लॉयर क्या होता है? Lawyer कैसे बने? जानिए Lawyer बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे लॉयर (Lawyer) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become Lawyer Details In Hindi) के बारे में क्योंकि जिंदगी में एक सक्सेसफुल व्यक्ति बनने का और बड़े होकर बड़ा आदमी बनने का सपना हर विद्यार्थी देखता है और अपने सपने को पूरा करने के लिए वह जी तोड़ मेहनत के साथ अपनी स्टडी करता है। क्योंकि जिंदगी में वही आदमी सक्सेसफुल कहलाता है, जिसके पास पैसा है और जिसके पास प्रसिद्धि है। सभी लोगों का इंटरेस्ट जिंदगी में कुछ ना कुछ अलग बनने का होता है।

कई विद्यार्थी अपनी जिंदगी में इंजीनियर बनना चाहते हैं, तो कोई डॉक्टर बनने की इच्छा रखता है, वहीं कई लोग ऐसे भी हैं, जो कानून की फील्ड में जाने के लिए लॉयर बनने की इच्छा रखते हैं। आज के इस लेख में जानेंगे कि Lawyer Kaise Bane, लॉयर बनने के लिए क्या करे, Lawyer Meaning In Hindi, Lawyer Kya Hota Hai, लॉयर बनने का तरीका, Lawyer Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

लॉयर किसे कहते हैं? – What is Lawyer Information in Hindi?

Lawyer Kaise Bane
Lawyer Kaise Bane

Lawyer को हिंदी भाषा में वकील कहा जाता है। लॉयर के पास कानून से संबंधित डिग्री होती है, जिसे वह लॉ से संबंधित कोर्स को पूरा करके प्राप्त करता है। डिग्री प्राप्त करने के बाद लॉयर अदालतों में मुकदमा लड़ने के काबिल हो जाता है। अगर सामान्य भाषा में कहें तो जब कोई व्यक्ति एलएलबी की पढ़ाई कंप्लीट कर लेता है, तो उसके बाद वह लॉयर बन जाता है।

लॉयर कैसे बने? – How to Become Lawyer?

Lawyer की नौकरी करना या फिर Lawyer बनना ज्यादा बड़ी बात नहीं है, हालांकि यह इतनी आसान बात भी नहीं है। Lawyer बनने के लिए आपको मेहनत तो करनी ही पड़ेगी। हर साल हमारे इंडिया में कई स्टूडेंट वकालत की पढ़ाई करते हैं और Lawyer  बनने में कामयाब होते हैं। Lawyer बनकर आप अदालत में वकालत कर सकते हैं और पीड़ित लोगों का केस लड़ सकते हैं।

लॉयर बनने के लिए क्या करें? – What to do to Become Lawyer?

ऐसे स्टूडेंट जो Lawyer बनना चाहते हैं या फिर भविष्य में लॉयर बनने के बारे में सोच रहे हैं, उन्हें यह इंफॉर्मेशन अवश्य होनी चाहिए कि Lawyer बनने की पूरी प्रोसेस क्या है या फिर Lawyer बनने के लिए क्या करना पड़ता है। नीचे आप जानेंगे कि लॉयर कैसे बने और लॉयर बनने की प्रक्रिया क्या है तथा लॉयर बनने के लिए आपको क्या करना पड़ेगा।

एलएलबी क्या है? – What is LLB?

एलएलबी का पूरा नाम Legum Baccalaureus होता है, जो कि लैटिन भाषा का शब्द है। सामान्य तौर पर एलएलबी का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ लॉ होगा है। यानी कि कानून में स्नातक। 12वीं कक्षा को पास करने के बाद आप एलएलबी के कोर्स में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं। अगर आप वकालत की फील्ड में जाना चाहते हैं और लॉयर बनना चाहते हैं, तो एलएलबी लॉयर बनने के लिए आपके लिए बेस्ट ऑप्शन रहेगा।

जो भी स्टूडेंट एलएलबी की पढ़ाई करते हैं, उन्हें इसकी पढ़ाई के अंदर कानून से रिलेटेड महत्वपूर्ण इंफॉर्मेशन की जानकारी पूरे विस्तार से दी जाती है। जब स्टूडेंट एलएलबी की पढ़ाई कंप्लीट कर लेते हैं, तो वह अदालत में लॉयर बन सकते हैं या फिर न्यायधीश की पोस्ट भी प्राप्त कर सकते हैं अथवा प्राइवेट प्रैक्टिस भी स्टार्ट कर सकते हैं।

एलएलबी कोर्स करने के लिए योग्यता – Eligibility For Doing LLB Course

आपकी इंफॉर्मेशन के लिए बता दें कि, एलएलबी 2 प्रकार का होता है जिसमें पहला है BA.LLB और दूसरा है LLB। अगर आप BA.LLB का कोर्स करना चाहते हैं, तो आप 12वीं कक्षा को कम से कम 50 परसेंट अंकों के साथ पास करके BA.LLB के कोर्स में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं, वहीं अगर आप एलएलबी का कोर्स करना चाहते हैं, तो इस कोर्स को करने के लिए आपको ग्रेजुएशन कंप्लीट करनी पड़ेगी।

ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद आप एलएलबी के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। बारहवीं कक्षा को आप किसी भी सब्जेक्ट के साथ पास कर सकते हैं और उसके बाद BA.LLB के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

एलएलबी कोर्स के लिए आयु सीमा – Age Limit for LLB Course

एलएलबी का कोर्स करने के लिए किसी भी प्रकार की एज लिमिट नहीं है, वहीं BA.LLB का कोर्स करने के लिए सामान्य वर्ग के स्टूडेंट के लिए कम से कम उम्र 20 साल तय की गई है, वहीं अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए कम से कम उम्र 22 साल तय की गई है। इंडिया में ऐसे कई कॉलेज है, जहां पर एलएलबी के कोर्स में एडमिशन पाने के पहले आपको एंट्रेंस एग्जाम देनी पड़ सकती है। एंट्रेंस एग्जाम को पास करने के बाद ही आपको एलएलबी के कोर्स में एडमिशन मिलता है।

लॉयर बनने की प्रक्रिया – Process to Become Lawyer

ऊपर हमने आपको बताया कि लॉयर क्या होता है। अब आप जानेंगे कि, लॉयर बनने के लिए कौन सी प्रक्रिया का पालन आपको करना पड़ता है।

1. सबसे पहले 12वीं कक्षा को पास करें

अगर आपको लॉयर बनना है अथवा आपको अदालत में Lawyer बनना है, तो उसके लिए सबसे पहले तो आपको 12वीं की कक्षा को पास करना पड़ेगा। बारहवीं की एग्जाम को आप किसी भी स्ट्रीम से पास कर सकते हैं, परंतु आपकी इंफॉर्मेशन के लिए बता दें कि, अगर आप Art के विद्यार्थी हैं, तो आपको कानून की एजुकेशन पाने में सरलता होगी। 12वीं की कक्षा को पास करने के बाद आपको किसी भी कानून से संबंधित डिग्री प्रदान करने वाले कॉलेज में एडमिशन लेना होगा‌

2. प्रवेश परीक्षा में शामिल हों और पास करें

कानून से संबंधित डिग्री प्रदान करने वाले कॉलेज में एडमिशन प्राप्त करने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम को भी पास करना पड़ता है। सामान्य तौर पर कानून से संबंधित कोर्स में एडमिशन प्राप्त करने के लिए आपको CLAT जैसी एंट्रेंस एग्जाम को पास करना पड़ता है। यह एग्जाम हमारे देश में बहुत ही पॉपुलर है।

अगर आप इस परीक्षा में शामिल होते हैं और इस एंट्रेंस एग्जाम को पास कर लेते हैं, तो उसके बाद आपको कानून से संबंधित डिग्री प्रदान करने वाले कॉलेज में एडमिशन प्राप्त हो सकता है। अगर आप इस एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे अंक लाते हैं, तो आपको गवर्नमेंट कॉलेज भी मिल सकता है, जहां से आप अपनी कानून की पढ़ाई पूरी कर सकते हैं और लॉयर बन सकते हैं।

3. अपना कोर्स कंप्लीट करें

एंट्रेंस एग्जाम को पास करने के बाद जब आपको कानून के कोर्स में एडमिशन प्राप्त हो जाए, तो उसके बाद आपको मेहनत के साथ और पूरा फोकस लगाकर अपनी डिग्री को कंप्लीट करना है।

4. इंटर्नशिप करें

अपनी कानून से संबंधित डिग्री को पूरा करने के बाद आपको इंटर्नशिप भी अवश्य करनी चाहिए। इंटर्नशिप करके आप प्रैक्टिकल इंफॉर्मेशन कानून से संबंधित प्राप्त कर सकते हैं। जब आप इंटर्नशिप करते हैं, तो उसके अंदर आपको कोर्ट के बारे में विभिन्न प्रकार की बातें सिखाई जाती हैं। जैसे आपको यह बताया जाता है कि कोर्ट में किसी केस की सुनवाई किस प्रकार की जाती है? कोर्ट में ड्राफ्टिंग कैसे होती हैं? दो अलग-अलग लॉयर आपस में बहस बाजी या फिर मुकदमा कैसे लड़ते हैं?कोर्ट के रूल ऑफ कंडक्ट क्या है इत्यादि।

5. स्टेट बार काउंसिल में एडमिशन ले

इंटर्नशिप पूरी करने के बाद भी अभी तक आप लॉयर नहीं बन सके हैं, क्योंकि Internship को पूरी करने के बाद आपको स्टेट बार काउंसिल में एडमिशन प्राप्त करना होता है। एडमिशन पाने के बाद आपको मेहनत करके स्टेट बार काउंसिल ऑफ इंडिया के द्वारा आयोजित करवाई जाने वाली एक एग्जाम में शामिल होना पड़ता है और उस एग्जाम को पास करना पड़ता है।

जब आप एग्जाम को पास कर लेते हैं, तो उसके बाद आपको अदालत में प्रैक्टिस करने के लिए एक सर्टिफिकेट प्रदान किया जाता है‌। उस सर्टिफिकेट को प्राप्त करते ही आप इंडिया के किसी भी कोर्ट में अपनी प्रेक्टिस चालू कर सकते हैं और लॉयर बनकर मुकदमें बाजी कर सकते हैं।

Lawyer बनने के बाद आप चाहे तो प्रयास करके गवर्नमेंट Lawyer बन सकते हैं। इसके अलावा आगे चलकर आप भविष्य में अदालत के जज भी बन सकते हैं या फिर आप चाहें तो वकालत में हायर डिग्री भी हासिल कर सकते हैं और प्रोफेसर की पोस्ट प्राप्त कर सकते हैं।

लॉयर बनने का कोर्स – Course to Become Lawyer

अगर आप 12वीं के बाद Lawyer बनना चाहते हैं तो आपको बीए एलएलबी का कोर्स करना पड़ता है, वहीं ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद अगर आप Lawyer बनना चाहते हैं, तो आपको एलएलबी का कोर्स करना पड़ता है, जिसे बैचलर ऑफ लो कहा जाता है।

वकील का वेतन – Salary of Lawyer

इंडिया में गवर्नमेंट जॉब वाले Lawyer को सालाना सैलरी के तौर पर तकरीबन 5,86,661 रुपए प्राप्त होते हैं, वहीं प्राइवेट Lawyer की कोई भी सैलरी नहीं होती है। वह अपनी इनकम मुकदमा लड़ के प्राप्त करते हैं। इसके अलावा कानून से संबंधित सलाह देकर या फिर अन्य काम करके वह अपनी इनकम प्राप्त करते हैं।

लॉयर बनने में कितना खर्चा आता है? – How much does it cost to become Lawyer?

लॉयर बनने के लिए सालाना तौर पर तकरीबन ₹30,000 से लेकर ₹80,000 तक लग सकते हैं। हालांकि गवर्नमेंट कॉलेज में Lawyer बनने की फीस कम होती है और प्राइवेट कॉलेज में आपको Lawyer बनने के लिए ज्यादा फीस भरनी पड़ सकती है। इसीलिए अधिकतर विद्यार्थी गवर्नमेंट कॉलेज में ही कानून की डिग्री हासिल करने के लिए एडमिशन प्राप्त करने की इच्छा रखते हैं और कोशिश करते हैं।

लॉयर बनने के फायदे – Benefits of Becoming a Lawyer

लोयर बन जाने के बाद आप अदालत में लोगों के मुकदमे लड़ सकते हैं। इस प्रकार आप मुकदमा लड़ने के बदले में लोगों से पैसे प्राप्त करते हैं। इसके अलावा आप लोगों को कानूनी सलाह देकर के भी पैसे कमा सकते हैं, साथ ही छोटे-मोटे डॉक्यूमेंट को पाने में लोगों की सहायता करके भी आप पैसे कमा सकते हैं। आप चाहे तो कानून से रिलेटेड अपनी खुद की वेबसाइट खोल सकते हैं और वहां पर कानून से संबंधित आर्टिकल लिख सकते हैं, यूट्यूब पर खुद का चैनल बनाकर उस पर कानून की धाराओं के बारे में ज्ञान बांटकर पैसा कमा सकते हैं।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Lawyer Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में Lawyer Kaise Bane (How To Become Lawyer In Hindi) और लॉयर कैसे बने? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Lawyer Kya Hota Hai बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

About Ainain

lawyerमैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.