ओलंपिक खेल क्या होते हैं? जानिए Olympic Games से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे ओलंपिक खेल क्या होते हैं (Olympic Khel Kya Hote hai in Hindi), के बारे में पूरी जानकारी। ओलंपिक खेल में जाना और मेडल हासिल करना किसी भी देश के खिलाड़ी के लिए काफी गौरव की बात होती है परंतु ऐसा करना आसान बात नहीं होती है। ओलंपिक खेल में जाने के लिए खिलाड़ी सालों साल मेहनत करते हैं और सिलेक्शन पाने के बाद यह उस देश में जाते हैं जहां पर ओलंपिक खेल का आयोजन होता है। ओलंपिक स्पोर्ट्स में तमाम प्रकार के खेलों को शामिल किया गया है और इस खेल में शामिल होने के लिए दुनिया के अलग-अलग देशों से खिलाड़ी आते हैं।

इसमें पहले स्थान पर आने वाले व्यक्ति को गोल्ड मेडल अर्थात् स्वर्ण पदक, दूसरे स्थान पर आने वाले व्यक्ति को सिल्वर मेडल अर्थात् रजत पदक और तीसरे स्थान पर आने वाले व्यक्ति को ब्रोंज मेडल अर्थात् कांस्य पदक दिया जाता है। इस आर्टिकल में हम आपको ओलंपिक स्पोर्ट्स क्या है और ओलंपिक स्पोर्ट्स के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में दे रहे हैं। इसलिए ओलंपिक स्पोर्ट्स की सारी जानकारी के बारे में विस्तार से जानने के लिए, इस लेख को अंत तक पढ़े।

ओलंपिक खेल क्या होते हैं? – What are Olympic Games in Hindi?

Contents show
ओलंपिक खेल क्या होते हैं
ओलंपिक खेल क्या होते हैं

ओलंपिक इंटरनेशनल स्पोर्ट्स कंपटीशन होता है और इसमें अलग-अलग देशों के प्रतिभावान खिलाड़ी भाग लेते हैं। ओलंपिक स्पोर्ट्स में किसी भी खेल में मेडल जीतना खिलाड़ियों के लिए बहुत ही गौरव की बात होती है। ओलंपिक खेल का आयोजन अलग-अलग देशों में किया जाता है जिसमें अलग-अलग देशों के टैलेंटेड खिलाड़ी भाग लेते हैं और पदक जीतने का प्रयास करते हैं। 

देखा जाए तो ओलंपिक खेल का आयोजन 2 वर्ष के अंतराल में होता है परंतु अधिकतर इसका आयोजन गर्मियों के महीने में किया जाता है। ओलंपिक खेल को इसलिए आयोजित किया जाएगा ताकि हर देश की अपनी प्रतिभा और टैलेंट दिखाने का मौका मिले, साथ ही अलग-अलग देशों के आपस में संबंध मजबूत बने। ओलंपिक स्पोर्ट्स में दुनिया के तमाम खेलों को समाहित गया है और इसमें अधिकतर युवा वर्ग ही भाग लेता है।

ओलंपिक खेलों का संचालन किसके द्वारा किया जाता है? – Who organizes Olympic Games in Hindi?

इस खेल का आयोजन और खेल की पूरी जिम्मेदारी इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी संभालती है, जिसे हिंदी भाषा में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति कहा जाता है। इस कमेटी के ऊपर खेल से संबंधित तमाम प्रकार के नियम को बनाने का और उसका पालन करने का जिम्मा होता है, साथ ही यह इस बात को भी देखती है कि ओलंपिक गेम्स की लिस्ट में कौन-से गेम्स को शामिल करना है और कौन-से गेम को नहीं करना है। 

इसके अलावा यह इस बात का भी डिसीजन लेती है कि ओलंपिक गेम को कौन-से देश की कौन-सी सिटी में करवाना है। बता दें कि इस कमेटी की स्थापना 1894 में फ्रांस की राजधानी पेरिस में 23 जून को हुई थी परंतु वर्तमान में इसका हेड क्वार्टर स्विट्ज़रलैंड देश के लौसेन सिटी में स्थित है।

प्राचीन ओलंपिक खेलों का इतिहास क्या है? – What is the history of Ancient Olympic Games in Hindi?

प्राचीन ओलंपिक खेल की हिस्ट्री 2800 साल से भी अधिक पुरानी है, जिसके अनुसार पहली बार इसे ईसवी सन् 776 में यूनान देश में आयोजित किया गया था। यह आयोजन यूनान देश के देवता ज्यूस के सम्मान में किया गया था और ऐसा भी कहा जाता है कि उस टाइम सिर्फ लड़के ही इसमें पार्टिसिपेट कर सकते थे। इसके बाद ईसवी सन् 394 में इटली के रोम के सम्राट थियोडीसियस ने मूर्ति पूजा के त्यौहार को बता कर के इस पर बैन लगा दिया था।

ये भी पढ़े: शतरंज क्या होता है?

आधुनिक ओलंपिक खेलों का इतिहास क्या है? – What is the history of Modern Olympic Games in Hindi?

बैरोन पियरे डीकोबरटिन को मॉडर्न ओलंपिक का श्रेय दिया जाता है। इन्होंने ही साल 1894 में ओलंपिया स्टेडियम में दुनिया के अलग-अलग देशों के खिलाड़ियों को बुलाया था और एक मीटिंग रखी थी, जिसमें उन्होंने ओलंपिक खेल का आयोजन करवाने का प्रस्ताव रखा था। जिसे सभी खिलाड़ियों ने माना था और फिर 1896 में यूनान की राजधानी एथेंस में स्थित ओलंपिया स्टेडियम में खेल का आयोजन हुआ जिसका नाम ओलंपिक स्पोर्ट्स रखा गया।

इसके बाद सन् 1900 में फिर से ओलंपिक खेल का आयोजन हुआ परंतु इस बार जगह फ्रांस देश की राजधानी पेरिस थी। इस दूसरे राउंड में लड़कियों ने भी भाग लिया था। इसके बाद ओलंपिक खेल का तीसरा चरण सेंट लुई (1904) और चौथा चरण लंदन (1908) में हुआ।

समर ओलंपिक खेल क्या है? – What are Summer Olympic Games in Hindi?

समर ओलंपिक गेम को हिंदी भाषा में ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेल कहा जाता है, जिसका सीधा-सा अर्थ यही है कि जब गर्मी का मौसम आता है, तब इसका आयोजन होता है। इसकी स्टार्टिंग साल 1896 में ग्रीस देश की राजधानी एथेंस में हुई थी और अब इसका आयोजन 4 साल के अंतराल पर इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी के द्वारा दुनिया के अलग-अलग देशों की अलग-अलग सिटी में किया जाता है।

समर ओलंपिक खेल आयोजन की सूची – List of Summer Olympic Games organized in Hindi.

सालशहर, राज्यदेश
01.1896एथेंसयूनान (ग्रीस)
02.1900पेरिस, इले-डी-फ्रांसफ्रांस
03.1904सेंट लुइस, मिसौरीसंयुक्त राज्य
04.1908लंदन, इंग्लैंडग्रेट ब्रिटेन
05.1912स्टॉकहोमस्वीडन
06.1916बर्लिनजर्मनी (कैंसल्ड)
07.1920एंटवर्पबेल्जियम
08.1924पेरिस, इले-डी-फ्रांसफ्रांस
09.1928एम्सटर्डमनीदरलैंड्स
10.1932लॉस एंजिल्स, कैलिफोर्नियासंयुक्त राज्य
11.1936बर्लिनजर्मनी
12.1940टोक्यो सिटीजापान (कैंसल्ड)
13.1944लंदन,इंग्लैंडग्रेट ब्रिटेन (कैंसल्ड)
14.1948लंदन, इंग्लैंडग्रेट ब्रिटेन
15.1952हेल्सिंकीफिनलैंड
16.1956मेलबोर्न, विक्टोरियाऑस्ट्रेलिया
17.1960रोम, लाज़ियोइटली
18.1964टोक्यो सिटीजापान
19.1968मैक्सिको सिटीमैक्सिको
20.1972म्यूनिख, बवेरियाज़र्मनी
21.1976मॉन्ट्रियल, क्यूबेककनाडा
22.1980मास्कोरूस
23.1984लॉस एंजिल्स, कैलिफ़ोर्नियासंयुक्त राज्य
24.1988सियोलदक्षिण कोरिया
25.1992बार्सिलोना, कैटेलोनियास्पेन
26.1996एट्लान्टा, जॉर्जियासंयुक्त राज्य
27.2000सिडनी, न्यू साउथ वेल्सऑस्ट्रेलिया
28.2004एथेंसयूनान (ग्रीस)
29.2008बीजिंगचीन
30.2012लंदन, इंग्लैंडग्रेट ब्रिटेन
31.2016रियो डी जेनेरियोब्राज़ील
32.2021टोक्यो सिटीजापान
33.2024पेरिस, इले-डी-फ्रांसफ्रांस (आगामी प्रतियोगिता)

विंटर ओलंपिक खेल क्या है? – What are Winter Olympic Games in Hindi?

विंटर ओलंपिक गेम को हिंदी भाषा में शीतकालीन ओलंपिक खेल कहा जाता है। जिसका सीधा-सा मतलब है कि इसका आयोजन ठंडी के मौसम में होता है। सबसे पहली बार शीतकालीन ओलंपिक गेम का आयोजन इंटरनेशनल ओलंपिक कमिटी के द्वारा फ्रांस देश के पेरिस शहर में साल 1924 में किया गया था और इसके बाद विंटर ओलंपिक का आयोजन समर ओलंपिक के साथ साल 1992 तक हो रहा था परंतु साल 1992 के बाद में इन दोनों का आयोजन अलग-अलग जगह पर होने लगा। आपकी जानकारी के लिए हम यह भी बता दें कि शीतकालीन ओलंपिक खेल में ऐसे खेल ही खेले जाते हैं जो बर्फ से संबंधित होते हैं।

विंटर ओलंपिक खेल आयोजन की सूची – List of Winter Olympic Games Organized in Hindi.

सालशहर, राज्य देश
01.1924शैमॉनिक्स, औवेर्गने-रोन-आल्प्सफ्रांस
02.1928सेंट मोरित्ज़, ग्रिसन्सस्विट्ज़रलैंड
03.1932लेक प्लासिड, न्यूयॉर्कसंयुक्त राज्य
04.1936गार्मिश-पार्टेनकिर्चेन, बवेरियाज़र्मनी
1940साप्पोरो, होक्काइडोजापान (कैंसल्ड)
1944कॉर्टिना डी’एम्पेज़ो, वेनेटोइटली (कैंसल्ड)
05.1948सेंट मोरित्ज़, ग्रिसन्सस्विट्ज़रलैंड
06.1952ओस्लोनॉर्वे
07.1956कॉर्टिना डी’एम्पेज़ो, वेनेटोइटली
08.1960स्क्वॉ वैली, कैलिफ़ोर्नियासंयुक्त राज्य
09.1964इंसब्रुक, टायरॉलऑस्ट्रिया
10.1968ग्रेनोबल, औवेर्गने-रोन-आल्प्सफ्रांस
11.1972साप्पोरो, होक्काइडोजापान
12.1976इंसब्रुक, टायरॉलऑस्ट्रिया
13.1980लेक प्लासिड, न्यूयॉर्कसंयुक्त राज्य
14.1984साराजेवो, बोस्निया और हर्जेगोविनायूगोस्लाविया
15.1988कैलगरी, अलबर्टाकनाडा
16.1992अल्बर्टविल, औवेर्गने-रोन-आल्प्सफ्रांस
17.1994लिलेहैमर, इनलैंडनोर्वे
18.1998नागानो, नागानो प्रान्तजापान
19.2002साल्ट लेक सिटी, यूटाहसंयुक्त राज्य
20.2006ट्यूरिन, पीडमोंटेइटली
21.2010वैंकूवर, ब्रिटिश कोलंबियाकनाडा
22.2014सोची, क्रास्नोडार क्रेरूस
23.2018प्योंगचांग काउंटी, गंगवोन प्रांतदक्षिण कोरिया
24.2022यानकिंग, ज़ांगजिआकौ, बीजिंगचीन
25.2026मिलान, लोम्बार्डी और कॉर्टिना डी’एम्पेज़ो,
वेनेटो
इटली (आगामी प्रतियोगिता)

ये भी पढ़े: मोबाइल से पैसे कैसे कमाए?

भारत का ओलंपिक खेलों में इतिहास क्या है? – What is the history of Olympic Games in India in Hindi?

हमारे इंडिया ने विंटर ओलंपिक खेल के दूसरे राउंड में साल 1900 में फ्रांस देश के पेरिस शहर में आयोजित ओलंपिक में पार्टिसिपेट किया था। जिसमें इंडिया की तरफ से नॉर्मन गिलबर्ट प्रिटचार्ड नाम के खिलाड़ी ने 200 मीटर और 200 मीटर बाधा दौड़ में 2 सिल्वर मेडल हासिल किए थे। हमारे भारत देश ने इसके बाद अगले 20 साल तक किसी भी ओलंपिक गेम में पार्टिसिपेट नहीं किया था।

साल 1920 में बेल्जियम देश के एंटवर्प सिटी में आयोजित समर ओलंपिक में इंडिया ने पार्टिसिपेट किया परंतु इसमें इंडिया को एक भी मेडल नहीं मिला। हमारे इंडिया ने अभी तक ओलंपिक गेम में टोटल 28 मेडल जीते हैं जिसमें 9 गोल्ड मेडल, 7 सिल्वर मेडल और 12 ब्रॉन्ज मेडल शामिल है। हमारी इंडियन हॉकी टीम ने लगातार 8 गोल्ड मेडल हॉकी में साल 1928, 1932, 1936, 1948, 1952, 1956, 1964, 1980 तक हासिल कर लिए थे।

ओलंपिक के झंडे का इतिहास क्या है? – What is the history of Olympic Flag in Hindi?

ओलंपिक का जो झंडा होता है उसकी चौड़ाई और लंबाई का अनुपात 2:3 होता है और इसके बैकग्राउंड में सफेद रंग होता है। इसमें टोटल 5 रंग होते हैं, साथ ही 5 छल्ले भी होते हैं, जो कि आपस में जुड़े हुए होते हैं। झंडे का निर्माण सन 1913 में पियरे डी कोबरटिन ने किया था और साल 1914 में इसे पब्लिकली किया गया था और साल 1920 में बेल्जियम के समर ओलंपिक खेल में एंटवर्प सिटी में इसे लहराया गया था।

ओलंपिक खेलों का चिन्ह क्या है? – What is the symbol of Olympic Games in Hindi?

ओलंपिक के झंडे में 5 छल्ले होते हैं, जो आपस में कनेक्ट है, जोकि दुनिया में मौजूद पांच मुख्य महाद्वीप को प्रेजेंट करते हैं। इसमें नीला रंग – यूरोप, काले रंग का छल्ला – अफ्रीका, लाल रंग का छल्ला – अमेरिका, पीले रंग वाला छल्ला – एशिया और हरे कलर वाला छल्ला – ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप को प्रजेंट करता है।

ओलंपिक में कितने खेल होते हैं? – How many games are there in Olympic in Hindi?

  • एथलेटिक्स
  • आर्चरी
  • रेसलिंग
  • वेटलिफ्टिंग
  • शूटिंग
  • स्विमिंग
  • एक्रोबेटिक जीमनास्टिक्स
  • आर्टिस्टिक जीमनास्टिक्स
  • हॉकी
  • साइकिलिंग ट्रैक
  • वाटर पोलो
  • बॉक्सिंग
  • बैडमिंटन
  • बास्केटबॉल
  • फुटबॉल
  • डाइविंग
  • कैनु
  • सर्फिंग
  • बास्केटबॉल
  • टेनिस
  • आइस हॉकी
  • क्रॉस कंट्री स्कीइंग
  • फिगर स्केटिंग
  • लुग
  • फ्रीस्टाइल स्कीइंग
  • शोर्ट ट्रैक स्पीड स्केटिंग
  • बॉबस्ले
  • बायथलॉन
  • स्पीड स्केटिंग
  • अल्पाइन स्कीइंग
  • कर्लिंग
  • पैरालंपिक

ये भी पढ़े: फ्री में ब्लॉग कैसे बनाये और पैसे कैसे कमाए?

ओलंपिक खेल कितने वर्ष बाद आयोजित होते हैं? – After how many years Olympic Games are organized in Hindi?

ओलंपिक खेल क्या होते हैं 1

समर ओलंपिक का आयोजन 4 साल में एक बार किया जाता है और विंटर ओलंपिक का भी आयोजन 4 साल में एक बार होता है। समर ओलंपिक गर्मी के मौसम में होता है और विंटर ओलंपिक खेल का आयोजन ठंडी के मौसम में किया जाता है। इसके साथ ही आपको यह भी बता दें कि यूथ ओलंपिक और पैरालंपिक ओलंपिक के फॉर्मेट का भी आयोजन होता है।

ओलंपिक खेलों में कितने प्रकार के पदक होते हैं? – How many types of medals are there in Olympic Games in Hindi?

इसमें टोटल 3 पदक होते हैं, जिसे कि अंग्रेजी में मेडल कहा जाता है। जो खिलाड़ी पहले स्थान पर आता है उसे गोल्ड, जो दूसरे स्थान पर आता है उसे सिल्वर और तीसरे स्थान पर आने वाले खिलाड़ी को ब्रोंज मेडल दिया जाता है। गोल्ड का मतलब स्वर्ण, सिल्वर का मतलब रजत और ब्रॉन्ज का मतलब कांस्य होता है।

निष्कर्ष

आशा है आपको ओलंपिक खेल क्या होते हैं के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में ओलंपिक खेल क्या होते हैं (What are Olympic Games in Hindi) को लेकर आपका कोई सवाल है, तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो, तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को ओलंपिक खेल क्या होते हैं के बारे में जानकारी मिल सके।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा?

मैं supportingainain ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️ Contact us via Email - [email protected]

Leave a Comment