लड़का कैसा पैदा होता है?

आज हम जानेंगे लड़का कैसा पैदा होता है की पूरी जानकारी के बारे में क्योंकि इंसानों को अपने वंश को आगे बढ़ाने के लिए आपस में संबंध बनाने की आवश्यकता होती है और यह तभी होता है जब उन्हें विपरीत लिंग का साथी मिले अर्थात अगर एक लड़के को अपना वंश आगे बढ़ाना है और उसे अपनी शादीशुदा जिंदगी बसानी है, तो उसे एक लड़की से शादी करनी होती है क्योंकि लड़की ही वह जरिया है जिसके जरिए वह अपने वंश को आगे बढ़ा सकता है,

साथ ही अपने जीवन साथी के साथ अपनी जिंदगी के सफर को काट सकता है परंतु यहां पर एक बात यह भी दुविधा वाली है कि बहुत से लोग लड़के तो चाहते परंतु वह यह नहीं चाहते हैं कि लड़कियां पैदा हो। ऐसे लोगों को छोटी सोच वाला इंसान कहां जाता है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Ladka Kaise Paida Hota Hai, लड़का कैसा पैदा होता है, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

लड़का पैदा कैसे होता है?

लड़का कैसा पैदा होता है
लड़का कैसा पैदा होता है

बता दें कि एक महिला जब प्रेग्नेंट होती है, तब यह उसके लिए काफी खुशी की बात होती है क्योंकि महिला काफी कष्ट सह करके ही अपने बच्चे को जन्म देती है। इसीलिए वह हमेशा खुश रहती है परंतु महिला की खुशी कुछ लोगों से इसलिए नहीं देखी जाती है क्योंकि कई बार लोग अल्ट्रासाउंड करवा करके यह पता कर लेते हैं कि महिला के पेट में लड़का पल रहा है या फिर लड़की पल रही है।

और जैसे ही उन्हें यह पता चलता है कि महिला के पेट में पलने वाली बच्ची लड़की है तो उनके हाव-भाव चेंज हो जाते हैं। वह लोग ऐसे रिएक्ट करने लगते हैं, जैसे महिला के पेट में लड़की नहीं कोई राक्षस पल रहा हो। यह इंसानों की छोटी सोच ही होती है और ऐसे इंसानों की गिनती इंसानों में कभी भी नहीं की जा सकती।

लड़कियों को मारने का कारण

लड़कियों को हमारे समाज में पैदा होते ही या फिर गर्भ में इसीलिए मार दिया जाता है क्योंकि कई परिवार ऐसे होते हैं जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होती है। ऐसे में अगर लड़की पैदा हो जाती है तो उन्हें यह टेंशन हो जाती है कि आगे चलकर के वह उसकी पढ़ाई लिखाई और उसकी शादी का खर्चा कैसे उठाएंगे। इसके अलावा कई परिवारों में लड़कियां पैदा नहीं होने देने का एक कारण यह भी है कि उन परिवारों में काफी रूढ़िवादी सोच के लोग रहते हैं जो यह नहीं चाहते हैं कि उनके परिवार में लड़कियों की संख्या ज्यादा हो।

ये भी पढ़ें : बच्चा कैसे पैदा होता है?

इसके अलावा लड़कियों को खत्म करने का एक कारण यह भी है कि बहुत से लोग लड़के की इच्छा रखते हैं और इसलिए बार-बार वह लड़के को पाने के प्रयास में जितनी भी लड़कियां पेट में आती है उन्हें खत्म कर देते हैं। इससे महिला के स्वास्थ्य पर भी काफी बुरा प्रभाव पड़ता है।

लड़का और लड़की में कोई फर्क नहीं करना चाहिए

हमें लड़का और लड़की में कोई भी भेद इसलिए नहीं करना चाहिए क्योंकि जिस प्रकार लड़का मां के पेट से पैदा होता है, उसी प्रकार लड़की भी मां के पेट से ही पैदा होती है। लड़का भी बिना कपड़े के ही मां के पेट से पैदा होता है और लड़की भी बिना कपड़े के ही मां के पेट से पैदा होती है।

इंसानों को यह बात अच्छे से समझ लेनी चाहिए कि अगर वह हमेशा लड़का ही चाहेंगे तो लड़कियां कहां से पैदा होगी और जब लड़कियां ही पैदा नहीं होगी तो उनके बेटे बड़े होने के बाद अविवाहित ही रह जाएंगे क्योंकि आखिर एक लड़के को शादी तो लड़के से ही करनी पड़ती है और जब लड़कियां नहीं होंगी तो ना तो उनकी शादी होगी ना ही उनका वंश आगे बढ़ेगा।

कई लोग तो यहां तक कहते हैं कि लड़कियां परिवार की नाक कटा देती है। अब ऐसे लोगों को कौन समझाए कि अगर आप उन्हें अच्छी परवरिश देंगे तो वह आपकी नाक नहीं कटाएंगी बल्कि वह आपकी नाक और ऊंची करेंगी। यह सब परवरिश का ही असर होता है कि आपकी संतान कैसे बनती है। अगर आपके घर में गंदा माहौल है या फिर आपके घर में हमेशा लड़ाई झगड़े होते रहते हैं, तो इसका असर आप की संतानों पर भी पड़ता है।

जिस प्रकार एक शराबी शराबियों की संगत में रहकर के शराब पीना सीख जाता है, उसी प्रकार आपकी संतान जैसी संगत में रहती है वैसा ही उसके ऊपर असर पड़ता है। अगर आप अपनी संतानों को अच्छी शिक्षा दें और उन्हें घर में अच्छा माहौल देंगे, तो लड़का क्या लड़की सभी एक आदर्श नागरिक बनेंगे और कभी भी अपनी जिंदगी में कोई भी गलत काम नहीं करेंगे।

लड़कियां बढ़ रही है आगे

जिस प्रकार लड़के देश और परिवार का नाम रोशन करते हैं, उसी प्रकार लड़कियां भी परिवार और देश का नाम रोशन करती है और इस बात की साबिती कई बार लड़कियां दे भी चुकी हैं। आपने शायद कल्पना चावला का नाम सुना होगा, यह एक ऐसी महिला थी, जिन्होंने अंतरिक्ष में भारत का नाम रोशन किया था। इसके अलावा साइना नेहवाल और सानिया मिर्जा जैसी महिलाओं ने बैडमिंटन की फील्ड में अपने परिवार और भारत का नाम रोशन किया। 

ये भी पढ़ें : सुबह जल्दी उठने के लिए क्या करें?

इसीलिए हम आपसे बार-बार कह रहे हैं कि लड़कियां अब किसी भी मामले में लड़कों से पीछे नहीं है। लड़कियों को खुद भी अपने आप को कम नहीं समझना चाहिए। उन्हें अपने ऊपर आत्मविश्वास  करके अपनी जिंदगी में हर वह चीज हासिल करने का प्रयास करना चाहिए जिसे वह पाना चाहती हैं फिर चाहे कोई उनका साथ दे या ना दे।

लड़कियों को आगे बढ़ने का मौका दें

जहां तक हमें पता है कि अब आपको यह बात अच्छी तरह से समझ में आ गई होगी कि लड़का और लड़की में कोई भी अंतर नहीं होता है। अगर लड़कियों को मौका दिया जाए तो वह भी अपने आप को साबित कर सकती हैं। अब एक आदर्श माता-पिता या फिर आदर्श व्यक्ति होने के नाते आपको लड़कियों को भी पूरा सपोर्ट करना चाहिए।

अगर कोई लड़की किसी फील्ड में जाने की इच्छा रखती है तो आपको उनका पूरा पूरा साथ देना चाहिए। हालांकि इसके साथ ही साथ उन्हें अच्छे और बुरे व्यवहार के बारे में भी बताना चाहिए ताकि वह अपने रास्ते से ना भटके। लड़कियां तभी बिगड़ती है जब उनकी संगत गलत लोगों के साथ पड़ जाती है या फिर वह मोबाइल में उल्टी सीधी चीजें देखना चालू कर देते हैं।

ऐसे में आपको उनके ऊपर निगरानी रखनी चाहिए, साथ ही साथ उनके साथ दोस्ताना व्यवहार रखना चाहिए। ऐसे में लड़कियां अपनी जिंदगी में आने वाली हर बात आपके साथ शेयर करेंगी। इससे आप यह जान सकेंगे कि वास्तव में उनके साथ कोई प्रॉब्लम है या नहीं और अगर उनके साथ कोई प्रॉब्लम है तो आप उसे समाधान करने का प्रयास करें।

लड़कियों को पेट में मारने का कारण क्या है?

रूढ़िवादी सोच

लड़का लड़की में भेदभाव का कारण क्या है?

विपरीत लिंग होना

गर्भ में लड़का है या लड़की है इसका पता कैसे लगाया जाता है?

अल्ट्रासाउंड के द्वारा

निष्कर्ष

आशा है आपको लड़का कैसे होता है के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में Ladka hone ke lakshan (baby boy Born in Hindi) और लड़का कैसा पैदा होता है को लेकर आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को Ladka karne ka tarika के बारे में जानकारी मिल सके।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा?

Leave a Comment