पीजीडीएम क्या है? PGDM (Post Graduate Diploma in Management) Course कैसे करें? Full Form, Qualification, Admission Process, Career, Salary, Syllabus, Fees, Entrance Exam, Scope आदि से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी मे

आज हम जानेंगे पीजीडीएम कोर्स (PGDM Course) कैसे करें पूरी जानकारी (How To Do PGDM (Post Graduate Diploma in Management) Course Details In Hindi) के बारे में क्योंकि PGDM कोर्स हर साल उन छात्रों को भारत में प्रवेश दिला रहा है जो Business और management क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं। हाल के दिनों में, पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट कोर्स भारत में काफी लोकप्रिय हो रहा है, क्योंकि अन्य देशों की तुलना में भारत में व्यापार के बहुत अधिक अवसर हैं। अगर आप भी मैनेजमेंट क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं, तो आजका यह लेख आपके लिए है।

आज के इस लेख में जानेंगे कि PGDM Course Kya Hota Hai, PGDM Course के लिए Qualifications, PGDM Meaning In Hindi, PGDM Course Kaise Karen, PGDM (Post Graduate Diploma in Management) Course के लिए Eligibility, PGDM Course के लिए Admission Process, पीजीडीएम कोर्स के लिए तैयारी कैसे करें, PGDM Entrance Exams, PGDM Course की Fees, Post Graduate Diploma in Management Course करने के बाद Job And Career Opportunity, PGDM Course के बाद Salary, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

पीजीडीएम क्या है? – What is PGDM (Post Graduate Diploma in Management) Course Information in Hindi

विषय-सूची

PGDM Course Details in Hindi
PGDM Course Details in Hindi

PGDM यानी Post Graduate Diploma in Management यह उन संस्थानों द्वारा प्रदान किया जाने वाला डिप्लोमा कोर्स है जो अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद [AICTE] द्वारा मान्यता प्राप्त है। PGDM Course की अवधि 2 वर्ष का होता है। यदि कोई संस्थान Association of Indian Universities [AIU] से मान्यता प्राप्त है, तो यह PGDM Course को MBA के बराबर बनाता है।

इस कोर्स मे छात्रों को मार्केटिंग और बिजनेस इंडस्ट्री के बारे में पढ़ाया जाता है। जिसे करने के बाद, finance, business, marketing, आदि जैसे विषयों में अच्छा पकड़ बन जाता हैं, और उन विषयों का detail में study कर मास्टर बन जाते हैं। PGDM Course के सिलेबस को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि स्टूडेंट के अंदर वैश्विक स्तर के Skills और Capability उनके अंदर आजाए। 

PGDM का फुल फॉर्म क्या होता है? – What Is PGDM Full Form In Hindi?

PGDM का Full Form Post Graduate Diploma in Management होता है। हिंदी में PGDM का फुल फॉर्म पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट होता है।

पीजीडीएम में प्रवेश कैसे प्राप्त करें – How to Get Admission in Post Graduate Diploma in Management (PGDM)

कुछ colleges/universities आपकी योग्यता के आधार पर post-graduate diploma in management मे Admission देते हैं और कुछ कॉलेज/विश्वविद्यालय entrance examinations के आधार पर Admission देती हैं। आपको एंट्रेंस एग्जाम में पास होना जरूरी है, पास होने के बाद आपको अगले राउंड के लिए बुलाया जाता है जिसमें राइटिंग टेस्ट, ग्रुप डिस्कशन और इंटरव्यू जैसे राउंड होते है। यह सब ख़तम हो जाने के बाद स्टूडेंट को उनके परफॉमेंस के हिसाब से फाइनल एडमिशन दिया जाता है।

पीजीडीएम के लिए प्रवेश परीक्षा – Entrance Exam for Post Graduate Diploma in Management (PGDM)

PGDM Course के लिए लोकप्रिय Entrance Exam में से कुछ निम्नलिखित हैं:

  • Common Admission Test (CAT)
  • Management Aptitude Test (MBA)
  • Xavier’s Aptitude Test (XAT)
  • Symbiosis National Aptitude Test (SNAP)
  • Maharashtra Common Entrance Test (MAH-CET)
  • NMAT by GMAC
  • Common Management Aptitude Test (CMAT)

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट कोर्स के लिए योग्यता – Qualification/Eligibility For Post Graduate Diploma in Management (PGDM)

  • छात्र को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम में स्नातक यानि Bachelor की डिग्री होनी चाहिए।
  • पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको बेचलर डिग्री में कम से कम 50% मार्क्स के साथ पास होना जरूरी है।
  • PGDM Course को करने के लिए कोई आयु सीमा नहीं है।
  • CGPA के मामले में, न्यूनतम 6.5 CGPA की आवश्यकता होती है।
  • graduation के final year वाले छात्र भी PGDM course में admission ले सकते है।
  • अधिकांश संस्थान मेरिट के आधार पर प्रवेश देते हैं।
  • लेकिन कुछ विश्वविद्यालय या संस्थान Entrance Test जैसे CAT/ XAT/ GMAT के आधार पर Admission देती है।

पीजीडीएम पाठ्यक्रम के विषय – PGDM Course Subjects

  • Managerial Economics
  • Finance & Accounting
  • Business Ethics And Communication
  • Basics of Marketing
  • Organisational Behavior
  • Statistics and Quantitative Techniques
  • IT Skills Lab
  • Theory of Management
  • Management Information Systems
  • Production & Operations Management
  • Economics & Social Sciences
  • Strategic Management
  • Research Methodology
  • Business Law & Corporate Governance
  • International Business

पीजीडीएम कोर्स के सिलेबस – PGDM (Post Graduate Diploma in ManagementCourse Syllabus

PGDM Syllabus (Semester I) – Organisational Behaviour-I, Managerial Accounting and Control – I, Business Communication, Managerial Economics (Microeconomics), Quantitative Techniques – I, Operations Management –I

PGDM Syllabus (Semester II) – Financial Management I, Macroeconomics, Managerial Accounting and Control –II, Marketing Management – I, Quantitative Techniques – II, Organisational Behaviour-II

PGDM Syllabus (Semester III) – Financial Management – II, Human Resource Management, Management Information System, Marketing Management– II, Research Method, Operations Management-II

PGDM Syllabus (Semester IV) – Strategic Management, Business Environment (Indian and World Economy)

पीजीडीएम कोर्स की फीस – PGDM (Post Graduate Diploma in Management) Course Fees

PGDM Course की फीस 1 लाख से लेकर 15 लाख तक की होती है। फिर भी यह फीस अलग अलग कॉलेज और यूनिवर्सिटी पर आधारित है। यदि आप गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन लेते है तो शायद यह फीस कम भी हो सकते है। किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले उस कॉलेज और यूनिवर्सिटी से फीस के बारे में जरूर जाने।

PGDM (Post Graduate Diploma in Management) Course के Specializations

जैसा कि मैंने आपको पहले बताया था कि यह एक मास्टर डिग्री कोर्स है, इस कोर्स को करने के बाद आप उस विषय में specialized हो जाते हैं। नीचे मैंने पीजीडीएम कोर्स के कुछ best specialized courses के बारे में जानकारी दी है।

  • PGDM in International Business
  • PGDM in Operations Management
  • PGDM in Business Analytics
  • PGDM in Marketing
  • PGDM in Finance
  • PGDM in Biotechnology
  • PGDM in Business Entrepreneurship
  • PGDM in Retail Management
  • PGDM in E-Business

पीजीडीएम कोर्स की अवधि – PGDM Course Duration

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट कोर्स 2 साल का होता है, जिसमे 4 सेमेस्टर की पढ़ाई करनी होती है। जीसमें हरेक साल 2 सेमेस्टर होते है।

पीजीडीएम कोर्स के फायदे – Advantages or Benefits of PGDM (Post Graduate Diploma in Management) Degree

  • पीजीडीएम कोर्स करने के बाद दूसरे कोर्स के मुकाबले इस कोर्स मे आपको अच्छा प्लेसमेंट का अवसर मिल जाता है।
  • इस कोर्स को करने के बाद आपके अंदर प्रोफेशनल स्किल्स का विकास होता है।
  • यह कोर्स आपके Entrepreneurship की गुणवत्ता को एक बेहतर बनाने में भी मदद करता है।
  • आपके पास बेहतर नौकरी के अवसर होते है
  • इस कोर्स को करने के बाद, आपको व्यापार के महान अनुभव प्राप्त होते हैं।
  • यह कोर्स MBA की तुलना में कम खर्चीला है और डिग्री को लगभग बराबर माना जाता है।
  • PGDM Course को distance mode से भी किया जा सकता है।
  • आप अपना खुद का business शुरू कर सकते हैं।
  • higher studies के लिए PGDM holders के पास अधिक अवसर होते हैं।
  • इस कोर्स को करने के बाद business के क्षेत्र में अनुभवी अच्छा आजता जाता है

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट कोर्स के बाद वेतन – Salary after PGDM (Post Graduate Diploma in Management)

PGDM Course करने के बाद Average Salary ₹3,90,270 से ₹4,30,950 प्रति वर्ष होता है। यदि आपको 0 – 1 वर्ष का Job Experience है तो आपकी औसत सैलरी ₹2,90,350 प्रति वर्ष होगी। यदि आपका Job Experience 1-9 वर्ष है तो आपकी Average Salary ₹7,20,510 प्रति वर्ष होगी। आपका वेतन भी आपकी नौकरी की स्थिति पर निर्भर करता है। यदि आप Senior Business Analyst का नौकरी करते हैं, तो आपका वेतन ₹9,60,000 प्रति वर्ष होगी। यदि आप Human Resource (HR) Manager का नौकरी करते हैं, तो आपका Salary प्रति वर्ष ₹7,19,000 रुपये होगा।

पीजीडीएम कोर्स के लिए आवश्यक कौशल – Skills Required for PGDM Course

  • आपकी Communication skills अच्छी होनी चाहिए।
  • आपकी प्लानिंग स्किल अच्छी होनी चाहिए। कभी-कभी व्यवसाय के लिए एक अच्छी योजना की आवश्यकता होती है।
  • Team management skills भी महत्वपूर्ण है क्योंकि कभी-कभी आपको एक समूह में काम करना पड़ता है और ऐसी स्थिति में आपको समूह को संभालने के लिए आना चाहिए।
  • आपके अंदर नेतृत्व करने का समझ होनी चाहिए।
  • आपके पास management skills भी होना चाहिए।
  • आपके अंदर Communication Skill होनी चाहिए क्यों की कई बार आप अपने ग्राहक से व्यवसाय के बारे में बात कर रहे होते हैं, जिसमें यह जानना बहुत महत्वपूर्ण है कि अच्छी तरह से कैसे बात करें।

पीजीडीएम कोर्स के बाद आगे की पढ़ाई – Further Studies After PGDM Course

जैसा की मैंने ऊपर बताया है PGDM एक diploma course है। इसमे आपको बहुत सारे specialization कोर्स मौजूद है जिसे आप कर सकते है जैसे की Management Studies, Business Administration, Business Management, Human Resource Management आदि।

Top 5 Best Colleges For PGDM (Post Graduate Diploma in Management) Course in India

निम्नलिखित कुछ कॉलेज हैं, जो आपको PGDM Course करने में मदद करेंगे;
  1. Indian Institute of Management (IIM), Bangalore
  2. Indian Institute of Management (IIM), Lucknow
  3. FMS Delhi – Faculty of Management Studies, Delhi
  4. Indian Institute of Management (IIMC), Kolkata
  5. Indian Institute of Management (IIMA), Ahmedabad

पीजीडीएम के बाद नौकरी और कैरियर का अवसर – Career and Job Opportunities After PGDM (Post Graduate Diploma in Management) Course

पीजीडीएम कोर्स पूरा होने के बाद, सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों में रोजगार के कई अवसर हैं। यदि कोई स्टूडेंट रिसर्च या फिर एजुकेशन इंडस्ट्री में जाना चाहते है तो वे भी कर सकते हैं और यहां पर आप प्रोफेसर बनकर अपना करियर बना सकते है। इसके अलावा आप मल्टीनेशनल कंपनि, बैंकिंग सेक्टर, एजुकेशन सेक्टर, मैन्युफैक्चरिंग, फैक्टरीज, मार्केटिंग कंपनी,व्यापारिक सलाहकार, आईटी कंपनी और दूसरे बहुत से ऐसे सेक्टर है जहां पर आप अपना कैरियर बना सकते है। इन सेक्टर के अलावा स्टूडेंट अपना खुद का बिजनेस और फ्रीलांसर के तौर पर या फिर एक कंसल्टेंट के तौर पर भी कैरियर बना सकते हैं।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको PGDM Course Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में PGDM Course Kya Hota Hai? (What Is Post Graduate Diploma in Management In Hindi) और पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट कोर्स कैसे करे? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि PGDM Course Kaise Kare बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

6 thoughts on “पीजीडीएम क्या है? PGDM (Post Graduate Diploma in Management) Course कैसे करें? Full Form, Qualification, Admission Process, Career, Salary, Syllabus, Fees, Entrance Exam, Scope आदि से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी मे”

    • Seema ji, Koi bhi Course Perfect hai ya nahi ye apke upar hi depend karta hai.

      agar ap kisi course ko karne me intrested hai to bah course apke liye accha sabit hoga agar intrest nahi hai to koi fayda nahi

      Reply
  1. यह कोर्स क्या इंग्लिश माध्यम में ही होता है या फिर हिंदी के माध्यम से भी होता है

    Reply
    • SHIVAM JI आप हिंदी और इंग्लिश दोनों माध्यम से PGDM Course कर सकते है

      Reply
      • But sir hmne to English Medium se hi hota surf Sona he MBA jesa.
        Or iske kiye entrance exam compal sarry he kya

        Reply

Leave a Comment