भारत विश्व गुरु क्या है? भारत विश्व गुरु कैसे और कब बनेगा? जानिए Bharat Vishwa Guru Kaise Banega से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे भारत को विश्वगुरु कैसे बनाएं पूरी जानकारी (How To Become Bharat Vishwa Guru In Hindi) के बारे में क्योंकि इंडिया, हिंदुस्तान, भारत, आर्यव्रत, यह सभी हमारे देश के ही नाम है और लोग हमें पूरी दुनिया में वर्तमान के समय में इंडियन अथवा भारतीय के नाम से जानते हैं। हमारा देश दुनिया का सबसे प्राचीन धर्म और संस्कृति वाला देश है। जिसे एक समय पर सोने की चिड़िया तथा विश्व गुरु कहा जाता था। हालांकि वर्तमान के समय में हमारा भारत देश अपने रास्ते से कहीं थोड़ा सा भटक गया है, क्योंकि जात पात, मत मजहब और वैश्विक खींचतान के कारण सभी देश अपने अपने हितों का ध्यान रखने लगे हैं जिसके कारण भारत को भी अब अपने हितों का ध्यान रखना चालू कर देना चाहिए।

भारत देश को विश्व का गुरु फिर से कैसे बनाया जाए अथवा भारत विश्व गुरु कैसे बने हमारे आर्टिकल का आज का मुद्दा यही है। तो आइए जानते है कि Bharat Vishwa Guru Kaise Banega, भारत विश्व गुरु बनने के लिए क्या करे, Bharat Vishwa Guru Meaning In Hindi, Bharat Vishwa Guru Kya Hota Hai, भारत विश्व गुरु बनने का तरीका, Bharat Vishwa Guru Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

भारत विश्व गुरु कैसे बने? – How to Make India Vishwa Guru Information in Hindi?

Bharat Vishwa Guru Kaise Banega.
Bharat Vishwa Guru Kaise Banega.

भारत में विभिन्न मत मजहब, संस्कृति, पहनावा, बोली, भाषा के लोग निवास करते हैं। मुख्य तौर पर देखा जाए तो हमारे भारत में चार प्रमुख धर्मों के लोग निवास करते हैं जो हैं हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई। इनमें से सबसे ज्यादा आबादी हिंदुओं की संख्या हमारे देश में निवास करती है। उसके बाद मुसलमानों की आबादी, सिख समुदाय की आबादी और उसके बाद क्रमश बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदाय की आबादी आती है।

इतनी बड़ी भिन्नता होने के बावजूद भी हमारा भारत देश पूरी दुनिया में लोकतांत्रिक देश के तौर पर जाना जाता है और यहां पर सभी लोग एक दूसरे के साथ प्यार से मिलकर रहते हैं, जो एक लोकतांत्रिक और खुशहाल देश के लिए काफी ज्यादा आवश्यक होता है।

भारत को विश्व गुरु बनने के लिए क्या करना चाहिए? –

सबसे पहली बात तो हम आपको बता दें कि हमारा देश दुनिया के किसी भी देश से किसी भी मामले में कम नहीं है, क्योंकि हम ही वह देश हैं जिन्होंने सबसे पहले दुनिया को 0 के बारे में जानकारी दी थी। इसके साथ ही भारत देश के ही लोगों ने दुनिया को अंकशास्त्र, गणित शास्त्र, ज्योतिष शास्त्र, रसायन विद्या, शल्य चिकित्सा, गुरुत्वाकर्षण बल जैसी बातों के बारे में भी जानकारी दी थी। फिलहाल आइए हम चर्चा करते हैं कि भारत को विश्व गुरु कैसे बनाया जाए अथवा हमारा भारत विश्व गुरु कैसे बने।

1. नई एजुकेशन नीति को लागू किया जाए

हमारा भारत जब से आजाद हुआ है तब से ही अंग्रेजो के द्वारा बनाई गई शिक्षा नीति का पालन किया जा रहा है। हालांकि अंग्रेजों की बनाए गए सभी शिक्षा नीति का पालन तो नहीं किया जा रहा है फिर भी अंग्रेजों ने भारत में फूट डालो और राज करो की जो नीति उनके समय में अपनाई थी उनमें से कुछ नीतीया अभी भी चली आ रही है। हमारे भारत की हिस्ट्री में अभी भी इतिहास के महापुरुषों को उचित सम्मान नहीं मिल पाया है, जिसके कारण भारत के युवा वर्ग गलत हिस्ट्री पढ़ने के लिए मजबूर हैं और वह गलत हिस्ट्री पढ़ कर के अपने भारतीय होने पर शर्मिंदा होते हैं, जो कि बिल्कुल ही गलत है।

इसलिए वर्तमान के समय में भारत की केंद्र सरकार को एक नई शिक्षा नीति को लागू करना चाहिए, जिसमें भारतीय महापुरुषों को उनका उचित सम्मान देना चाहिए, साथ ही साथ साइंस से संबंधित सिलेबस को मुख्य तौर पर भारतीय पाठ्यक्रम में शामिल करना चाहिए, ताकि भारतीय विद्यार्थी इतिहास के साथ-साथ वर्तमान की टेक्नोलॉजी और साइंस के साथ भी अपना तालमेल बिठा सकें और दुनिया के साथ कदम से कदम मिलाकर चल सके।

वर्तमान का समय विज्ञान का समय है, इसीलिए सरकार को नई शिक्षा नीति में साइंस के विषयों को अधिक मात्रा में कवर करना चाहिए और विद्यार्थियों को साइंस तथा हिस्ट्री की इंफॉर्मेशन लेने के लिए प्रेरित करना चाहिए, ताकि विद्यार्थियों को साइंस की भी जानकारी प्राप्त हो सके और वह इतिहास की जानकारी प्राप्त करके अपने भारतीय होने पर गर्व भी कर सकें। किसी भी देश की तरक्की तभी संभव है जब वहां के लोग अपने देश की संस्कृति पर गर्व करने के साथ-साथ आधुनिक शिक्षा हासिल करते हो, इसलिए भारत को विश्व गुरु बनने के लिए नई शिक्षा नीति लागू करनी चाहिए।

2. धार्मिक कट्टरता का दमन किया जाए

भारत को विश्व गुरु बनने के लिए धार्मिक कट्टरता का भी दमन करना पड़ेगा, क्योंकि वर्तमान के समय में जैसा कि आप जानते हैं कि दुनिया के कई देशों में आतंकवादी समूह काफी भारी मात्रा में तबाही मचा रहे हैं। ऐसे में कुछ लोग आतंकवाद से प्रेरित होकर भारत में भी आतंकवाद को बढ़ावा देने का काम करते हैं, जिसके बारे में आप समय-समय पर टीवी चैनल और अखबारों में देखते ही हैं।

आतंकवाद जिस देश में होता है उस देश की कभी भी तरक्की नहीं हो सकती, वहां पर सिर्फ आतंकवादी हमले ही होते हैं और वहां पर मारकाट ही मची रहती है। इसलिए अगर भारत को विश्वगुरु बनना है तो भारत को अपने देश में चल रहे आतंकवाद का संपूर्ण नाश करना होगा। इसके लिए उसे आतंकवादी संगठनों का खात्मा करना पड़ेगा, जिसके लिए इंडियन गवर्नमेंट को स्पेशल एंटी टेररिस्ट मिशन चलाना चाहिए और एक-एक करके इंडिया में मौजूद सभी आतंकवादी संगठनों और नक्सली संगठनों का खात्मा करना चाहिए।

क्योंकि यह किसी भी प्रकार से देश की तरक्की में काम नहीं आते हैं बल्कि यह देश को नुकसान पहुंचाने का ही काम करते हैं। इसलिए इन पर सख्ती से गवर्नमेंट को एक्शन लेना चाहिए। जब हमारा भारत देश, देश के आंतरिक दुश्मनों से सुरक्षित रहेगा, तभी वह अपने विकास पर पूरी तरह से एकाग्र होकर फोकस कर पाएगा और विकास की राह पर अग्रसर हो पाएगा।

3. टैलेंट को मौका दे

हमारे इंडिया में ऐसे कई लोग हैं, जिनके पास टैलेंट की कोई भी कमी नहीं है, परंतु उन्हें अपने टैलेंट को प्रदर्शित करने के लिए उचित प्लेटफार्म नहीं मिल पाता है या फिर वह आर्थिक समस्या के कारण अपने टैलेंट को दुनिया के सामने प्रदर्शित नहीं कर पाते हैं। ऐसे में भारत की गवर्नमेंट को ऐसे लोगों के टैलेंट को बाहर लाने का प्रयास करना चाहिए और उन्हें उचित मंच उपलब्ध करवाना चाहिए, जिनके अंदर वाकई में कुछ करने का जज्बा है और जो लोग वाकई में भारत देश के लिए कुछ करना चाहते हैं।

इसके लिए गवर्नमेंट को संपूर्ण देश में टैलेंट सर्च प्रोग्राम चलाना चाहिए और गवर्नमेंट को ऐसा लगता है कि किसी व्यक्ति के अंदर कोई स्पेशल टैलेंट है तो सरकार को उसे आगे बढ़ने का मौका देना चाहिए। ऐसा करने से वह व्यक्ति भारत देश की तरक्की में अपना योगदान देगा जो भारत के विश्व गुरु बनने की रफ्तार को तेज करेगा।

4: सरकार आरक्षण पर विचार करें

आरक्षण भारत देश के विश्व गुरु बनने में एक कांटे के समान है, हालांकि यह काफी पेचीदा विषय है परंतु अगर सरकार आरक्षण पर पुनर्विचार करती है तो काफी हद तक भारत के विश्व गुरु बनने की रफ्तार में तेजी आएगी, क्योंकि आरक्षण प्रतिभा का हनन करती है जिसके कारण हमारे देश के अधिकतर प्रतिभाशाली लोग हमारे देश में मौका ना मिलने के कारण अमेरिका, ब्रिटेन, जापान, रूस जैसे-जैसे में चले जाते हैं जिसके कारण हमारे देश से प्रतिभा का पलायन हो जाता है

और हमारे देश के लोग हमारे देश में ही एजुकेशन हासिल करके विदेशों में जाकर के वहां की डेवलपमेंट में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करते हैं। इसलिए सरकार को आरक्षण पर विचार करना चाहिए और कुछ ऐसा करना चाहिए कि हमारे देश का टैलेंट हमारे देश के अंदर ही रहे और वह हमारे देश की प्रगति में अपना योगदान दें।

5. भ्रष्टाचार पर लगाम लगाए

अगर भारत को विश्व गुरु बनना है तो भारत को भ्रष्टाचार पर लगाम लगाना पड़ेगा। जैसा कि आप जानते हैं कि भ्रष्टाचार हमारे भारत देश की बड़ी समस्याओं में से एक समस्या है। भ्रष्टाचार से लगभग आम आदमी ही ज्यादा पीड़ित होता है और जो उच्च वर्ग के लोग होते हैं, वह भ्रष्टाचार का फायदा उठा कर के ब्लैक मनी अर्जित कर लेते हैं जिसके कारण हमारे भारत देश की तरक्की की रफ्तार धीमी हो जाती है।

हमारे भारत देश में अधिकतर लोग गरीबी रेखा के नीचे अपनी जिंदगी गुजारते हैं, इसका सबसे प्रमुख कारण यह है कि हमारे भारत देश में कुछ निश्चित लोगों के ही पास अधिक मात्रा में संपत्ति है और बाकी की संपत्ति में भारत की अधिकतम जनसंख्या को अपना गुजारा करना पड़ रहा है। इसलिए सरकार को भ्रष्टाचार पर रोक लगानी चाहिए और ब्लैक मनी इकट्ठा करने वाले लोगों पर कार्रवाई करनी चाहिए।

6: नई कंपनियां स्थापित करें

दुनिया का विश्व गुरु बनने के लिए भारत को अपने देश में विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित नई कंपनियों को स्थापित करना चाहिए, ताकि लोगों को रोजगार की प्राप्ति हो सके। इसके अलावा भारत को एक ऐसा कानून बनाना चाहिए, जिसके अंतर्गत विदेशी कंपनियां भारत में तभी आकर काम कर सकेंगी, जब वह कम से कम 1  मैन्युफैक्चरिंग यूनिट को इंडिया में स्थापित करें, ताकि भारत के लोगों को रोजगार प्राप्त हो सके।

ऐसा करने से दुनिया की अधिकतर कंपनियां भारत में स्थापित हो जाएंगी, जो भारत की इकोनामी के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद साबित होंगी। इसके अलावा इंडिया को स्वदेशी कंपनियों की भी स्थापना पर विशेष ध्यान देना चाहिए, ताकि दुनिया के अधिकतर सामानो का निर्माण हमारे भारत देश में ही हो और हमारे भारत देश से ही अधिकतर सामानों का निर्यात हो, ताकि भारत की जीडीपी में बढ़ोतरी हो।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Bharat Vishwa Guru Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में Bharat Vishwa Guru Kaise Bane (How To Become Bharat Vishwa Guru In Hindi) और भारत विश्व गुरु कैसे बने? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं। अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Bharat Vishwa Guru Kya Hota Hai बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा?

मैं supportingainain ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️ Contact us via Email - [email protected]

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.