आयुष्मान कार्ड क्या होता है? आयुष्मान कार्ड कैसे बनवाएं? आयुष्मान कार्ड के क्या फायदे हैं?

आज हम जानेंगे आयुष्मान कार्ड क्या है और कैसे बनवाएं पूरी जानकारी (Ayushman Card in Hindi) के बारे में क्योंकि हमारे भारत देश के प्रधानमंत्री श्रीमान नरेंद्र मोदी जी के द्वारा देश के गरीबों को फायदा पहुंचाने के लिए विभिन्न प्रकार की योजना समय-समय पर लांच की जाती है, ताकि देश के गरीबों के जीवन स्तर में सुधार आ सके और वह भी हंसी खुशी अपनी जिंदगी व्यतीत कर सकें।

आयुष्मान भारत योजना भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हीं चलाई है जिसका उद्देश्य है देश के गरीबों को बेहतर इलाज प्रदान करना। कई ऐसे गरीब होते हैं जिनके पास अपना बेहतर इलाज करवाने के लिए पैसे नहीं होते हैं। ऐसे में उन्हें आयुष्मान भारत योजना के तहत आयुष्मान कार्ड दिया जाएगा, जिसके जरिए वह अच्छे से अच्छे हॉस्पिटल में अपना इलाज बिना किसी नगदी को दिए हुए करा सकेंगे।

आयुष्मान कार्ड क्या है? – What is Ayushman Card in Hindi?

Contents show
Ayushman Card In Hindi
Ayushman Card In Hindi

आयुष्मान कार्ड व्यक्ति को तब दिया जाता है जब वह आयुष्मान भारत योजना में अपना रजिस्ट्रेशन करवाता है। रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद उसके सभी डॉक्यूमेंट की जांच की जाती है और एलिजिबल पाए जाने पर उसे एक आयुष्मान कार्ड दिया जाता है। यह कार्ड तब काम आता है जब वह किसी अस्पताल में अपनी किसी बीमारी का इलाज करवाने के लिए जाता है।

इसी कार्ड को दिखाने पर अस्पताल उस व्यक्ति को अपने हॉस्पिटल में भर्ती करता है और फिर उसका इलाज बिल्कुल मुफ्त में किया जाता है। इस कार्ड में व्यक्ति का नाम फोटो और कुछ अन्य जानकारियां छपी हुई होती हैं। व्यक्ति का इलाज होने के बाद हॉस्पिटल के द्वारा सरकार को पैसे देने के लिए क्लेम किया जाता है।‌ इस प्रकार सरकार व्यक्ति के इलाज के पैसे अपनी तरफ से देती है।

जिन लोगों के पास आयुष्मान कार्ड मौजूद होता है, उन्हें बड़े अस्पतालों में ₹500000 तक का इलाज फ्री में करवाने की सुविधा प्राप्त होती है और आपकी जानकारी के लिए यह भी बता दें कि जिन लोगों के पास यह कार्ड मौजूद होता है उन्हें अपना इलाज करवाने के लिए पैसे नहीं देने पड़ते हैं। उनके इलाज के पैसे गवर्नमेंट भरती है।

आयुष्मान कार्ड के लिए पात्रता – Eligibility for Ayushman Card

इससे पहले कि आप आयुष्मान भारत योजना में अपने आप को रजिस्टर्ड करवा करके आयुष्मान गोल्डन कार्ड प्राप्त करने के बारे में सोचे, आपको यह भी जानना अति आवश्यक है कि भला ऐसे कौन से लोग हैं, जो इस योजना के लिए पात्रता रखते हैं। आयुष्मान कार्ड के लिए एलिजिबिलिटी का पैमाना क्या है, इसकी जानकारी नीचे दी गई है।

  • जो भी व्यक्ति इस योजना के अंतर्गत आयुष्मान गोल्डन कार्ड प्राप्त करना चाहते हैं, वह भारत के नागरिक होने चाहिए।
  • बीपीएल की कैटेगरी में आने वाले हर व्यक्ति इस योजना के लिए अप्लाई कर सकता है।
  • जिन लोगों के पास पक्का घर है, उन्हें आयुष्मान गोल्डन कार्ड का फायदा नहीं मिलेगा ना ही वह इस योजना में अप्लाई कर सकते हैं।
  • ऐसे लोग जो गवर्नमेंट नौकरी करते हैं उन्हें इस योजना का फायदा नहीं मिलेगा।
  • साल 2011 में हुई सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना का इस्तेमाल करके गवर्नमेंट आयुष्मान भारत योजना का लाभ एलिजिबल लोगों को देगी।
  • जिन लोगों ने इंडियन गवर्नमेंट की किसी भी घर बनाने की स्कीम का फायदा लिया है उन्हें इसका फायदा नहीं मिलेगा।

आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए आवश्यक दस्तावेज – Documents Required for making Ayushman Card

  • आधार कार्ड की फोटोकॉपी
  • राशन कार्ड की फोटो कॉपी
  • पैन कार्ड (आवश्यकता पड़ने पर)
  • वर्किंग ईमेल आईडी (आवश्यकता पड़ने पर)
  • पासपोर्ट साइज की 2 रंगीन फोटो
  • फोन नंबर

आयुष्मान कार्ड कैसे बनाये? – How to make Ayushman Card in Hindi

अगर आप आयुष्मान कार्ड प्राप्त करना चाहते हैं तो बता दे कि इसके लिए आपके पास दो रास्ते हैं। पहला यह कि आप जनसेवा जा करके अपना आयुष्मान कार्ड बनवाएं। दूसरा यह कि आप आयुष्मान भारत योजना के साथ रजिस्टर्ड हॉस्पिटल में जा करके अपना आयुष्मान कार्ड बनवाएं।

1. जन सेवा केंद्र के माध्यम से आयुष्मान कार्ड कैसे बनाये

अगर आप जन सेवा केंद्र से आयुष्मान कार्ड बनाना चाहते हैं तो आपको अपने सभी डॉक्यूमेंट को लेकर के जन सेवा केंद्र जाना होगा और वहां पर बैठे स्टाफ से आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए कहना होगा। इसके बाद स्टाफ के द्वारा आपके सभी ओरिजिनल डॉक्यूमेंट की फोटो कॉपी मांगी जाएगी और उसके बाद आधार कार्ड से आपकी डिटेल वेरीफाई की जाएगी

ये भी पढ़ें : गैस सब्सिडी क्या होता है? गैस सब्सिडी कैसे चेक करें?

और सभी प्रकार की जानकारियों को आप से पूछ करके ऑनलाइन भरा जाएगा और आपके डॉक्यूमेंट को भी अपलोड कर दिया जाएगा। इस प्रकार प्रक्रिया पूरी होने के बाद 7 से 10 दिनों के अंदर आपका आयुष्मान कार्ड बन करके आपके दिए गए एड्रेस पर आ जाएगा। जन सेवा केंद्र वाला व्यक्ति आपसे आयुष्मान कार्ड बनाने के बदले में ₹50 या फिर ₹100 तक का चार्ज ले सकता है।

2. पंजीकृत अस्पताल के माध्यम से आयुष्मान कार्ड कैसे बनाये

अगर आप शहरी इलाके में रहते हैं, तो आप आसानी से आयुष्मान भारत योजना के साथ रजिस्टर्ड हॉस्पिटल में जा करके अपना आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं। हालांकि यह ध्यान रखें कि जब आप हॉस्पिटल में आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए जाए तब आप अपने साथ अपने जरूरी डॉक्यूमेंट की फोटो कॉपी और ओरिजिनल डॉक्यूमेंट ले कर के भी अवश्य जाएं। रजिस्टर्ड हॉस्पिटल में जा कर के आप रिसेप्शन में बैठे हुए व्यक्ति से आयुष्मान कार्ड के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं।

आयुष्मान गोल्डन कार्ड के फायदे – Benefits of Ayushman Golden Card

जैसा कि आप जानते हैं कि हमारे भारत देश में ऐसे कई गरीब लोग हैं जिनके पास आपातकाल की स्थिति में अपना इलाज करवाने के लिए पैसे नहीं होते हैं और कई गरीब लोग तो इलाज के अभाव में अपनी जिंदगी से ही हाथ धो बैठते हैं। ऐसे में गवर्नमेंट ने इन गरीब लोगों की स्थिति का अंदाजा लगाया और उन्हें बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए संकल्प किया।

इसी के फलस्वरूप आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा किया गया। आयुष्मान भारत योजना में रजिस्टर्ड होने पर व्यक्ति को आयुष्मान गोल्डन कार्ड प्राप्त होता है जिस के फायदे निम्नानुसार हैं।

  • आयुष्मान गोल्डन कार्ड प्राप्त होने पर व्यक्ति आयुष्मान भारत योजना के साथ रजिस्टर्ड हॉस्पिटल में ₹500000 तक का इलाज बिल्कुल मुफ्त में करवा सकता है। इस प्रकार उसे इलाज के लिए पैसे कहां से आएंगे, इस बात से आजादी मिलती है।
  • फ्री इलाज होने के कारण व्यक्ति चिंता मुक्त हो जाता है।
  • इस योजना के अंतर्गत जिस व्यक्ति के पास आयुष्मान कार्ड होता है उसका इलाज रजिस्टर्ड हॉस्पिटल में किया जाता है और बाद में हॉस्पिटल गवर्नमेंट से उस इलाज के पैसे लेती है। इस प्रकार व्यक्ति को अपनी जेब से कुछ भी नहीं देना होता है।
  • आयुष्मान गोल्डन कार्ड मिल जाने के बाद व्यक्ति इस बात की चिंता से स्वतंत्र हो जाता है कि अगर उसे कोई बीमारी हो गई तो उसका इलाज कैसे होगा।

आयुष्मान कार्ड कैसे चेक करें बना है कि नहीं? – How to Check Ayushman Card?

आयुष्मान कार्ड के लिए अप्लाई करने के बाद 7 से 10 दिनों के अंदर यह आपके घर पर आ जाता है। इसके अलावा आप चाहे तो आयुष्मान कार्ड अप्लाई कर देने के 4 से 5 दिन के बाद ही जन सेवा केंद्र जा करके अपना आयुष्मान कार्ड चेक कर सकते हैं जिसकी प्रोसेस नीचे बताई गई है।

1. सबसे पहले https://connect.csc.gov.in/ को विजिट करें।

2. वेबसाइट पर पहुंचने के बाद यूजर आईडी और पासवर्ड की सहायता से लॉगिन करें।

3. अब होम पेज पर दिखाई दे रही अप्रूव्ड बेनिफिशियरी पर क्लिक करें।

4. अब तारीख का सिलेक्शन करें और सबमिट बटन को दबा दें।

5. अब आपको अपनी स्क्रीन पर अप्रूव्ड आयुष्मान गोल्डन कार्ड की लिस्ट दिखाई दे रही होगी।

6. अगर इस लिस्ट में आपका नाम होगा तो आपको जो Confirm Print का विकल्प दिखाई दे रहा है, उसे दबाना है।

7. अब आप सीएससी वॉलेट में जाएं और अपना पासवर्ड एंटर करें, उसके बाद वॉलेट पिन डालें। अब आप सीधा होम पेज पर चले जाएंगे।

8. अब आपको डाउनलोड कार्ड का ऑप्शन अपने नाम के ठीक सामने दिखाई दे रहा होगा उसे दबा दें।

इस प्रकार आप आयुष्मान गोल्डन कार्ड देख सकते हैं और उसे डाउनलोड कर सकते हैं।

आयुष्मान भारत योजना का उद्देश्य क्या है?

अपना इलाज करवाने के लिए पैसे ना हो पाने की अवस्था में इंडिया के जो गरीब लोग हैं वह अपना ट्रीटमेंट सही प्रकार से नहीं करवा पाते हैं। इस प्रकार या तो उनकी बीमारी से मृत्यु हो जाती है या फिर वह बीमारी के साथ ही कष्टमय जिंदगी बिताते हैं। ऐसे ही गरीब लोगों के लिए गवर्नमेंट ने आयुष्मान भारत योजना को इस उद्देश्य के साथ चालू किया है कि इंडिया का कोई भी व्यक्ति पैसे ना हो पाने की अवस्था में इलाज ना मिल पाने के कारण मृत्यु को प्राप्त ना हो।

ये भी पढ़ें : प्रधानमंत्री आवास योजना में अपना नाम कैसे देखें?

क्योंकि इंडिया में सभी लोगों को सम्मान से जीने का हक है। इसलिए गवर्नमेंट ने 500000 तक के मुफ्त इलाज की घोषणा आयुष्मान गोल्डन कार्ड को प्राप्त कर चुके लोगो के लिए की है, ताकि किसी गरीब परिवार के सर से उसके पिता का साया ना उठे या फिर किसी परिवार के कमाऊ व्यक्ति की मृत्यु ना हो।

आयुष्मान भारत योजना के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

आयुष्मान भारत योजना की ऑफिशियल वेबसाइट क्या है?

https://pmjay.gov.in/

आयुष्मान भारत योजना पूरे देश में कब चालू हुई?

25 सितंबर 2018

आयुष्मान कार्ड के जरिए कितने का इलाज फ्री में होगा?

500000 तक का इलाज

क्या कोई भी व्यक्ति आयुष्मान कार्ड बनवा सकता है ?

नहीं जो लोग इसके लिए पात्रता रखते हैं वही आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं। पात्रता की जानकारी हमने आर्टिकल में दी है।

आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए डॉक्यूमेंट कौन-कौन से लगेंगे?

आधार कार्ड, पैन कार्ड, राशन कार्ड, फोन नंबर, पासपोर्ट साइज की 2 रंगीन फोटो, ईमेल आईडी तथा अन्य डॉक्यूमेंट

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के तहत कौन से रोगों का इलाज करवा सकेंगे?

रोगो के बारे में पूरी इंफॉर्मेशन के लिए आपको आयुष्मान भारत योजना की वेबसाइट पर जाना होगा।

निष्कर्ष

आशा है आपको Press Reporter in Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में Ayushman Card Kaise Banta Hai (How to make Ayushman Card in Hindi) और आयुष्मान कार्ड कैसे बनता है? को लेकर आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को Ayushman Card Kya Hota Hai के बारे में जानकारी मिल सके।

4.7/5 - (3 votes)

मैं supportingainain ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️ Contact us via Email - [email protected]

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.