नर बनने का अपना सपना पूरा करने के लिए सबसे पहले आपको यूपीएससी के द्वारा करवाई जाने वाली प्रारंभिक एग्जाम में शामिल होना पड़ता है। इस एग्जाम के अंदर आपको 2 क्वेश्चन पेपर देने पड़ते हैं जिसके टोटल अंक 200-200 होते हैं। इसमें पहला क्वेश्चन पेपर जनरल स्टडी यानी कि सामान्य अध्ययन का होता है और इसमें सभी क्वेश्चन ऑब्जेक्टिव प्रकार के होते हैं।

इस क्वेश्चन पेपर को पास करने के लिए कम से कम 33 पर्सेंट अंक आपको लाना जरूरी होता है‌। इसका दूसरा क्वेश्चन पेपर सिविल सर्विस एप्टिट्यूड टेस्ट का होता है और पहले पेपर की तरह इसमें भी ऑब्जेक्टिव टाइप के क्वेश्चन होते हैं‌। यूपीएससी के द्वारा इस एग्जाम का आयोजन हर साल जून के महीने में करवाया जाता है।

2. मुख्य परीक्षा

ऐसे अभ्यर्थी जो कमिश्नर बनने की प्रारंभिक एग्जाम को पास कर लेते हैं, उन्हें आगे के चरण में इसकी मुख्य एग्जाम में शामिल होने का मौका मिलता है। इस एग्जाम में अभ्यर्थियों को टोटल 9 क्वेश्चन पेपर देने होते हैं, जिसमें से हर क्वेश्चन पेपर को देने के लिए परीक्षा कमेटी की तरफ से अभ्यर्थी को 3 घंटे का टाइम दिया जाता है। इन सभी 9 क्वेश्चन पेपर के कुल अंक 1750 होता है। यूपीएससी के द्वारा कमीशनर बनने के लिए मुख्य परीक्षा का आयोजन हर साल अक्टूबर के महीने में होता है।

3. इंटरव्यू

यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) के द्वारा करवाई जाने वाली सिविल सर्विस एग्जाम की प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा को पास कर चुके अभ्यर्थियों को तीसरे चरण में इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। जितना मुश्किल सिविल सर्विस की एग्जाम होती है, उतना ही मुश्किल इसके इंटरव्यू को भी माना जाता है, क्योंकि यहां पर अभ्यर्थियों का सामना कुछ ऐसे हाईली एजुकेटेड लोगों से होता है।

जो अभ्यर्थी से सामान्य सवाल को कुछ इस प्रकार से घुमा फिरा कर पूछते हैं कि अभ्यर्थी उसका जवाब देने में कंफ्यूज हो जाता है। इसलिए यहां पर आपको संयम और धैर्य के साथ इंटरव्यू पैनललिस्ट के क्वेश्चन को सुनना है और अपने बुद्धि और विवेक के अनुसार उनका जवाब देना है। यह इंटरव्यू टोटल 275 मार्क का होता है। इसीलिए इंटरव्यू की प्रिपरेशन पहले से ही करके जाएं।

पुलिस कमिश्नर का प्रशिक्षण – Training of Police Commissioner

जब आप यूपीएससी के द्वारा करवाई जाने वाली सिविल सर्विस एग्जाम की प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू को पास कर लेते हैं तो आपका सिलेक्शन हो जाता है। इसके बाद आपको डायरेक्ट पुलिस कमिश्नर की जॉब नहीं दी जाती है, बल्कि पुलिस कमिश्नर के पद पर पोस्टिंग देने से पहले आपको ट्रेनिंग दी जाती है।

यह ट्रेनिंग इंडिया के किसी भी पुलिस ट्रेनिंग अकैडमी में आपको लेनी होती है। सामान्य तौर पर यह ट्रेनिंग 6 महीने से लेकर 1 साल तक चलती है और जब आप अपनी ट्रेनिंग कंप्लीट करते हैं, तो आपको आपकी ट्रेनिंग की सैलरी भी दी जाती है और ट्रेनिंग पूरी करने के बाद ही आपको पुलिस कमिश्नर के पद पर पोस्टिंग दी जाती है।

पुलिस कमिश्नर बनने के लिए क्या करना पड़ता है? – What does it to become Police Commissioner?

नीचे हम आपको पुलिस कमीशनर बनने के लिए अपने कदम आगे कैसे बढ़ाने हैं, इसकी जानकारी आसान भाषा में बता रहे हैं, ताकि आपको यह समझ में आ जाए कि पुलिस कमिश्नर बनने के लिए आपको क्या-क्या करना पड़ेगा।

1. ग्रेजुएशन पूरी करें

पुलिस डिपार्टमेंट में पुलिस कमिश्नर की पोस्ट एक ऊंची पोस्ट मानी जाती है। इसलिए इस पोस्ट को प्राप्त करने के लिए गवर्नमेंट की तरफ से ग्रैजुएट लोगों को ही अप्लाई करने के लिए Approval दिया गया है। इसीलिए आपको सबसे पहले तो अपनी ग्रेजुएशन किसी भी कोर्स से पूरी करें।

2. सिविल सर्विस एग्जाम के लिए अप्लाई करें

अपनी ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद आपको तब तक इंतजार करना है जब तक यूपीएससी के द्वारा सिविल सर्विस एग्जाम का नोटिफिकेशन जारी नहीं होता है। जैसे ही नोटिफिकेशन जारी होता है वैसे ही आपको सिविल सर्विस एग्जाम में अप्लाई करना है। आमतौर पर यह नोटिफिकेशन जनवरी या फिर फरवरी के महीने में जारी किया जाता है।

3. सिविल सर्विस एग्जाम को पास करें

सिविल सर्विस एग्जाम के लिए अप्लाई करने के बाद यूपीएससी के द्वारा एक निश्चित दिन पर सिविल सर्विस एग्जाम का आयोजन किया जाता है, जिसमें आपको शामिल होना पड़ता है और इसकी प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा को पास करना पड़ता है।

4. इंटरव्यू निकालें

सिविल सर्विस एग्जाम की प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा को पास करने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। कमीशनर बनने के लिए आपको इंटरव्यू के राउंड को पास करना आवश्यक होता है। इसीलिए इसकी तैयारी अच्छे से करके जाएं।

5. ट्रेनिंग पर जाएं

इंटरव्यू को पास करने के बाद आपका सिलेक्शन हो जाता है। इसके बाद आपको ट्रेनिंग के लिए इंडिया के किसी भी पुलिस ट्रेनिंग एकेडमी में भेज दिया जाता है, जहां पर आप की ट्रेनिंग 6 महीना या फिर 1 साल तक चलती है और ट्रेनिंग पूरी होने के बाद आपको पुलिस कमिश्नर की पोस्ट प्रदान की जाती है। इस प्रकार आपका पुलिस कमिश्नर बनने का सपना साकार हो जाता है।

पुलिस कमिश्नर का वेतन – Salary of Police Commissioner

पुलिस डिपार्टमेंट में पुलिस कमिश्नर का पोस्ट काफी ऊंचा पोस्ट माना जाता है। इसलिए यह जाहिर सी बात है कि इन्हें अच्छी सैलरी भी प्राप्त होती होगी। इंडिया में पुलिस कमिश्नर को तकरीबन ₹80,000 से लेकर ₹1,10,000 तक की सैलरी महीने में प्राप्त होती है। इसके अलावा भी गवर्नमेंट की तरफ से पुलिस कमिश्नर को कई सुविधाएं दी जाती है।

निष्कर्ष

आशा है आपको Police Commissioner Details In Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में Police Commissioner Kaise Bane (How To Become Police Commissioner In Hindi) और पुलिस कमिश्नर कैसे बने? अगर इस बारे में आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को Police Commissioner Kya Hota Hai के बारे में जानकारी मिल सके।

About Ainain

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.