राशन कार्ड क्या है? राशन कार्ड कैसे बनाएं?

आज हम जानेंगे राशन कार्ड कैसे बनाये की पूरी जानकारी (ration card kaise banaye) के बारे में क्योंकि हमारे देश में ऐसे लोगों की संख्या काफी ज्यादा है, जिनके लिए 2 जून की रोटी कमा पाना भी काफी मुश्किल होता है। ऐसे लोगों की गिनती बीपीएल कैटेगरी में होती है या फिर इन्हें गरीबी रेखा से नीचे जीवन जीने वाला भी कहा जाता है। ऐसे लोग मुख्य तौर पर राशन के लिए संघर्ष करते हैं। इसीलिए गवर्नमेंट ने भूख से किसी भी व्यक्ति की मृत्यु इंडिया में ना हो, इसके लिए राशन कार्ड की व्यवस्था को चालू किया है,

ताकि जिनके पास राशन कार्ड उपलब्ध हो, वह गवर्नमेंट की तरफ से मिलने वाले राशन को सस्ते दामों में खरीद सकें और अपने खाने की आवश्यकता को पूरा कर सकें। कई राज्य में तो कुछ महीने फ्री राशन भी दिए जाते हैं, जैसे कि वर्तमान में उत्तर प्रदेश राज्य में दिया जा रहा है। आज के इस लेख में जानेंगे कि राशन कार्ड क्या होता है, राशन कार्ड के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट और पात्रता, राशन कार्ड कैसे बनाएं, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

राशन कार्ड क्या होता है? – What is Ration Card in Hindi

Contents show
राशन कार्ड कैसे बनाएं
Ration Card Kaise Banaye

राशन कार्ड के कई प्रकार होते हैं और हर कैटेगरी के हिसाब से इसे अलग-अलग बनाया जाता है। बात करे कि राशन कार्ड वास्तव में होता क्या है तो राशन कार्ड वह कार्ड होता है, जिसके जरिए आप गवर्नमेंट के द्वारा दिए जाने वाले अनाज को सस्ते दामों में खरीद सकते हैं। राशन कार्ड पूरे भारत देश के हर राज्य में अलग-अलग होता है।

जैसे अगर आप उत्तर प्रदेश के निवासी हैं तो आपको उत्तर प्रदेश का राशन कार्ड बनवाना होगा। राशन कार्ड के जरिए आप हर महीने कम दाम में चीनी, मिट्टी का तेल, चावल और गेहूं जैसी चीजें प्राप्त कर सकते हैं, साथ ही गवर्नमेंट के द्वारा अगर कुछ स्पेशल दिया जाता है तो उसे भी आप इसके जरिए प्राप्त कर सकते हैं। राशन कार्ड सिर्फ सस्ते दाम में अनाज प्राप्त करने के लिए ही फायदेमंद नहीं है, बल्कि यह एक वैलिडेट आईडेंटिटी प्रूफ भी है,

जिसका इस्तेमाल आप अपनी पहचान साबित करने के लिए भी कर सकते हैं, साथ ही गवर्नमेंट के द्वारा चलाई जाने वाली विभिन्न प्रकार की योजना का लाभ लेने के लिए भी कर सकते हैं। पहले के समय में राशन कार्ड आपको डॉक्यूमेंट के तौर पर प्राप्त हो जाता था, परंतु अब ई राशन कार्ड का भी चलन है अर्थात आपको सिर्फ अपने राशन कार्ड का नंबर याद रखना है, बाकी सारा काम मशीनो के द्वारा ही होता है।

ई राशन कार्ड क्या है? – What is E-ration Card in Hindi

गवर्नमेंट को भारी मात्रा में यह शिकायत मिलती है कि जरूरतमंद लोगों को पूरा राशन नहीं दिया जाता है और उनके राशन के यूनिटी में कटौती कर ली जाती है। इसलिए गवर्नमेंट ने ई राशन कार्ड की सर्विस को चालू किया है। बता दें कि यह इलेक्ट्रॉनिक पब्लिक डिसटीब्यूशन सिस्टम के ऊपर आधारित है। इसके जरिए पब्लिक यह चेक कर सकती है कि उसे कितना राशन अलॉट हुआ है और कितना राशन अभी उपलब्ध है। इससे जो लोग राशन की यूनिट में चोरी करते हैं या फिर कटौती करते हैं उनकी पोल खुलने की संभावना ज्यादा रहती है।

राशन कार्ड कितने प्रकार का होता है?

यह मुख्य तौर पर 3 प्रकार का होता है, जिसकी इंफॉर्मेशन नीचे बताए अनुसार है।

1. बीपीएल राशन कार्ड (BPL)

गरीबी रेखा से नीचे जिंदगी जीने वाले परिवारों को इस राशन कार्ड की सहायता से महीने में 25 किलो से लेकर के 35 किलो राशन मिलता है और इसे पाने के लिए वही लोग अप्लाई कर सकते हैं, जिनकी साल की इनकम ₹27000 या फिर उससे कम होती है।

2. एपीएल राशन कार्ड (APL)

महीने में 15 किलो राशन गरीबी रेखा से ऊपर जिंदगी गुजारने वाले परिवारों को यह राशन कार्ड होने पर मिलता है।

3. अंत्‍योदक राशन कार्ड (AAY)

यह निखंड गरीब परिवारों को मिलता है और इस राशन कार्ड की सहायता से वह महीने में 35 किलो का राशन प्राप्त करते हैं।

राशन कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज – Documents Required for Ration Card

नीचे दिए गए डॉक्यूमेंट आपको राशन कार्ड बनवाने के लिए चाहिए होंगे। इसीलिए इसे तैयार करवा ले।

  • परिवार के मुखिया के 3 पासपोर्ट साइज फोटो
  • वोटर आईडी की फोटो कॉपी
  • निवास के प्रमाण की फोटो कॉपी
  • बिजली या पानी का बिल की फोटो कॉपी
  • आधार कार्ड की फोटो कॉपी
  • पैन कार्ड की फोटो कॉपी
  • मोबाइल नंबर

राशन कार्ड के लिए पात्रता – Eligibility for Ration Card

नीचे दी गई योग्यता आपको राशन कार्ड बनवाने के लिए पूरी करनी पड़ेगी।

  • भारतीय नागरिक होना आवश्यक है ।
  • किसी भी दूसरे स्टेट का राशन कार्ड नहीं होना चाहिए।
  • उसकी उम्र 18 या फिर उससे ज्यादा होनी चाहिए।
  • परिवार के मुखिया के नाम पर ही राशन कार्ड जारी होता है।
  • मुखिया की फैमिली के सभी नाम राशन कार्ड में डाले जा सकते हैं।

राशन कार्ड के फायदे – Benefits of Ration Card

नीचे आपको राशन कार्ड के एडवांटेज अथवा राशन कार्ड के बेनिफिट बताए गए हैं।

  • वोटर आईडी कार्ड बनवाने के लिए इसे आप वैलिडिटी सबूत के तौर पर पेश कर सकते हैं।
  • इसका इस्तेमाल आप अपने रहने के सर्टिफिकेट के तौर पर भी कर सकते हैं।
  • सिम कार्ड लेने के लिए और टेलीफोन कनेक्शन के लिए भी इसे इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • ड्राइविंग लाइसेंस भी इसके जरिए बनवा सकते हैं।
  • पैन कार्ड भी इसके जरिए अप्लाई कर सकते हैं।
  • इसकी सहायता से एलपीजी गैस कनेक्शन ले सकते हैं।
  • पासपोर्ट बनवा सकते हैं।
  • आधार कार्ड बनवा सकते हैं।
  • डोमेस्टिक सर्टिफिकेट भी बना सकते हैं।
  • गवर्नमेंट की योजना का फायदा ले सकते हैं।

राशन कार्ड कैसे बनाएं? – How to make Ration Card

बता दें कि राशन कार्ड बनवाने के दो तरीके हैं। पहला यह कि आप इसे ऑनलाइन बनवाएं और दूसरा यह है कि आप इसे ऑफलाइन बनवाए। नीचे हम आपको दोनों तरीकों के बारे में बता रहे हैं।

ऑफलाइन राशन कार्ड कैसे बनाये

1. नीचे हमने आपको एक वेबसाइट का लिंक दिया है, इसी वेबसाइट के जरिए आप राशन कार्ड बनवा सकते हैं। इस लिंक पर क्लिक करने पर आप वेबसाइट पर पहुंच जाएंगे।

2. वेबसाइट पर पहुंचने के बाद आपको वेबसाइट में से ढूंढ कर के राशन कार्ड के फॉर्म को डाउनलोड कर लेना है और इसका प्रिंट आउट निकाल लेना है।

राशन कार्ड के फॉर्म को डाउनलोड
राशन कार्ड के फॉर्म को डाउनलोड

3. अब फॉर्म के अंदर जो भी जानकारी मांगी गई है, उसे आप को बिल्कुल सही सही भरना है।

4. सभी जानकारियों को भर लेने के बाद जो भी डॉक्यूमेंट मांगे जा रहे हैं, उनकी फोटो कॉपी को आपको फॉर्म के साथ अटैच कर देना है, साथ ही फॉर्म के ऊपर जहां-जहां साइन मांगी जा रही है वहां वहां आपको सिग्नेचर भी कर देना है।

Form
Form

5. अब आपको इस फॉर्म को ले जा कर के अपने गांव के अंतर्गत आने वाले खाद एवं रसद डिपार्टमेंट में जमा कर देना है।

6. फॉर्म जमा हो जाने के बाद खाद एवं रसद डिपार्टमेंट के द्वारा आपके फॉर्म का वेरिफिकेशन किया जाएगा और उसकी चेकिंग की जाएगी और सब कुछ ठीक रहता है तो आपका राशन कार्ड 10 से 15 दिनों के अंदर बन जाएगा, जिसकी सूचना आपको अपने फोन नंबर पर प्राप्त हो जाएगी।

ऑनलाइन राशन कार्ड कैसे बनाये

1. ऑनलाइन राशन कार्ड बनवाने के लिए सबसे पहले आपको अपने सभी आवश्यक डॉक्यूमेंट लेकर के नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर में जाना है और कॉमन सर्विस सेंटर के अधिकारी से राशन कार्ड बनवाने की बात कहनी है।

2. इसके बाद वह आपसे आपके सभी डॉक्यूमेंट मांगेगा जिसे आप को दे देना है।

3. इसके बाद वह ऑनलाइन ही राशन कार्ड के फॉर्म को आपके नाम पर भर देगा और सभी डॉक्यूमेंट भी ऑनलाइन जमा कर देगा।

4. इसके बाद आपका एप्लीकेशन फॉर्म सीधा संबंधित खाद एवं रसद डिपार्टमेंट में चला जाएगा।

5. अब खाद एवं रसद डिपार्टमेंट के कर्मचारी के द्वारा आपके सभी डॉक्यूमेंट और आपके एप्लीकेशन फॉर्म की जांच की जाएगी और सब कुछ सही पाए जाने पर सारी प्रक्रिया पूरी कर दी जाएगी।

6. इसके बाद 2 से 3 महीने के अंदर आपका राशन कार्ड और आपका नाम आपके राज्य के राशन कार्ड के लिस्ट में शामिल कर दिया जाएगा जिसे आप अपने राज्य के राशन कार्ड की ऑफिशियल वेबसाइट से चैक भी कर सकते हैं।

राशन कार्ड कैसे बनाये से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

राशन कार्ड की ऑफिशियल वेबसाइट कौन सी है?

fcs.up.nic.in

ऑफलाइन राशन कार्ड बनवाने में कितने रुपए लगते हैं?

₹120 राशन कार्ड के और ₹100 कॉमन सर्विस सेंटर के कर्मचारी के।

क्या सभी राशन कार्ड के कलर अलग अलग होते हैं?

जी हां

राशन कार्ड में सबसे महत्वपूर्ण क्या होता है?

राशन कार्ड का नंबर

राशन कार्ड का नंबर कितने अंको का होता है?

हर राज्य में यह अलग-अलग होते हैं।

निष्कर्ष

आशा है आपको राशन कार्ड कैसे बनाये के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में ration card kaise banaye (how to make ration card in Hindi) और राशन कार्ड कैसे बनाये को लेकर आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को ration card kaise banaye के बारे में जानकारी मिल सके।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा?

मैं supportingainain ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️ Contact us via Email - [email protected]

Leave a Comment