मेडिटेशन क्या होता है? Meditation कैसे करे? जानिए Meditation से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे मेडिटेशन (Meditation) कैसे करे पूरी जानकारी (How To do Meditation In Hindi) के बारे में क्योंकि अगर आप ज्यादा टेंशन लेते हैं और आप यह जानना चाहते हैं कि अपने आपको टेंशन फ्री कैसे करें, तो इसके लिए आप मेडिटेशन कर सकते हैं। मेडिटेशन अपने आप को चिंता मुक्त रखने के लिए और अपने आप को बिल्कुल फ्रेश रखने के लिए काफी अच्छा उपाय माना जाता है। कई लोगों को यह पता नहीं होता है कि मेडिटेशन का मतलब क्या होता है। मेडिटेशन का हिंदी में मतलब होता है ध्यान लगाना या फिर ध्यान केंद्रित करना। जब हम मेडिटेशन करते हैं तो सबसे पहले हमारा मन शांत हो जाता है, जिसके कारण हमें काफी शांति की अनुभूति होती है।

मेडिटेशन करने के लिए हमें एक ऐसी जगह की आवश्यकता होती है, जहां पर ज्यादा शोरगुल ना हो और जहां पर एकांत हो, क्योंकि ध्यान ऐसी ही जगह पर लगाया जा सकता है, जहां पर हमें डिस्टर्ब करने वाला कोई भी व्यक्ति या फिर अन्य चीजें ना हो। आज के इस लेख में जानेंगे कि Meditation Kaise Kare, मेडिटेशन करने के लिए क्या करे, Meditation Meaning In Hindi, Meditation Kya Hota Hai, मेडिटेशन करने का तरीका, Meditation Kaise Karte Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

मेडिटेशन क्या होता है? – What is Meditation Information in Hindi?

Meditation Kaise Kare
Meditation Kaise Kare

Meditation को हिंदी भाषा में ध्यान लगाना कहते हैं। यह एक ऐसी पद्धति होती है, जिसका इस्तेमाल करके व्यक्ति अपने ध्यान को किसी एक जगह पर केंद्रित कर सकता है, जिसके कारण उसे मानसिक शांति प्राप्त होती है और वह चिंता मुक्त कुछ पल के लिए हो जाता है। कई बार ऐसा होता है कि, हमारा मन किसी एक जगह पर नहीं टिकता है, जिसके कारण हम अपने काम से भटक जाते हैं या फिर हम अपनी मंजिल से भटक जाते हैं।

ऐसी अवस्था में अपने मन को एक जगह पर टिका कर रखने के लिए Meditation करना यानी कि ध्यान लगाना सबसे बढ़िया तरीका होता है। मेडिटेशन करके आप अपने मन को एकाग्र चित्त बना सकते हैं, साथ ही मानसिक शांति की अनुभूति भी प्राप्त कर सकते हैं। ऐसा कहा जाता है कि, मेडिटेशन किसी एकांत जगह पर या फिर आश्रम में ही किया जा सकता है, परंतु अगर आपके घर में कहीं एकांत जगह है, तो आप वहां पर भी मेडिटेशन कर सकते हैं।

मेडिटेशन कब करना चाहिए? – Best Time to Meditate

अगर हमारी राय के अनुसार देखा जाए तो Meditation करने का सबसे बढ़िया समय ब्रह्म मुहूर्त का होता है। अगर आप यह नहीं जानते हैं कि ब्रह्म मुहूर्त क्या होता है, तो आपकी इंफॉर्मेशन के लिए बता दें कि, ब्रह्म मुहूर्त अर्थात सुबह 4:00 से लेकर 6:00 बजे के बीच का समय। इस टाइम ध्यान लगाने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इस टाइम बहुत कम लोग ही जागे हुए होते हैं।

इसी कारण वातावरण में काफी शांति होती है और मेडिटेशन करने के लिए शांति का होना बहुत ही ज्यादा आवश्यक होता है, तभी आप अपना ध्यान सही प्रकार से लगा पाते है, परंतु कई लोगों के पास समय नहीं होता है, ऐसे में वह जब भी समय मिले, तब मेडिटेशन कर सकते हैं।

मेडिटेशन कैसे करें? – How to do Meditation Information in Hindi?

कुछ लोग Meditation करने के लिए मेडिटेशन क्लास ज्वाइन करते हैं और वहां पर जाकर मेडिटेशन करते हैं, वहीं कई लोग घर पर रहकर ही मेडिटेशन करते हैं। अगर आप भी मेडिटेशन करना चाहते हैं तो आपको यह पता होना चाहिए कि मेडिटेशन कैसे किया जाता है या फिर ध्यान कैसे लगाया जाता है। इस आर्टिकल में मेडिटेशन करने की प्रक्रिया क्या है तथा मेडिटेशन कैसे करते हैं, इसकी जानकारी आपको प्राप्त होगी।

1. एकांत जगह ढूंढें

अगर आप घर पर रहकर ही Meditation करना चाहते हैं, तो घर पर रहकर मेडिटेशन करने के लिए सबसे पहले आपको एक ऐसी जगह का सिलेक्शन करना पड़ेगा, जहां पर बिल्कुल ही शांति हो और वहां के वातावरण में किसी भी प्रकार का शोरगुल ना हो, क्योंकि ध्यान लगाने के लिए यह आवश्यक है कि आपके आसपास ज्यादा हल्ला ना हो, क्योंकि हल्ला होने से आपका ध्यान पहली बात तो लगेगा ही नहीं और मुश्किल से ध्यान लग भी जाएगा, तो जल्दी ही आपका ध्यान टूट जाएगा। इसीलिए आपको ध्यान लगाने के लिए ऐसी जगह का सिलेक्शन करना है, जहां पर एकांत हो और वहां पर कम से कम शोर हो।

2. बिल्कुल सीधा बैठे

Meditation करने के लिए एकांत जगह का सिलेक्शन करने के बाद अगली जो चीज आपको करनी है, वह यह है कि आपको ध्यान लगाने के लिए बिल्कुल सीधा बैठना है।इसके लिए सबसे पहले आपको सुखासन, वज्रासन या फिर पद्मासन में बैठना है। इसमें आप इस बात का ध्यान रखें कि आपकी रीढ़ की हड्डी बिल्कुल सीधी रहे, ताकि आप सही प्रकार से सांस ले सकें। अगर आपको इन आसन में बैठने में कोई भी प्रॉब्लम आती है, तो आप कुर्सी का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

3. आराम से बैठें

जब आप ध्यान लगाने के लिए तैयार हो जाए, तब आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आपको ध्यान लगाने से पहले अपनी बॉडी को पूरी तरह से आराम की सिचुएशन में लेकर के जाना है। इसके लिए आपको अपनी बॉडी को एकदम ढीला छोड़ देना है, ताकि आपकी बॉडी में जितनी भी मांसपेशियां है, उन सभी मांसपेशियों को आराम की प्राप्ति हो सके। आपको इस प्रक्रिया को अपने पैरों से स्टार्ट करना है और इस प्रक्रिया को अपने पैरों से स्टार्ट करके आपको इसे अपने चेहरे तक लाना है। आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आपकी पूरी बॉडी आराम की सिचुएशन में हो।

4. ध्यान लगाने की कोशिश करें

अपनी बॉडी को आराम की सिचुएशन में लाने के बाद आपको ध्यान लगाने की कोशिश स्टार्ट कर देनी है। ध्यान लगाने के लिए आप अपनी किसी भी पसंदीदा चीज के बारे में सोच सकते हैं या फिर उसके बारे में मन ही मन कल्पना कर सकते हैं। अगर आपको कोई चीज मन में परेशान करती है, तो उस चीज को छोड़कर आप किसी अन्य चीज के बारे में सोच सकते हैं। आपको ध्यान के अंदर ऐसी चीज सोचनी है, जिसके द्वारा आपको आराम की प्राप्ति हो।

अगर आपको यह नहीं पता है कि ध्यान लगाने के लिए आपको मन में क्या सोचना है, तो आप चाहे तो आप जिस भी मत, मजहब या फिर संप्रदाय को मानते हैं, उसके मंत्रों का जाप कर सकते हैं। उदाहरण के स्वरूप अगर आप हिंदू धर्म को मानते हैं, तो आप ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप कर सकते हैं। इसके अलावा अगर आप इस्लाम मजहब को मानते हैं, तो आप अल्लाह के नाम का जाप कर सकते हैं। इसके अलावा सिख, यहूदी, जैन या फिर बुद्ध धर्म को मानने वाले लोग भी अपने धर्म के मंत्रों का जाप कर सकते हैं।अधिकतर लोग ध्यान लगाने के लिए मंत्रों का जाप ही करते हैं, क्योंकि ऐसा करने से उन्हें काफी शांति की अनुभूति होती है।

5. पॉजिटिविटी बनाकर रखें

अगर आप पहली बार मेडिटेशन करने की कोशिश कर रहे हैं, तो हो सकता है कि पहली बार में आपको ध्यान लगाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़े, क्योंकि जब व्यक्ति कोई काम पहली बार करता है, तो उसे उस काम को चालू करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। अगर आप पहली बार ध्यान लगा रहे हैं, तो हो सकता है कि आपका ध्यान ना लगे या फिर आपका मन यहां वहां पर भटके। ऐसे में आपको अपने मन को एक जगह टीका कर रखने की कोशिश करनी है। लगातार कुछ दिनों तक मेडिटेशन करने की प्रक्रिया करके आप आसानी से आगे चलकर के ध्यान लगा सकते हैं और मेडिटेशन कर सकते हैं।

6. ध्यान हटाने वाली चीजों को दूर रखे

जब कभी भी आप Meditation करने के लिए बैठे, तो आपको इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखना है कि जो भी ध्यान भटकाने वाली चीजें हैं आपको उन्हें अपने आप से दूर रख देना है। जैसे कि अगर आप स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं, तो मेडिटेशन करने के दरमियान आपको अपने स्मार्टफोन को या तो दूर रख देना है या फिर उससे स्विच ऑफ कर देना है, ताकि आपका स्मार्टफोन आपका ध्यान ना भटका पाए।

अगर आप Meditation में ध्यान लगाना चाहते हैं तो आप चाहे तो बैकग्राउंड में कोई अच्छा सा और मधुर संगीत चालू कर सकते हैं, क्योंकि म्यूजिक हमारे मन को रिलैक्स करने का काम तो करता ही है, साथ ही यह आपको ध्यान लगाने में भी आपकी सहायता करता है।

7. ढीले कपड़े पहने

अगर आप कोई ऐसा कपड़ा पहनकर Meditation करते हैं, जिसमें आप कंफर्टेबल महसूस नहीं कर रहे हैं तो आप सही प्रकार से अपना ध्यान नहीं लगा पाएंगे, क्योंकि आप अपने कपड़े को लेकर ही परेशान रहेंगे। ऐसी अवस्था में आपका ध्यान लगाना मुश्किल हो जाएगा। इसीलिए जब आप मेडिटेशन करने के लिए जाएं, तो ऐसे कपड़े पहने, जिसमें आप कंफर्टेबल महसूस करें। मेडिटेशन करने के लिए या फिर ध्यान लगाने के लिए आप ढीले ढाले कपड़े पहन सकते हैं ताकि आप अपने आप को कंफर्टेबल महसूस करें।

मेडिटेशन करने के फायदे – Benefits of Doing Meditation

1. अगर आप नियमित तौर पर Meditation यानी कि ध्यान लगाते हैं, तो ऐसा करने से आपका दिमाग शांत होता है, साथ ही आप चिंता मुक्त भी हो जाते हैं और आपका मन धीरे एकाग्र चित्त होने लगता है।

2. नियमित तौर पर ध्यान लगाने से आपके दिमाग के दर्द को सहने की क्षमता में इजाफा होता है, जिसके कारण आपका दिमाग काफी हद तक मजबूत बन जाता है और आप दर्द से अपने ध्यान को हटाने के लिए काबिल बन जाते हैं।

3. रोजाना Meditation करने से आपके दिमाग के काम करने की क्षमता और भी अच्छी हो जाती है और आप काफी बढ़िया तरीके से सोच और समझ सकते हैं, क्योंकि नियमित तौर पर मैडिटेशन करने से आपकी एकाग्रता में बढ़ोतरी होती है, जिसके कारण आपके अंदर पॉजिटिविटी आती है।

4. अगर कोई व्यक्ति रोजाना ध्यान लगाता है, तो ऐसा करके वह टेंशन और डिप्रेशन जैसी मेंटल प्रॉब्लम से आराम पा सकता है, जिसके कारण उसका मानसिक स्वास्थ्य भी धीरे-धीरे बेटर होने लगता है।

5. जब कोई व्यक्ति रोजाना मेडिटेशन करता है, तो ऐसा करने से उसकी बॉडी का इम्यून सिस्टम स्ट्रांग बनता है, क्योंकि जब आपका माइंड सही प्रकार से वर्क करता है, तो आपकी बॉडी के दूसरे कामों में भी सुधार हो जाता है, परिणामस्वरूप आपकी बॉडी में इंफेक्शन से लड़ने की शक्ति में इजाफा होता है।

निष्कर्ष

आशा है आपको Meditation Details In Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में Meditation Kaise Kare (How To do Meditation In Hindi) और मेडिटेशन कैसे बने? अगर इस बारे में आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को Meditation Kya Hota Hai के बारे में जानकारी मिल सके।

About Ainain

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.