एम.फिल क्या है? M.Phil Course कैसे करें? Full Form, Qualification, Admission Process, Career, Salary, Fees, Entrance Exam, Scope आदि से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे एम.फिल कोर्स (M.Phil Course) कैसे करें पूरी जानकारी (How To Do M.Phil Course Details In Hindi) के बारे में क्यों की आज के समय में एजुकेशन को महत्व भी दिया जा रहा है और अच्छी कॉलेज भी उपलब्ध है। ऐसे में पिछले कुछ सालो से देखा गया है कि लोग सिर्फ 10 या 12 पास ही नहीं वलके ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन से आगे भी पढ़ना चाहते हैं। अगर आपने भी पोस्ट ग्रेजुएशन कंप्लीट कर दिया है और आप आगे भी पढ़ाई करना चाहते है तो आज का यह आर्टिकल आपके लिए है।

आज के इस लेख में जानेंगे कि M.Phil Course Kya Hota Hai, MPhil Course के लिए Qualifications, M.Phil Meaning In Hindi, M.Phil Course Kaise Karen, M.Phil Course के लिए Eligibility, MPhil Course के लिए Admission Process, एम.फिल कोर्स के लिए तैयारी कैसे करें, M.Phil Entrance Exams, MPhil Course की Fees, M.Phil Course करने के बाद Career & Scope, M.Phil Course के बाद Salary, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

एमफिल क्या होता है? – What is M.Phil (Master of Philosophy) Course Information in Hindi

MPhil Course details in hindi
MPhil Course details in hindi

M.Phil 2 साल का एक रिसर्च प्रोग्राम है जिसको आप Post graduation degree के बाद कर सकते है। M.Phil का कोर्स कोई भी कर सकता है सिर्फ आपके पास Science, Commerce या Arts के विषय में पोस्टग्रेजुएशन डिग्री होने चाहिए, उसके बाद कोई भी कैंडिडेट एमफिल कोर्स कर सकता है।

एमफिल के कोर्स सिर्फ Theory या lecture नहीं होता है। बल्कि इसमें आपको थ्योरी के साथ साथ प्रैक्टिकल विषय भी आते है और यहां पर कैंडिडेट को खुद से रिसर्च करना होता है और जो रिसर्च में पाया है उसको present भी करना होता है। यदि कोई कैंडिडेट पीएचडी करना चाहता है, तो M.Phil कोर्स करने के बाद वह पीएचडी भी कर सकता है।

M.Phil का फुल फॉर्म क्या होता है? – What Is M.Phil Full Form In Hindi?

M.Phil का Full Form Master of Philosophy होता है। हिंदी में M.Phil का फुल फॉर्म मास्टर ऑफ़ फ़िलॉसफ़ी होता है।

एमफिल के लिए योग्यता – Qualification For M.Phil

  • इच्छुक उम्मीदवारों के पास किसी भी विषय में मास्टर डिग्री होनी चाहिए।
  • उम्मीदवारों को M.Phil के लिए चुने गए विषय में 55% अंक प्राप्त करने की आवश्यकता है। यह percentage अलग-अलग Institute पर vary करता है।
  • यदि उम्मीदवार Net, set, gate, ugc-jrf या किसी राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा में उत्तीर्ण हुआ है तो कुछ institute’s में छूट मिल जाती है।
  • अगर उम्मीदवार M.Phil में distance learning से admission लेना चाहते है तो इसके लिए अलग अलग Institutes पर अलग अलग eligibility criteria होती है एडमिशन लेने के लिए

एम.फिल में प्रवेश कैसे प्राप्त करें – How to Get Admission in M.Phil

एमफिल कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम जैसे कि नेट, सेट ,गेट , यूजीसी-जेआरएफ जैसी परीक्षा देना होता है जिसमें पास होने के बाद इंटरव्यू क्लियर करना होता है। इंटरव्यू क्लियर करने वाले स्टूडेंट्स एमफिल की 4 साल की पढ़ाई करने के योग्य होते हैं। NET/SET एग्जाम क्लियर करने वाले उम्मीदवार को एंट्रेंस एग्जाम देने की जरुरत नहीं है।

एमफिल कोर्स की फीस? – M.Phil Course Fee

mphil course की Fees आम तौर पर एक साल के लिए ₹40,000 होती है और 2 साल के लिए ₹80,000 से लेकर 1 लाख तक जा सकती है। फिर भी आप अपने कॉलेज में जरुर से पता कर ले क्यों की यह अलग-अलग कॉलेज के उपर निर्भर है।

एमफिल कोर्स पाठ्यक्रम की अवधि – M.Phil Course Duration

एमफिल कोर्स 2 years का होता है जिसमे 4 सेमेस्टर होते है। जिसमें थियरी के साथ साथ प्रैक्टिकल विषय भी आपको पढ़ने होते है।

Semester 1 – 4 courses + Seminar
Semester 2 – 3 courses + First stage of the dissertation
Semester 3 – 1 course + R & D project
Semester 4 – Second and third stages of the dissertation

एमफिल परीक्षा के सिलेबस – M.Phil Course Syllabus

M.Phil Syllabus (Year I) – Philosophical Foundations of the subject, Advanced Research Methodology and Research in the subject of study, Analysis and domain study, Elective subject-I, Study of origin and development of the subject, Study of relative discipline to the subject of study

M.Phil Syllabus (Year II) – Computer Applications in the domain of subject, Dissertation, Viva-Voce Examination, Elective subject-II, Exercise /Practical work

एम.फिल स्पेशलाइजेशन कोर्स – M.Phil Specialization Course

हमने निचे subject के लिस्ट दिये है जिसमे आप Specialization कर सकते है।

  • M.Phil. Commerce
  • M.Phil. Physical Education
  • M.Phil. Education
  • M.Phil. Management
  • M.Phil. Mathematics
  • M.Phil. Statistics
  • M.Phil. Physics
  • M.Phil. Chemistry
  • M.Phil. Biotechnology
  • M.Phil. Computer Science
  • M.Phil. Information Technology
  • M.Phil. Geo-Marine Technology
  • M.Phil. Marine Biotechnology
  • M.Phil. Microbial Technology
  • M.Phil. Coastal Aquaculture
  • M.Phil Zoology
  • M.Phil Physics-Specialization in Renewable Energy Science
  • M.Phil. English
  • M.Phil. History
  • M.Phil. Economics
  • M.Phil. Sociology
  • M.Phil. Communication

एमफिल कोर्स की फीस – M.Phil Course Fees

Master of Philosophy (Mphil) course की औसत fees ₹2,000 से ₹1,00,000 लाख प्रति वर्ष के बीच होती है। हालांकि यह फीस Institute, College or University के आधार पर भिन्न हो सकता है। एक बार खुद से अपने कॉलेज से पूछ ले तो बेहतर होगा।

एम.फिल कोर्स के फायदे – Benefits of M.Phil Course

  • यह आपको किसी specific विषय में specialize बनाएगा।
  • mphil की डिग्री हासिल करने पर आप lecturer भी बन सकते हैं।
  • जब आप पीएचडी करेंगे तब mphil बहुत सहायता करेगा।
  • जिस विषय में आप एमफिल करेंगे, उससे विषय में आत्मविश्वास बढ़ेगा।

एमफिल के बाद नौकरी और कैरियर का अवसर – Job and Career Opportunity After M.Phil

एमफिल करने के बाद आपके पास बहुत सारे रास्ते और अच्छे करियर हैं जो आपके भविष्य को अच्छा बना सकते हैं। यहां मैंने कुछ Career की Opportunity के बारे में बताया है जिसे आप एमफिल का कोर्स करने के बाद फायदा उठा सकते हैं।

एमफिल करने के बाद आप Research and Development Institutes, Magazines, News Papers and Publishing Houses, Human Service Industry में आप एक एक्सपर्ट के तौर पर काम कर सकते है।

सिर्फ यही नहीं एमफिल कोर्स करने के बाद आपको पढ़ने का शौख है तो आप एक टीचर और लेक्चरर के तौर पर भी काम कर सकते है। एमफिल कोर्स करने के बाद आप एक Speaker, Human Services Worker, Scientist या Editor का Job भी कर सकते है, जो एक अच्छा कैरियर है।

एमफिल कोर्स के बाद वेतन – Salary after MPhil Course

mphil course करने के बाद Starting में Average Salary हर महीने ₹20,000 से लेकर ₹30,000 तक हो सकती है। लेकिन फिर भी यह आपके विषय पर निर्भर करता है और आप कौन से फ़ील्ड में काम करते है।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको MPhil Course Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में MPhil Kya Hota Hai? (What Is Master of Philosophy Course In Hindi) और एमफिल कोर्स कैसे करे? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि MPhil Course Kaise karen बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

About Ainain

mphilमैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

24 thoughts on “एम.फिल क्या है? M.Phil Course कैसे करें? Full Form, Qualification, Admission Process, Career, Salary, Fees, Entrance Exam, Scope आदि से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में”

  1. Mujhe iss sal me m.phill karna he..mera m.A m.A English SUBJECT se complete he…but me e abhi tk koi entrance exam nahi dii he..so mujhe admission mil sakta h..??

    Reply
  2. Sir/ madam
    Maine BBA k bad M.a ( eco.) m kiya hai….or abhi me b.ed kr rhe hu……to kya m in future p.hd kar sakte hu…..or kaise
    Plz reply

    Reply
    • Jasveer जी आप b.ed के बाद [.hd कर सकते है इसमें कोई दिक्कत नहीं है

      लेकिन Jasveer Kaur जी आपको comment section में बताना मुमकिन नहीं है की आप B.Ed के बाद P.hd कैसे करें?, इसके लिए अलग से पोस्ट लिखना पढ़ जायेगा

      Reply
    • देखिये Anu जी आपको अपनी जिंदगी में क्या करना है ये decisions आपको खुद से लेना होगा, ये आप की जिंदगी है खुद सोचे समझे की क्या मेरे लिए बेहतर हो फिर आप आगे बढे|

      किसी के कहने पर अपनी जिंदगी के फैसले न ले, धन्यवाद …..!!!

      Reply
    • जी बिल्कुल आप हिंदी में m phil कर सकते है। कोई दिक्कत वाली बात नहीं है।

      Reply
  3. मुझे एम फिल करना है ,मैने एम.ए.एमएड तक किया है.एम ए मे मुझे 48% है और एम एड मे 56% मार्क्स है.

    Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.