करियर

बैंक मैनेजर क्या होता है? बैंक मैनेजर कैसे बने पूरी जानकारी? जानिए Bank Manager से जुड़ी पूरी जानकारी

आज हम जानेंगे बैंक मैनेजर कैसे बने की पूरी जानकारी (How to Become a Bank Manager in Hindi) के बारे में क्योंकि बैंक मैनेजर की नौकरी पाने की चाहत लोगों को इसलिए भी होती है क्योंकि इसमें शारीरिक मेहनत बहुत ही कम होती है। इसमें Bank Manager को जो भी काम करने होते हैं उसे एक ही जगह बैठ कर के ही अपने सारे काम करने होते हैं, वह भी ऐसी वाले कमरे में। इस प्रकार है ना तो उन्हें शारीरिक नुकसान होता है ना ही उन्हें ज्यादा यहां वहां दौड़ना पड़ता है।

हालांकि इनके ऊपर जिम्मेदारी तो होती है परंतु मेहनत के नजरिए से देखा जाए तो यह काफी कम मेहनत वाला काम है। इसलिए बैंक मैनेजर की पोस्ट वैसे ही लोग प्राप्त कर पाते हैं, जो संघर्षशील होते हैं और जो पढ़ाई करने में तेज होते हैं। यह नौकरी एक ऐसी नौकरी है, जो आपको अच्छी तनख्वाह देती है, साथ ही आपको समाज में सम्मान भी देती है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Bank Manager Kya Hota Hai, Bank Manager Kaise Bane, बैंक मैनेजर बनने के लिए योग्यता, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

बैंक मैनेजर क्या होता है? – What is Bank Manager in Hindi

Contents show
How To Become Bank Manager Information In Hindi
How To Become Bank Manager Information In Hindi

जिस प्रकार किसी डिपार्टमेंट के अंदर हर कर्मचारी के ऊपर कोई ना कोई कर्मचारी होता है उसी प्रकार बैंक में भी जितने कर्मचारी होते हैं उनका सुपीरियर कोई ना कोई होता है, परंतु बैंक में जितने भी कर्मचारी काम करते हैं, उन सब का सुपीरियर यानी कि मालिक बैंक मैनेजर ही होता है। किसी भी बैंक की ब्रांच में Bank Manager की पोस्ट सबसे ऊंची पोस्ट मानी जाती है जो काफी मेहनत करने के बाद ही प्राप्त होती है। अक्सर हाईली एजुकेटेड लोगों को ही बैंक मैनेजर बनने का मौका मिलता है।

इंडिया में बहुत सारी प्राइवेट बैंक है और बहुत सारी गवर्नमेंट बैंक है। सभी बैंकों में बैंक मैनेजर की पोस्ट पाने की प्रक्रिया अलग-अलग होती है। हालांकि सभी बैंकों में जब Bank Manager की पोस्ट की नोटिफिकेशन जारी की जाती है तो उसमें यह अवश्य कहा जाता है कि जो लोग हाईली एजुकेटेड है वही इस पोस्ट के लिए अप्लाई करें, क्योंकि यह बहुत ही जिम्मेदारी वाली पोस्ट मानी जाती है।

बैंक मैनेजर की सिग्नेचर होने के बाद ही बैंक में कोई भी फाइल पास होती है। खासतौर पर लोन जैसी फाइल को पास करने की जिम्मेदारी Bank Manager और फील्ड ऑफिसर की ही होती है। बैंक मैनेजर का बैंक में एक अलग केबिन होता है, जहां पर कोई भी अपनी समस्या को लेकर के जा सकता है। इनके पास एक एक्सेस आईडी होती है जिसके जरिए वह कोई भी बैंक से संबंधित काम 2 मिनट में ही कर सकते हैं।

बैंक मैनेजर बनने का कोर्स – Course to Become Bank Manager

बैंक मैनेजर की पोस्ट को पाने के लिए आपको कोई स्पेसिफिक कोर्स को नहीं करना होता है। 12वीं कक्षा पास करने के बाद आपको कॉमर्स के सब्जेक्ट से संबंधित कोई कोर्स करना होता है। अधिकतर लोग बी कॉम और एमकॉम जैसे कोर्स को करने के बाद Bank Manager की पोस्ट प्राप्त कर लेते हैं, क्योंकि जिन लोगों ने बीकॉम या फिर एमकॉम का कोर्स किया हुआ होता है अथवा जो लोग कॉमर्स बैकग्राउंड से तालुकात रखते हैं, वही लोग बैंक मैनेजर की पोस्ट पाने में जल्दी सफलता हासिल करते हैं।

बैंक मैनेजर बनने के लिए योग्यता – Qualifications to Become a Bank Manager

बैंक मैनेजर बनने हेतु आपको नीचे दी गई योग्यताओं को पूरा करना होगा।

  • बैंक में काम किस प्रकार से होता है, इसकी इंफॉर्मेशन होनी चाहिए।
  • मिनिमम एज 21 साल होनी चाहिए।
  • ग्रेजुएशन की डिग्री को 60 परसेंट के साथ पास किया हुआ होना चाहिए।
  • कैंडिडेट के ऊपर कोई भी क्रिमिनल केस नहीं होना चाहिए, ना ही उसके ऊपर कोई पुलिस केस होना चाहिए।
  • कैंडिडेट का चरित्र साफ होना चाहिए।
  • उसे इंग्लिश भाषा लिखने, पढ़ने और बोलना आना चाहिए।

बैंक मैनेजर बनने के लिए कौन सी परीक्षा होती है? – Exam to Become Bank Manager

जिस प्रकार अन्य डिपार्टमेंट में आदमी जब छोटे पद पर भर्ती होता है तब अपनी काबिलियत के दम पर वह धीरे-धीरे बड़े पद को प्राप्त करता है, उसी प्रकार कोई भी व्यक्ति अगर यह सोचता है कि वह किसी भी प्राइवेट या फिर गवर्नमेंट बैंक में डायरेक्ट Bank Manager की नौकरी प्राप्त कर लेगा तो यह संभव नहीं है। उसे स्टेप बाय स्टेप आगे बढ़ना होगा, तभी वह बैंक में बैंक मैनेजर की नौकरी प्राप्त कर सकता है।

बता दे कि बैंकिंग की फील्ड में नौकरी पाने के लिए आपको क्लर्क, ग्रुप ए या फिर पीओ की एग्जाम देनी होती है और इनकी पोस्ट को प्राप्त करना होता है और यह आपको तभी मिलती है, जब आप इंस्टिट्यूट ऑफ़ बैंकिंग पर्सनल सिलेक्शन की परीक्षा में शामिल होते हैं और इसे अच्छे अंकों के साथ पास कर लेते हैं।

बैंक मैनेजर बनने के लिए आयु सीमा – Age Limit to Become a Bank Manager

उम्मीदवार जो बैंक पीओ परीक्षा के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उनकी न्यूनतम आयु 20 वर्ष और अधिकतम आयु 30 वर्ष होनी चाहिए। एसटी/एससी वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 5 साल और ओबीसी श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए 3 साल की छूट है।

बैंक मैनेजर कैसे बने पूरी जानकारी? – How to Become a Bank Manager in Hindi

इस बात से तो आप अच्छी तरह से परिचित है कि वर्तमान के समय में इंडिया में जितनी भी नौकरी है, उन्हें पाने के लिए आदमी को स्टेप बाय स्टेप परीक्षा देनी पड़ती है और कुछ आवश्यक प्रक्रिया का पालन करना पड़ता है, साथ ही डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन करवाना पड़ता है, तब जाकर के उसे नौकरी मिलती है। नीचे आपको बैंक मैनेजर बनने की प्रक्रिया क्या है, इसकी जानकारी दी गई है।

1. प्रारंभिक एग्जाम को पास करें

प्रारंभिक एग्जाम को प्रिलिमनरी एक्जाम कहा जाता है, क्योंकि किसी भी परीक्षा में सबसे पहली बार में यही आयोजित होता है। यह परीक्षा थोड़ी सी आसान होती है। बैंक मैनेजर बनने के लिए आपको इस परीक्षा को पास करना अनिवार्य होता है, तो इस प्रकार से सबसे पहले इस परीक्षा को अच्छे अंकों के साथ पास करें।

2. मुख्य एग्जाम को पास करें

प्रीलिमिनरी एग्जाम को पास करने के बाद बारी आती है मुख्य परीक्षा में शामिल होने की। मुख्य परीक्षा प्रारंभिक एग्जाम हो जाने के बाद दो से तीन महीनों के बाद होती है। इसकी नोटिफिकेशन आपको संबंधित वेबसाइट पर मिल जाएगी। यह एग्जाम थोड़ी सी कठिन होती है। एक प्रकार से आप यह समझ ले की यही एग्जाम सबसे मुख्य एग्जाम होती है बैंक मैनेजर की पोस्ट पाने की।

3. इंटरव्यू पास करें

प्रारंभिक एग्जाम और मुख्य एग्जाम इन दो चरणों को पास करने के बाद आपकी बारी आती है इंटरव्यू में जाने की। यहां पर कई पढ़े-लिखे लोग होते हैं जो आपसे कुछ सवाल पूछते हैं और आपको अपना विवेक लगाकर के उन सवालों का सही जवाब देना पड़ता है। अगर आपके सवाल सही होते हैं तो इंटरव्यू की टीम के द्वारा आपको अंक दिए जाते हैं। इसके बाद अगर आपका सिलेक्शन बैंक मैनेजर की पोस्ट के लिए या फिर किसी अन्य पोस्ट के लिए होता है तो आपको फोन नंबर या फिर ईमेल के जरिए सूचित कर दिया जाता है।

बैंक मैनेजर के कार्य और जिम्मेदारियां – Work and Responsibilities of Bank Manager

  • बैंक मैनेजर बैंक में किसी भी ग्राहक से अभद्रता पूर्ण व्यवहार ना हो इसकी जिम्मेदारी निभाने का काम करता है।
  • यह ग्राहकों के लिए हमेशा नए-नए ऑफर लाते रहते हैं और ग्राहकों को उन ऑफर को लेने के लिए समझाते हैं।
  • Bank Manager बैंक के मैनेजमेंट को संभालने के लिए जिम्मेदार होता है।
  • किसी ग्राहक को अगर कोई समस्या है तो उसका निराकरण बैंक मैनेजर करता है।
  • बैंक को किस प्रकार से फायदे में लेकर जाना है, इसकी स्ट्रेटजी भी Bank Manager बैंक में काम करने वाले लोगों के साथ मिलकर के बनाता है।
  • बैंक नजर गवर्नमेंट के द्वारा आयोजित लोन मेले में लोन की रकम योग्य ग्राहकों को बाटने का काम करता है।
  • बैंक में किसी भी फाइल को पास करने की जिम्मेदारी बैंक मैनेजर के ऊपर ही होती है।
  • बैंक मैनेजर बैंक में काम करने वाले किसी भी अधिकारी के खराब वर्तन पर उसकी शिकायत अपने उच्च अधिकारियों से कर सकता है।
  • लोगों के लोन की फाइल को पास करने का काम Bank Manager ही करता है।

बैंक मैनेजर के परीक्षा का पैटर्न – Bank Manager Exam Pattern

परीक्षा पैटर्न में सबसे पहले बात करते हैं SBI PO परीक्षा की। यह परीक्षा 3 चरणों में आयोजित की जाती है। यह परीक्षा 100 अंकों की होती है जिसके लिए उम्मीदवार को 1 घंटे का समय दिया जाता है। इस परीक्षा में अंग्रेजी, गणित और रीजनिंग से जुड़े प्रश्न आएंगे। इस परीक्षा को पास करने के बाद परीक्षा का दूसरा चरण Mains का आता है। इस परीक्षा में 250 अंकों के प्रश्न होते हैं। इसमें 2 पेपर होते हैं, पहला ऑब्जेक्टिव टेस्ट का और दूसरा डिस्क्रिप्टिव टेस्ट का।

ऑब्जेक्टिव परीक्षा में 200 अंकों का पेपर होता है, जिसके लिए उम्मीदवार को 3 घंटे का समय दिया जाता है। इस परीक्षा में रीजनिंग और कंप्यूटर एप्टीट्यूड, डेटा एनालिसिस एंड इंटरप्रिटेशन, सामान्य ज्ञान / बैंकिंग और अंग्रेजी से संबंधित प्रश्न आते हैं। दूसरा पेपर Descriptive Test का होता है जो 50 अंकों का होता है। इसके लिए उम्मीदवार को 30 मिनट का समय दिया जाता है। इस पेपर में 2 सवालों के जवाब देने होते हैं। जिसमें एक पत्र और एक निबंध लिखना होता है। इसके बाद उम्मीदवार का ग्रुप डिस्कशन और इंटरव्यू होता है।

अब बात करते हैं IBPS परीक्षा की, इस परीक्षा में भी 3 चरण होते हैं। परीक्षा के पहले चरण में 100 अंकों के प्रश्न आते हैं और परीक्षा के विषय भी अंग्रेजी, रीजनिंग और गणित हैं। IBPS की मुख्य परीक्षा में दो पेपर होते हैं, ऑब्जेक्टिव टेस्ट और डिस्क्रिप्टिव टेस्ट। ऑब्जेक्टिव टेस्ट पेपर में रीजनिंग और कंप्यूटर एप्टीट्यूड, डेटा एनालिसिस और इंटरप्रिटेशन, जनरल / इकोनॉमी / बैंकिंग अवेयरनेस और इंग्लिश से संबंधित प्रश्न होते हैं। यह पेपर 200 अंकों का होता है, जिसके लिए उम्मीदवार को कुल 3 घंटे का समय दिया जाता है।

भारत में सरकारी बैंकों की सूची – List of Government Banks in India

  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • इंडियन बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
  • इलाहाबाद बैंक
  • केनरा बैंक
  • यूनियन बैंक
  • बैंक ऑफ इंडिया
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र
  • यूको बैंक
  • इंडियन ओवरसीज बैंक

भारत में निजी बैंकों की सूची – List of Private Banks in India

  • एक्सिस बैंक
  • बंधन बैंक
  • सीएसबी बैंक
  • सिटी बैंक
  • एचडीएफसी बैंक
  • एचडीबी बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • इंडसइंड बैंक
  • धनलक्ष्मी बैंक
  • फेडरल बैंक
  • आईडीबीआई बैंक
  • कोटक महिंद्रा बैंक
  • आरबीएल बैंक
  • यस बैंक

बैंक मैनेजर की सैलरी – Salary of Bank Manager

सालाना तौर पर एक बैंक मैनेजर को 7,83,135 रुपए प्रतिवर्ष की सैलरी मिलती है। यह तय सैलरी भी नहीं है, क्योंकि हर बैंक में सैलरी अलग-अलग होती है। गवर्नमेंट बैंक में कई लोगों को अच्छी सैलरी मिलती है तो कुछ लोगों को प्राइवेट बैंक में भी अच्छी सैलरी मिलती है। Bank Manager की पोस्ट पाने के लिए आपको सुबह से ही तैयारी करनी चालू कर देनी चाहिए और पूरा मन लगाकर IBPS की एग्जाम को पास करने की कोशिश करनी चाहिए।

बैंक मैनेजर से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

बैंक मैनेजर बनने के लिए 12वीं में कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए?

कॉमर्स का सब्जेक्ट

क्या कॉमर्स के सब्जेक्ट से 12वीं कक्षा पास करने के बाद बैंक मैनेजर बनने में आसानी होती है?

जी हां

Bank Manager को हिंदी में क्या कहते हैं?

बैंक प्रबंधक

बैंक मैनेजर बनने के लिए कंप्यूटर सीखना जरूरी है क्या?

हां

बैंक मैनेजर बनने के लिए अंग्रेजी आना क्यों आवश्यक है?

क्योंकि बैंकिंग के अधिकतर काम अंग्रेजी भाषा में ही होते हैं।

बैंक मैनेजर बनने के लिए कौन सी परीक्षा देनी पड़ती है?

बैंक पीओ अथवा इंस्टिट्यूट ऑफ पर्सनल बैंकिंग सिलेक्शन

बैंक मैनेजर के प्रकार क्या है?

प्राइवेट बैंक मैनेजर, गवर्नमेंट बैंक मैनेजर

निष्कर्ष

आशा है आपको बैंक मैनेजर क्या होता है के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में Bank Manager Kaise Bane (How to Become a Bank Manager in Hindi) और बैंक मैनेजर कैसे बने को लेकर आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को Bank Manager Kaise Bane के बारे में जानकारी मिल सके।

5/5 - (1 vote)
Ainain
मैं supportingainain ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️ Contact us via Email - ainain6971@gmail.com

मोबाइल नंबर से आधार कार्ड कैसे चेक करें?

Previous article

आईपी एड्रेस क्या होता है? IP Address के प्रकार, वर्जन, क्लास और उपयोग क्या है?

Next article

1 Comment

  1. Hindi anne se v chalega na bs english thori bahut ani chahiye na

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like