आर्मी मेजर क्या होता है? आर्मी में मेजर कैसे बने? जानिए Army Me Major बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे आर्मी में मेजर (Army Me Major) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become Army Major In Hindi) के बारे में क्योंकि बॉर्डर पर खड़े रहकर साल के 365 दिन हमारी हिफाजत करने वाली हमारी देश की आर्मी की गिनती दुनिया की सबसे शक्तिशाली आर्मी में होती है। इस समय हमारे भारत देश में टोटल 13 लाख आर्मी के जवान आर्मी की अलग-अलग बटालियन में अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं। इंडिया में जिस प्रकार अधिकतर लोगों का सपना पुलिस में जाने का होता है, वैसे ही अधिकतर लोग भारत देश की सेवा करने के लिए आर्मी में जाने का सपना भी देखते हैं।

हालांकि आर्मी में जाना इतना ज्यादा आसान नहीं होता है परंतु अगर व्यक्ति अपने मन से यह ठान लेता है कि उसे आर्मी में भर्ती होना ही है तो निश्चित तौर पर वह आर्मी में भर्ती की तमाम प्रक्रिया को पूरी करके आर्मी में भर्ती हो जाता है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Army Me Major Kaise Bane, आर्मी में मेजर बनने के लिए क्या करे, Army Major Kya Hota Hai, आर्मी में मेजर बनने का तरीका, Army Me Major Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

आर्मी मेजर क्या होता है? – What is Army Major Information in Hindi?

विषय-सूची

Army Me Major Kaise Bane
Army Me Major Kaise Bane

इंडियन आर्मी में मेजर की पोस्ट काफी सम्मानजनक और प्रतिष्ठित रैंक वाली पोस्ट मानी जाती है। आपकी इंफॉर्मेशन के लिए बता दें कि, लेफ्टिनेंट से 2 अंक ऊपर और कैप्टन से एक रैंक ऊपर इंडियन आर्मी में मेजर की रैंक होती है। इंडियन आर्मी का मेजर डिफरेंट टाइप की रणनीतिक भूमिकाओं के लिए जिम्मेदार होता है और यह मिलिट्री यूनिट को निर्देशन देने का काम करता है।

एक मेजर की भूमिका बहुत ही चैलेंजिंग होती है, क्योंकि मेजर की यूनिट में काम करने वाले सभी सैनिक मेजर के आदेश का पालन करते हैं। इसलिए मेजर बनने के लिए व्यक्ति को इंटेलिजेंट और तेज डिसीजन लेने वाला होना चाहिए।

आर्मी में मेजर कैसे बने? – How to become Major in Army

आर्मी में सिर्फ एक ही पोस्ट नहीं होती है, बल्कि अलग-अलग पोस्ट होती है और आर्मी में अलग-अलग पोस्ट के लिए अलग-अलग क्वालिफिकेशन मांगी जाती है। जैसे अगर आपको आर्मी में बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स यानी कि, BSF की नौकरी करनी है, तो इसके लिए आपका 10 वीं या फिर 12वीं कक्षा पास होना आवश्यक है। इसके अलावा अगर आपको आर्मी में बावर्ची बनना है, तो भी आपको 10वीं, 12वीं कक्षा पास होना जरूरी है। वही आर्मी में कुछ ऐसे पद भी होते हैं जिसके लिए आपको ग्रेजुएट होना जरूरी है।

आर्मी में मेजर बनने के लिए क्या करें? – What to do to become Major in the Army?

अगर आपको आर्मी में मेजर बनना है तो आपको इस बात की इंफॉर्मेशन होनी चाहिए कि आर्मी में मेजर बनने के लिए क्या करना पड़ता है अथवा आर्मी में मेजर बनने के लिए कौन सी योग्यताएं आपके अंदर होनी चाहिए। इस पेज पर आपको इस बात की इंफॉर्मेशन प्राप्त होगी कि आर्मी में मेजर कैसे बने और आर्मी में मेजर बनने के लिए क्या-क्या करना पड़ता है।

आर्मी में मेजर कैसे बनते हैं? – How do I become Major in the Army?

आपकी इंफॉर्मेशन के लिए बता दें कि, अगर आप इंडियन आर्मी में मेजर की पोस्ट प्राप्त करना चाहते हैं, तो मेजर की पोस्ट प्राप्त करने के लिए आप दो तरीके से प्रयास कर सकते हैं, जिसमें पहले वाले तरीके में आप नेशनल डिफेंस एकेडमी को ज्वाइन कर सकते हैं और दूसरे वाले तरीके में आप कंबाइंड डिफेंस सर्विस ज्वाइन कर सकते हैं। अभ्यर्थियों को NDA या फिर कंबाइंड डिफेंस सर्विसेज जॉइन करने के लिए हर साल मे दो बार यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा करवाई जाने वाली एग्जाम में शामिल होना पड़ता है और इस एग्जाम को अच्छे परसेंट के साथ पास करना पड़ता है।

संघ लोक सेवा आयोग यानी कि यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन आर्मी में मेजर बनने के लिए एग्जाम का आयोजन करवाता है। इसलिए आपको यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन के बारे में और आर्मी में मेजर बनने के सिलेबस के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए।

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के माध्यम से सेना में मेजर कैसे बनें? – How to become Major in Army through National Defense Academy?

अगर आप नेशनल डिफेंस एकेडमी के द्वारा आर्मी में मेजर बनना चाहते हैं, तो आपको यह पता होना चाहिए कि एनडीए से आर्मी में मेजर कैसे बनते हैं। एनडीए से आर्मी में मेजर बनने की जानकारी इस प्रकार है।

1. शिक्षा

इंडियन आर्मी में मेजर की पोस्ट प्राप्त करने के लिए उम्मीदवारों को हमारे देश के किसी भी विद्यालय से 12वीं की कक्षा को पास करना जरूरी है। विद्यार्थी अपनी 12वीं की कक्षा को किसी भी स्ट्रीम से पास कर सकते हैं।

2. आयु सीमा:

एनडीए से आर्मी में मेजर की पोस्ट प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थी की उम्र साढे 17 साल से लेकर 19 साल के बीच होनी चाहिए‌

3. शारीरिक मानदंड:

  • एनडीए से आर्मी में मेजर की पोस्ट प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थी का शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना जरूरी है।
  • उसकी आंखें बिल्कुल स्वस्थ होनी चाहिए।
  • उसे कलर ब्लाइंडनेस नहीं होनी चाहिए।
  • उसके दोनों घुटने आपस में जॉइंट नहीं होने चाहिए।
  • उसे ऐसी कोई भी समस्या नहीं होनी चाहिए, जो ड्यूटी करने के दरमियान प्रॉब्लम उत्पन्न करें।
  • अभ्यार्थी का वजन कम से कम 50 किलो या फिर उससे ज्यादा होना चाहिए।
  • अभ्यर्थी के सीने का माप 80 या फिर 85 सेंटीमीटर होना चाहिए।
  • अभ्यर्थी की आंखों का वजन 6/6 होना चाहिए।
  • अभ्यर्थी ज्यादा मोटापे का शिकार नहीं होना चाहिए।
  • अभ्यर्थी की लंबाई 157 सेंटीमीटर होनी चाहिए।

मेजर बनने की चयन प्रक्रिया – Selection Process to Become Major

एनडीए की परीक्षा में आपको दो सब्जेक्ट से संबंधित प्रश्नपत्र हल करने होंगे वह सब्जेक्ट होंगे सामान्य योग्यता और गणित। इसमें हर सब्जेक्ट के क्वेश्चन पेपर को सॉल्व करने के लिए आपको 2 घंटे का समय दिया जाएगा। गणित का पेपर टोटल 300 अंकों का होगा और सामान्य योग्यता का क्वेश्चन पेपर टोटल 600 अंकों का होगा। यह दोनों क्वेश्चन पेपर ऑब्जेक्टिव टाइप के होंगे।

जो अभ्यर्थी इस एग्जाम को पास कर लेंगे, उन्हें एग्जाम को पास करने के बाद एसएसबी बोर्ड के लिए बुलाया जाएगा, जिसमें 2 चरण होते हैं, जिसमें जो अभ्यर्थी पहले चरण को पार कर लेता है, उन्हें ही दूसरे चरण की एग्जाम में बैठने की परमिशन मिलती है। दूसरे चरण को पास करने के बाद आपको आर्मी में लेफ्टिनेंट की पोस्ट प्राप्त हो जाती है। इसके बाद तकरीबन 10 से 11 साल तक आर्मी में सेवा देने के बाद आपको प्रमोशन देकर के मेजर बना दिया जाता है।

सम्मिलित रक्षा सेवा परीक्षा के माध्यम से सेना में मेजर कैसे बनें? – How to Become Major in Army through Combined Defence Services?

अगर आप Combined Defence Services (CDS) के द्वारा आर्मी में मेजर बनना चाहते हैं, तो आपको यह पता होना चाहिए कि कंबाइंड डिफेंस सर्विस से आर्मी में मेजर कैसे बनते हैं। सीडीएस से आर्मी में मेजर बनने की जानकारी इस प्रकार है।

1. शिक्षा

ऐसे अभ्यर्थी, जो कंबाइंड डिफेंस सर्विस से इंडियन आर्मी में मेजर की पोस्ट प्राप्त करना चाहते हैं, उन्हें इसके लिए अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री को हमारे भारत देश के किसी भी इंस्टीट्यूट से कंप्लीट करना होगा। बेहतर होगा कि अभ्यर्थी सर्टिसाइड इंस्टीट्यूट से ग्रेजुएशन की डिग्री कंप्लीट करें।

2. आयु सीमा

कंबाइंड डिफेंस सर्विस के द्वारा इंडियन आर्मी में मेजर की पोस्ट प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थियों की उम्र कम से कम 19 साल और ज्यादा से ज्यादा 24 साल होनी चाहिए।

3. चयन प्रक्रिया

कंबाइंड डिफेंस सर्विस की लिखित एग्जाम में अभ्यर्थियों से जनरल नॉलेज अंग्रेजी लैंग्वेज और एलिमेंट्री मैथमेटिक्स के सब्जेक्ट से संबंधित ऑब्जेक्टिव टाइप के क्वेश्चन पूछे जाते हैं और परीक्षा कमेटी के द्वारा अभ्यर्थियों को इस एग्जाम को देने के लिए टोटल 2 घंटे का समय दिया जाता है। अभ्यर्थियों को 2 घंटे के टाइम लिमिट में ही क्वेश्चन पेपर को सॉल्व करना होता है क्वेश्चन पेपर के लिए अधिकतम 100 अंक तय होते हैं जो अभ्यर्थी लिखित परीक्षा को पास कर लेते हैं उन्हें लिखित परीक्षा को पास करने के बाद इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

एसएसबी में टोटल 2 स्टेज होते हैं

जिसमें जो अभ्यर्थी स्टेज 1 को पास कर लेते हैं, उन्हें इसके बाद stage-2 की एग्जाम के लिए बुलाया जाता है।

आर्मी मेजर बनने के फायदे क्या हैंआर्मी मेजर की पोस्ट प्राप्त करके आप इंडियन आर्मी में भर्ती हो सकते हैं, जो कि एक गवर्नमेंट जॉब होती है। आर्मी मेजर बन करके आप भारत देश की सेवा कर सकते हैं और दुश्मन देश से भारत की सुरक्षा कर सकते हैं। इसके अलावा आप एक अच्छी सैलरी के हकदार भी बन सकते हैं, क्योंकि गवर्नमेंट जॉब होने के कारण आपको अच्छी सैलरी मिलती है।

जब आप आर्मी मेजर की पोस्ट से रिटायर होंगे, तो आप इंडियन आर्मी में भर्ती होने की इच्छा रखने वाले जवान लड़के और लड़कियों को इंडियन आर्मी में भर्ती होने के लिए आवश्यक टिप्स भी दे सकते हैं या फिर यूट्यूब चैनल ओपन करके उस पर आप इंडियन आर्मी में कैसे भर्ती हुआ जाता है, इसकी प्रक्रिया भी बता सकते हैं।

सेना अधिकारी को कौन से भत्ते दिए जाते हैं? – Allowances of Army Officers

अच्छी सैलरी प्राप्त होने के साथ ही साथ एक आर्मी ऑफिसर को विभिन्न प्रकार के भत्ते भी प्राप्त होते हैं। जैसे कि उसे ट्रांसपोर्ट एलाउंस, हाउस रेंट अलाउंस, डीयरनेस अलाउंस मिलता है। इन सभी प्रकार के भत्तों के लिए एक निश्चित नियम होते हैं और यह राज्य तथा क्षेत्र के हिसाब से अलग-अलग भी हो सकते हैं।

आर्मी मेजर को कितनी सैलरी मिलती है? – Salary of Army Major

आपकी इंफॉर्मेशन के लिए बता दें कि, आर्मी मेजर की सैलरी आधिकारिक पे बैंड के आधार पर तय होती है और हर आर्मी ऑफिसर की सैलरी उसकी रैंक या फिर उसके ग्रेड के हिसाब से अलग-अलग होती हैं। आर्मी ऑफिसर की पोस्ट इंडियन आर्मी में एक ऊंची पोस्ट मानी जाती है। इसीलिए आज के टाइम में इनकी महीने की सैलरी तकरीबन ₹55,000 से लेकर ₹90,000 के आसपास तक होती है।

निष्कर्ष

आशा है आपको Army Majorr Details In Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में Army Me Major Kaise Bane (How To Become Army Major In Hindi) और आर्मी में मेजर कैसे बने? को लेकर आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को Army Major Kya Hota Hai के बारे में जानकारी मिल सके।

About Ainain

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.