ब्लड कैंसर क्या होता है? ब्लड कैंसर के प्रकार, लक्षण, कारण और इसका इलाज क्या है?

आज हम जानेंगे ब्लड कैंसर की पूरी जानकारी (Blood Cancer in Hindi) के बारे में क्योंकि कैंसर का नाम सुनते ही अच्छे अच्छे नीडर लोग भी डर जाते हैं, क्योंकि कैंसर एक ऐसी बला है जिसके बारे में लोगों का ऐसा सोचना है कि अगर कोई व्यक्ति कैंसर की बीमारी से पीड़ित हो जाता है, तो उसका मरना निश्चित है, क्योंकि कैंसर का कोई इलाज नहीं है। बता दे कि, कैंसर के कई प्रकार हैं और इसीलिए हर प्रकार के कैंसर के लिए अलग-अलग इलाज उपलब्ध है।

बात करें अगर ब्लड कैंसर की तो यह बहुत ही घातक बीमारी है, जो सीधा इंसानी बॉडी में मौजूद खून को प्रभावित करती है। खून से संबंधित बीमारी होने के कारण यह खतरनाक बीमारी की कैटेगरी में रखी जाती है। इसीलिए इस बीमारी से परेशान व्यक्ति अत्याधिक चिंतित हो जाता है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Blood Cancer Treatment in Hindi, ब्लड कैंसर कैसा होता है, ब्लड कैंसर के लक्षण, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

ब्लड कैंसर क्या होता है? – What is Blood Cancer in Hindi

Contents show
Blood Cancer In Hindi
Blood Cancer In Hindi

ब्लड कैंसर को अगर हिंदी में ट्रांसलेट करें तो इसका मतलब होता है खून का कैंसर जिसका सीधा सा अर्थ यह है कि जब किसी व्यक्ति को खून का कैंसर यानी की Blood Cancer की समस्या होती है, तो यह उस व्यक्ति की बॉडी में खून को पैदा करने वाली जो कोशिकाएं होती है, उन्हें बुरी तरह से हानि पहुंचाता है जिसके कारण खून की पैदावार सही से नहीं होती है साथ ही खून अपना काम भी सही ढंग से नहीं कर पाता है।

बात करें अगर ब्लड कैंसर के चालू होने की तो इसकी स्टार्टिंग हमारी बॉडी के बोन मैरो से होती है और उसके बाद यह बॉडी के अन्य हिस्सों में फैलता है। रक्त कैंसर यानी कि Blood Cancer की प्रॉब्लम किसी भी एज के व्यक्ति को हो सकती है फिर चाहे वह महिला हो या फिर पुरुष हो। देखा जाए तो जिन महिला और पुरुष की उम्र 30 साल के ऊपर चली गई है उन्हें ब्लड कैंसर होने की संभावना अधिक होती है।

ब्लड कैंसर के प्रकार – Types of Blood Cancer in Hindi

ब्लड कैंसर निम्न प्रकार के होते हैं:

  1. ल्यूकेमिया : व्यक्ति की बॉडी में इस टाइप का ब्लड कैंसर तब पैदा होता है, जब उसकी बॉडी में सफेद रक्त कोशिकाएं अधिक मात्रा में पैदा होने लगती है।
  2. लिम्फोमा : इस टाइप का ब्लड कैंसर लिंफेटिक सिस्टम को नुकसान पहुंचाता है।
  3. माइलोमा : इस टाइप का कैंसर उन कोशिकाओं में होता है, जहां पर प्लाज्मा होता है।

ब्लड कैंसर के लक्षण क्या है? – Symptoms of Blood Cancer in Hindi

बता दें कि, जब किसी महिला या फिर पुरुष को ब्लड कैंसर की प्रॉब्लम हो जाती है तो उसे इसकी जानकारी काफी देर से होती है क्योंकि इसके जो लक्षण होते हैं वह सामान्य बीमारियों की तरह ही होते हैं। इसलिए लोग इस पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं और अत्याधिक दिक्कत होने पर जब वह डॉक्टर से टेस्ट करवाते हैं, तब Blood Cancer होने की पुष्टि होती है। कुछ संभावित ब्लड कैंसर के लक्षण हम आपको नीचे दे रहे हैं।

  • जी मिचलाना
  • उल्टी होना
  • हड्डियों का दर्द
  • ज्यादा पसीना आना
  • बजन घटना
  • कमर दर्द
  • भूख कम लगना
  • सिरदर्द
  • साँस लेने में प्रॉब्लम
  • इम्यूनिटी घटना
  • खून बहना
  • जल्दी घाव ठीक ना होना
  • मसूड़ों से खून आना
  • बुखार
  • ठंड लगना
  • थकान
  • सर दर्द
  • पेशाब करने में प्रॉब्लम
  • पेट दर्द

ब्लड कैंसर का कारण – Blood Cancer Causes in Hindi

हमारी बॉडी में मौजूद डीएनए एक ऐसा सब्जेक्ट है जिसके बारे में आम इंसान कुछ भी नहीं जानता है, क्योंकि यह बहुत ही गुढ सब्जेक्ट होता है। हमारी बॉडी के अंदर डीएनए में जब कोई गड़बड़ी होती है, तो अन्य समस्याओं के कारण ब्लड कैंसर भी बीमारी के तौर पर पैदा हो जाता है। मेडिकल रिसर्च के आधार पर ऐसे कई कारण सामने निकल कर के आए हैं, जो Blood Cancer होने के कारण होते हैं। उनमें से कुछ के नाम हम आपको नीचे दे रहे हैं।

  • कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता
  • एचआईवी
  • रेडिएशन के कांटेक्ट में आने के कारण
  • कीमोथेरेपी
  • नाइट्रेट युक्त वाटर का इस्तेमाल
  • अनुवांशिकता
  • अत्यधिक नशा करना

ब्लड कैंसर का इलाज क्या है? – Treatment of Blood Cancer in Hindi

ऐसा नहीं है कि सभी ब्लड कैंसर से पीड़ित व्यक्तियों को एक ही प्रकार की ट्रीटमेंट दी जाती है। सामान्य तौर पर देखा गया है कि जब किसी व्यक्ति को Blood Cancer की समस्या होती है, तो डॉक्टर उसकी ट्रीटमेंट इस आधार पर करता है कि उसका वजन, उसकी उम्र कितनी है, उसे कौन सा ब्लड कैंसर बॉडी के किस पार्ट में हुआ है और Blood Cancer अपना प्रभाव कितना अधिक फैला चुका है। ब्लड कैंसर की प्रॉब्लम होने के बाद डॉक्टर के द्वारा पेशेंट का इलाज करने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया को आवश्यकता के हिसाब से अपनाया जाता है।

1. स्टेम सेल ट्रांसप्लांटेशन

इस इलाज प्रक्रिया में सबसे पहले डॉक्टर के द्वारा ब्लड कैंसर से पीड़ित व्यक्ति के शरीर में मेडिकल प्रक्रिया का इस्तेमाल करके ऐसे ब्लड सेल को डाला जाता है जो स्वस्थ होते हैं। यह ब्लड सेल बॉडी में जाने के बाद सीधा उन ब्लड सेल पर डायरेक्ट अटैक करते हैं, जो खराब ब्लड सेल की कैटेगरी में आते हैं।

ये भी पढ़ें : पेट निकलने का कारण क्या होता है? पेट कम कैसे करे?

2. कीमोथेरेपी

बॉडी में उन सेल को बढ़ने से रोकने के लिए कीमोथेरेपी के अंतर्गत एंटी कैंसर दवा का इस्तेमाल किया जाता है जो कैंसर को बढ़ाने का काम करती हैं। इसमें कभी-कभी एक ही दवाई दी जाती है तो कभी कभी-कभी दवाइयों को मिक्स करके पेशेंट को दिया जाता है।

3. रेडिएशन थेरेपी

रेडिएशन थेरेपी के अंतर्गत सीधा कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं पर हमला किया जाता है और उनका खात्मा किया जाता है। इसके अलावा इसी थेरेपी का इस्तेमाल करके जो कोशिका दर्द पैदा करती है, उनका विनाश किया जाता है।

ब्लड कैंसर कैसे फैलता है? – How Blood Cancer Spread

सबसे पहले बॉडी में कैंसर ट्यूमर के आकार में पैदा होना चालू होता है और यह पहला स्टेज होता है। इसके बाद दूसरे स्टेज तक यह ऐसा ही रहता है। पहले और दूसरे स्टेज में ट्यूमर का साइज छोटा ही होता है परंतु जब तीसरा स्टेज आता है तब यह कैंसर का रूप ले चुका होता है और इस अवस्था में ट्यूमर का साइज पहले और दूसरे स्टेज की तुलना में थोड़ा सा बड़ा हो गया होता है।

ये भी पढ़ें : ईएसआर टेस्ट क्या होता है? ESR Test कैसे होता है?

तीसरे स्टेज में कैंसर जिस जगह पर पैदा हुआ होता है वहां से आगे निकलना चालू हो जाता है अर्थात यह शरीर के दूसरे पार्ट में भी अपना असर दिखाना चालू कर देता है और जब ब्लड कैंसर का चौथा स्टेज आता है, तब इसे ही कैंसर का आखिरी स्टेज कहा जाता है। इस स्टेज में बॉडी के कई पार्ट में ब्लड कैंसर फैल चुका होता है।

ब्लड कैंसर कैसे होता है?

जो महिलाएं और पुरुष से 30 साल की उम्र को पार कर लेते हैं उन्हें ब्लड कैंसर होने की संभावना अधिक होती है परंतु ऐसा नहीं है कि जो लोग 30 साल की पहले की उम्र के हैं उन्हें ब्लड कैंसर नहीं होगा। Blood Cancer एक ऐसी प्रॉब्लम है जो किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है।

बता दें कि ल्यूकेमिया एक ऐसा Blood Cancer है, जिसे नॉरमल ब्लड कैंसर कहा जाता है और जब यह इंसानी बॉडी में पैदा होता है, तो यह इंसानी बॉडी में खून की पैदावार को कम कर देता है अथवा यह खून की पैदावार को कंट्रोल करने लगता है जिसके कारण खून सही से नहीं बनता है और खून ना बनने के कारण इंसानी बॉडी में ब्लड की कमी हो जाती है।

ल्यूकेमिया खून की कमी तो बॉडी में करता ही है, साथ ही यह Bonemarrow को भी बहुत ही बुरी तरह से अपनी चपेट में ले लेता है और जब लंबे समय तक खून नहीं बनता है, तो इलाज ना मिल पाने की अवस्था में व्यक्ति की मौत हो जाती है।

ब्लड कैंसर के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

रक्त का कैंसर के उपचार क्या है?

स्टेम सेल ट्रांसप्लांटेशन, कीमो थेरेपी, रेडिएशन थेरेपी

ब्लड कैंसर में क्या खाना चाहिए?

ब्लड कैंसर में आपको विटामिन, मिनरल तथा प्रोटीन वाली चीजें खानी चाहिए।

ब्लड कैंसर में क्या परेशानी होती है?

Blood Cancer में आपकी बॉडी में खून नहीं बनता है जिससे आपको थकान, कमजोरी, बेचैनी महसूस होने लगती है। आपकी त्वचा सावली पड़ जाती है। इसके अलावा भी कई हानिकारक इफेक्ट आपको अपनी बॉडी पर दिखाई देते हैं।

कैंसर सर्जरी कितने रुपए की होती है?

यह हॉस्पिटल के हिसाब से अलग-अलग होता है। फिर भी सामान्य तौर पर इसका दाम ₹500000 से लेकर के ₹600000 के आसपास तक होता है।

क्या ब्लड कैंसर का इलाज मौजूद है?

जी हां ब्लड कैंसर की ट्रीटमेंट उपलब्ध है।

ब्लड कैंसर का कारण जल्दी पता क्यों नहीं चलता है?

इसके जो लक्षण होते हैं वह सामान्य बीमारियों की तरह ही होते हैं। इसीलिए कई लोग इसे नजरअंदाज करते हैं। इसीलिए उन्हें ब्लड कैंसर हुआ है या नहीं, इसकी जानकारी उन्हें नहीं हो पाती है।

निष्कर्ष

आशा है आपको ब्लड कैंसर के लक्षण के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में blood cancer kaise hota hai (Blood Cancer in Hindi) और ब्लड कैंसर क्या है और कैसे होता है को लेकर आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को blood cancer kaise hota hai में जानकारी मिल सके।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा?

मैं supportingainain ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️ Contact us via Email - [email protected]

Leave a Comment