एसीपी अधिकारी क्या होता है? ACP Officer कैसे बने? जानिए ACP Officer Kaise Bane से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे एसीपी अधिकारी (ACP Officer) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become ACP Officer In Hindi) के बारे में क्योंकि हमारे देश के लोगों को पुलिस की नौकरी बहुत ज्यादा पसंद होती है, क्योंकि पुलिस की नौकरी एक ऐसी नौकरी होती है,जिसमें व्यक्ति को अच्छी सैलरी तो मिलती ही है, साथ ही इस नौकरी की जो सबसे खास बात यह है कि इसमें व्यक्ति को सरकारी पावर भी मिल जाती है जिसके कारण जो व्यक्ति पुलिस के पद पर पोस्टेड होता है, उसके ठाट बाट देखते ही बनते हैं।

इंडियन पुलिस डिपार्टमेंट में विभिन्न प्रकार के पद होते हैं और सभी पदों की सैलरी और पावर अलग होती है। इंडियन पुलिस डिपार्टमेंट में ही 1 पद होता है ACP Officer का पद,यह एक उच्च पद माना जाता है इंडियन पुलिस डिपार्टमेंट में। आज के इस लेख में जानेंगे कि ACP Officer Kaise Bane, एसीपी अधिकारी बनने के लिए क्या करे, ACP Officer Kya Hota Hai, एसीपी अधिकारी बनने का तरीका, Assistant Commissioner of Police Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

एसीपी क्या है? – What is ACP (Assistant Commissioner of Police) in Hindi?

Contents show
Acp Officer Kaise Bane
Acp Officer Kaise Bane

ACP का Full FormAssistant Commissioner of Police” होता है हिंदी में ACP का फुल फॉर्म “सहायक पुलिस आयुक्त” होता है। जिस प्रकार इंडियन पुलिस डिपार्टमेंट में डीसीपी ऑफिसर को 3 Star मिलते हैं, उसी प्रकार इंडियन पुलिस डिपार्टमेंट में असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस ऑफिसर को तीन स्टार मिलते हैं।

यह इनकी वर्दी पर कंधे पर लगे हुए होते हैं और इसी के कारण यह पहचाना जा सकता है कि कोई व्यक्ति ACP Officer है अथवा कोई अन्य ऑफिसर है। जब व्यक्ति इंडियन पुलिस सर्विस की एग्जाम देता है और उस एग्जाम में वह अच्छी रैंक हासिल करता है तो उसके बाद आईपीएस अधिकारी को ही प्रमोशन दिया जाता है और प्रमोशन पाने के बाद वही आईपीएस अधिकारी एसीपी की पोस्ट को प्राप्त करता है‌।

इसके अलावा वह डीसीपी की पोस्ट को भी प्राप्त करता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, Assistant Commissioner of Police बनना इतना आसान नहीं है,बल्कि इस पोस्ट को पाने के लिए अभ्यर्थियों को हार्ड वर्क करना आवश्यक है।

एसीपी ऑफिसर कैसे बने? – How to become ACP Officer?

इंडियन पुलिस को आरक्षक या फिर आरक्षी के नाम से भी पहचाना जाता है। यह एक सिक्योरिटी फोर्स होती है जिसका इस्तेमाल करके सरकार अपने-अपने राज्यों में कानून का पालन करवाती है। इंडियन पुलिस फोर्स के ऊपर कानून का पालन करवाने की जिम्मेदारी और अपराधियों को पकड़ कर उन्हें अदालत में पेश करने की जिम्मेदारी होती है, साथ ही इनके ऊपर विभिन्न प्रकार के अपराधिक मामलों की जांच करने की जिम्मेदारी भी होती है। भारतीय पुलिस विभाग हमेशा सामान्य जनता की सेवा में तत्पर रहता है।

ये भी पढ़ें : Flipkart Seller कैसे बने?

एसीपी ऑफिसर बनने के लिए क्या करें? – What to do to become ACP Officer?

अगर आपने भी मन में यह निश्चय कर लिया है कि आप अपनी जिंदगी में ACP Officer बनना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि एसीपी ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले तो आपको एसीपी ऑफिसर कैसे बना जाता है? इसकी पूरी प्रोसेस के बारे में जानकारी इकट्ठा कर लेनी चाहिए, जो हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से दे रहे हैं। इस आर्टिकल में आप एसीपी ऑफिसर कैसे बने की फुल डिटेल्स हिंदी में जानेंगे।

एसीपी बनने के लिए योग्यता – Qualification to become ACP

ऐसे अभ्यर्थी जो इंडियन पुलिस सर्विस में Assistant Commissioner of Police की पोस्ट प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें इसके लिए इंडिया के किसी भी सर्टिसाइड कॉलेज से किसी भी स्ट्रीम में ग्रेजुएशन की डिग्री कंप्लीट करना जरूरी है।

ये भी पढ़ें : Breast Size कैसे बढ़ाए? 

एसीपी बनने के लिए शारीरिक फिटनेस – Physical fitness to become ACP

  • इंडियन पुलिस सर्विस में एसीपी की पोस्ट प्राप्त करने की इच्छा रखने वाले मेल कैंडिडेट की लंबाई 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए,वही फीमेल कैंडिडेट की लंबाई 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • इसके अलावा मेल कैंडिडेट की छाती 85 सेंटीमीटर होनी आवश्यक है।
  • महिला और पुरुष,दोनों अभ्यर्थियों की आंखें बिल्कुल स्वस्थ होनी चाहिए।
  • उन्हें कलर ब्लाइंडनेस की समस्या नहीं होनी चाहिए।
  • उन्हें शारीरिक और मानसिक रूप से किसी भी प्रकार की कोई भी बीमारी अथवा प्रॉब्लम नहीं होनी चाहिए।

एसीपी बनने के लिए आयु सीमा – Age Limit to become ACP

कैटेगरी के हिसाब से ACP Officer बनने के लिए विभिन्न वर्गों के लिए अलग-अलग उम्र सीमा निर्धारित की गई है, जो इस प्रकार है।

  • सामान्य वर्ग के लोगों के लिए कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 32 साल।
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों के लिए कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 37 साल।
  • अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों के लिए कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 35 साल।

एसीपी का वेतन – Salary of ACP

ACP यानि Assistant Commissioner of Police का ग्रेड पे ₹2400 होता है और ACP Officer को हर महीने तनख्वाह के तौर पर ₹40,800 की प्राप्ति होती है। इसके साथ ही असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस को गवर्नमेंट की तरफ से गवर्नमेंट बंगला भी दिया जाता है और इसके साथ ही उस बंगले में काम करने के लिए चपरासी, बावर्ची और अन्य स्टाफ की सर्विस भी दी जाती है।

इसके साथ ही ACP Officer को टेलीफोन का खर्चा, मुफ्त बिजली का खर्च जैसी सुविधाएं भी दी जाती है। रेलवे में यात्रा करने पर इन्हें फ्री यात्रा का ऑफर भी दिया जाता है। इन्हें ग्रेजुएटी और पर्सनल फंड का भी फायदा मिलता है।

एसीपी बनने के लिए कितनी बार परीक्षा दे सकते है?

अलग-अलग समुदायों के लिए अधिकतम प्रयास की सीमा अलग-अलग तय की गई है,जो निम्नानुसार है।

  • जनरल कैटेगरी के लोग अधिक से अधिक 4 बार इसकी एग्जाम में शामिल हो सकते हैं।
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों के लिए अधिकतम कोशिश की कोई भी लिमिट तय नहीं की गई है।
  • ओबीसी समुदाय के लोग अधिक से अधिक 7 बार इसकी परीक्षा दे सकते हैं।

एसीपी बनने की प्रक्रिया – Process to become ACP

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इंडियन पुलिस डिपार्टमेंट में ACP Officer बनने के लिए जिस परीक्षा का आयोजन किया जाता है,उसका आयोजन यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन यानी की राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा करवाया जाता है। UPSC के द्वारा एसीपी बनने के लिए परीक्षा का आयोजन तीन चरणों में होता है, जिसमें सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा, उसके बाद मुख्य परीक्षा और सबसे आखरी में इंटरव्यू होता है। नीचे हम आपको आसान स्टेप्स में एसीपी बनने की प्रक्रिया बता रहे हैं।

1. 10 वीं और 12 वीं कक्षा पास करें

इंडियन पुलिस डिपार्टमेंट में एसीपी की पोस्ट को प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आपको दसवीं कक्षा को पास करना पड़ता है‌। उसके बाद आपको 12वीं कक्षा को भी अच्छे अंकों के साथ पास करना पड़ता है। आप दसवीं और बारहवीं कक्षा किसी भी स्ट्रीम से पास कर सकते हैं, इसमें विषय की कोई भी बाध्यता नहीं होती है। आप साइंस,आर्ट्स, कॉमर्स किसी भी सब्जेक्ट से दसवीं और बारहवीं की एग्जाम को पास कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें : बच्चा कैसे पैदा होता है?

2. ग्रेजुएशन को पूरा करें

12वीं कक्षा को पास करने के बाद आप अपने फेवरेट कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।अपने फेवरेट ग्रेजुएशन लेवल के कोर्स में एडमिशन लेने के बाद आपको अच्छे से अपने कोर्स की पढ़ाई करनी पड़ती है और सफलतापूर्वक अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री को अच्छे अंकों के साथ कंप्लीट करना पड़ता है।

3. UPSC की एग्जाम के लिए अप्लाई करें

जब आप अपनी ग्रेजुएशन को पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद आपको एसीपी की पोस्ट की रिक्रूटमेंट के नोटिफिकेशन को जारी होने का इंतजार करना पड़ता है।इसका नोटिफिकेशन यूपीएससी के द्वारा जारी किया जाता है।नोटिफिकेशन जारी होने के बाद आपको अपना फॉर्म भरना पड़ता है, जिसके बाद एक निश्चित दिन पर यूपीएससी के द्वारा एग्जाम का आयोजन किया जाता है

4. प्रारंभिक परीक्षा में शामिल हो और पास करें

यूपीएससी के द्वारा एसीपी बनने के लिए जिस प्रारंभिक परीक्षा का आयोजन होता है उसमें विद्यार्थियों को शामिल होना पड़ता है। प्रारंभिक परीक्षा में 2 क्वेश्चन पेपर विद्यार्थियों को सॉल्व करने होते हैं और हर एक क्वेश्चन पेपर के लिए 200 मार्क तय होते हैं‌। यूपीएससी के द्वारा स्टूडेंट को इस एग्जाम को देने के लिए 2 घंटे का टाइम दिया जाता है

5. मुख्य परीक्षा में शामिल हो और पास करें

प्रारंभिक परीक्षा को पास करने के बाद अभ्यर्थियों को आगे की प्रक्रिया यानी की मुख्य परीक्षा में शामिल होना पड़ता है।मुख्य परीक्षा में अभ्यर्थियों को टोटल 6 क्वेश्चन पेपर को सॉल्व करना होता है। इन 6 क्वेश्चन पेपर में सब्जेक्ट के तौर पर 300 अंक का अंग्रेजी का पेपर,300 अंक का इंडियन लैंग्वेज का पेपर, 200 अंक का निबंध, 300 अंक का जनरल स्टडी का क्वेश्चन पेपर होता है।इसके अलावा दो ऑप्शनल सब्जेक्ट भी होते हैं।

6. इंटरव्यू में शामिल हो और इंटरव्यू पास करें

जब ACP Officer बनने की इच्छा रखने वाला अभ्यर्थी एसीपी बनने की प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा को अच्छे अंकों के साथ पास कर लेता है तो फिर उसके बाद एक मेरिट लिस्ट जारी की जाती है और मेरिट लिस्ट में नाम आने के बाद व्यक्ति को एक निश्चित दिन इंटरव्यू लेने वाले लोगों की टीम के द्वारा इंटरव्यू के लिए एक निश्चित जगह पर बुलाया जाता है।

इस इंटरव्यू का आयोजन यूपीएससी के द्वारा ही किया जाता है।इस इंटरव्यू में अभ्यर्थी से कुछ ऐसे सवाल पूछे जाते हैं जिसके द्वारा यह अंदाजा लगाया जा सके कि अभ्यर्थी की योग्यता क्या है और वह कितना Mature है‌। यह इंटरव्यू टोटल 250 मार्क का होता है?

7. ट्रेनिंग कंप्लीट करें और पद ग्रहण करें

इंटरव्यू को पास करने वाले उम्मीदवारों को 6 महीने या फिर 1 साल की ट्रेनिंग के लिए मसूरी अथवा देहरादून भेज दिया जाता है, जहां पर उनकी ट्रेनिंग चलती है और ट्रेनिंग कंप्लीट होने के बाद उन्हें जॉइनिंग लेटर दे दिया जाता है। इस प्रकार वह जब अपनी पोस्ट को ग्रहण कर लेते हैं तब वह इंडियन पुलिस डिपार्टमेंट में ACP Officer बनने में कामयाब हो जाते हैं।

निष्कर्ष

आशा है आपको Assistant Commissioner of Police In Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में ACP Officer Kaise Bane (How to Become ACP Officer In Hindi) और एसीपी ऑफिसर कैसे बने? को लेकर आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को ACP Police Officer Kaise Bane के बारे में जानकारी मिल सके।

4.8/5 - (5 votes)

मैं supportingainain ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️ Contact us via Email - [email protected]

Leave a Comment