कंप्यूटर कैसे चलाते हैं – कम समय में कंप्यूटर चलाना कैसे सीखें? (Full Details Step By Step)

आज हम जानेंगे कंप्यूटर चलाना कैसे सीखें की पूरी जानकारी (computer chalana kaise sikhe) के बारे में क्योंकि कंप्यूटर के दाम आजकल काफी कम हो गए हैं। इसलिए हर किसी के घर में आपको आसानी से कंप्यूटर मिल जाएगा। कई लोग कंप्यूटर की जगह पर अब लैपटॉप लेना पसंद करते हैं, क्योंकि लैपटॉप को हम अपने साथ कहीं भी ले कर के जा सकते हैं, वही कंप्यूटर को हमें एक ही जगह पर सेट करना होता है। कंप्यूटर क्या है, इसके बारे में बहुत से लोग नहीं जानते हैं। बस उन्हें यह पता होता कि हम कंप्यूटर से कौन-कौन से काम कर सकते हैं।

कंप्यूटर का अधिकतर इस्तेमाल बड़ी-बड़ी कंपनियों में किया जाता है, साथ ही हम भी अपने छोटे-मोटे कामों को निपटाने के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं। यह ऑडियो, वीडियो फाइल को भेजने में सहायक होता है, साथ ही अन्य कई टेक्निकल काम भी हम इसकी सहायता से कर सकते हैं। आज के इस लेख में जानेंगे कि कंप्यूटर चलाना कैसे सीखें, how to learn operate computer in Hindi, computer chalana kaise sikhe, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

कंप्यूटर क्या है? – What is Computer in Hindi

Contents show
कम समय में कंप्यूटर चलाना कैसे सीखें?
कंप्यूटर चलाना कैसे सीखें

बिजली से चलने वाले कंप्यूटर को अलग-अलग चीजों को मिलाकर के बनाया जाता है। इसमें जो भी पार्ट लगे हुए होते हैं वह अलग-अलग कंपनी के होते हैं। अगर कंप्यूटर में से किसी भी एक पार्ट को निकाल दिया जाए, तो यह सिर्फ एक प्लास्टिक का डब्बा जैसा ही रह जाता है।‌ कंप्यूटर के अनेक इस्तेमाल होते हैं। जिन गणित के सवालों को हल करने में हमें लंबा समय लगता है, उन्ही गणित के सवालों को कंप्यूटर 1 सेकंड में ही हल कर देता है और उसका रिजल्ट हमें दिखा देता है।

इंसान अगर कोई काम करता है तो वह गलती करे इसकी संभावना हो सकती है, परंतु कंप्यूटर की प्रोग्रामिंग ऐसे की जाती है कि यह बिल्कुल भी गलती नहीं कर सकता। कंप्यूटर का दिमाग सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट को कहा जाता है। इसके अलावा भी ऐसे कई पार्ट होते हैं, जो कंप्यूटर को चलाने में सहायक होते हैं। जैसे कि कीबोर्ड, माउस इत्यादि।

कंप्यूटर बड़े से बड़े डाटा को अपने अंदर स्टोर करके रखता है जिसे हम जब चाहे तब कंप्यूटर को एकसेस करके देख सकते हैं। पहले के समय में कंप्यूटर आकार में काफी बड़े होते थे परंतु टेक्नोलॉजी एडवांस होने के कारण धीरे-धीरे इनका आकार छोटा कर दिया गया और आज इनका आकार इतना कम होता है कि यह एक मिनी टीवी जितने साइज में भी आते हैं। लैपटॉप भी कंप्यूटर का ही अपडेटेड वर्जन माना जाता है।

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं? – Types of Computer in Hindi

मार्केट में जब आप कंप्यूटर लेने के लिए जाते हैं तब आपको इसके कई प्रकार दिखाई देते हैं। नीचे हमने कंप्यूटर के सभी प्रकारों की लिस्ट आपको दी है।

  1. एनालॉग कंप्यूटर
  2. हाइब्रिड कंप्यूटर
  3. डिजिटल कंप्यूटर
  4. माइक्रोकंप्यूटर
  5. सुपर कंप्यूटर
  6. मिनी कंप्यूटर
  7. मेनफ्रेम कंप्यूटर

कंप्यूटर के प्रमुख भाग क्या है? – What are the main parts of a Computer

आपको शायद ही यह पता होगा कि कंप्यूटर को बनाने में अलग-अलग चीजों का इस्तेमाल किया जाता है जिसे कंप्यूटर पार्ट कहा जाता है। यह सभी कंप्यूटर में असेंबल किए जाते हैं, तब जाकर के एक कंप्यूटर रेडी होता है‌। इसलिए कंप्यूटर को असेंबल करने में कौन-कौन से मुख्य पार्ट इस्तेमाल होते हैं, उनके बारे में आपको जानना चाहिए, जो नीचे बताए गए हैं।

1. सीपीयू (CPU)

सीपीयू यानी की सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट को विभिन्न कंपनियां जब बनाती हैं, तब वह इसके अंदर लाखों की संख्या में छोटे ट्रांजिस्टर फिट करती हैं, जो कि पूरे कंप्यूटर को कंट्रोल करने का काम करता है। आपको यह भी बता दें कि रेंडम एक्सेस मेमोरी और रीड ओनली मेमोरी भी इसी में उपलब्ध होती है। इसे किताबों में कंप्यूटर के दिमाग के तहत पढ़ाया जाता है। इसके अंदर ही कंप्यूटर को चलाने के सभी दिशा निर्देश फीड होते हैं।

2. मॉनिटर (Monitor)

इसकी गिनती आउटपुट डिवाइस के अंतर्गत होती है। बाजार में जब आप मॉनिटर खरीदने के लिए जाते हैं तब इसका साइज आपको एक टीवी की तरह दिखाई देता है। कुछ जगह पर यह बड़े साइज का मिलता है तो कुछ जगह पर यह छोटे साइज का मिलता है।

ये भी पढ़ें : कंप्यूटर का इतिहास

इसके अंदर एक डिस्प्ले होती है जिस पर हमें तस्वीर और वीडियो दिखाई देते हैं। हम कीबोर्ड की सहायता से जो भी लिखते हैं, वह हमें मॉनिटर पर दिखाई देता है। मार्केट में आपको एलसीडी मॉनिटर और सीटीआर मॉनिटर आसानी से प्राप्त हो जाता है।

3. माउस (Mouse)

आपने कंप्यूटर की स्क्रीन पर एक तीर जैसा निशान देखा ही होगा, वह तीर जैसा निशान माउस के कारण ही होता है। जैसे जैसे आप माउस घुमाते हैं वैसे वैसे वह तीर वाला निशान कंप्यूटर से यहां वहां जाने लगता है। इसका इस्तेमाल कंप्यूटर को कुछ काम करने के लिए किया जाता है।

मान लीजिए कि अगर कंप्यूटर पर आपको कोई प्रोसेस करनी है, तो आप तीर के निशान को वहां पर ले जाकर के माउस से क्लिक कर देंगे। उसके बाद प्रक्रिया आगे बढ़ जाएगी। माउस के नीचे लाल रंग की बत्ती भी जलती रहती है। इसे ऐसी जगह पर इस्तेमाल किया जाता है, जहां की सत्ता चिकनी होती है।

4. कीबोर्ड (Keyboard)

कीबोर्ड पर बहुत सारी बटन लगी होती हैं जिसका अलग-अलग काम होता है। कंप्यूटर की स्क्रीन पर जब हमें कुछ लिखना होता है तब हम कीबोर्ड के जरिए टाइपिंग करते हैं जिसे डाटा टाइपिंग करना भी कहा जाता है। कीबोर्ड की गिनती हार्डवेयर डिवाइस की कैटेगरी में होती है, क्योंकि इसे हम अपनी आंखों से देख भी सकते हैं और इसे हम अपने हाथों की अंगुलियों से छू भी सकते हैं।

ये भी पढ़ें : Processor क्या है और कैसे काम करता है?

मार्केट में आपको दो प्रकार के कीबोर्ड मिलते हैं। एक कीबोर्ड वह होता है जिसे आप वायर के जरिए मॉनिटर में कनेक्ट करके चलाते हैं और दूसरा कीबोर्ड वायरलेस होता है जिसमें कोई भी वायर नहीं होता है।

5. यूपीएस (UPS)

यूपीएस का पूरा नाम Uninterruptible Power Supply होता है। वैसे बता दे कि आप इसके बिना भी कंप्यूटर को एक्सेस कर सकते हैं। इसका इस्तेमाल तब किया जाता है, जब बार-बार बिजली कट जाती है। यह इसलिए आवश्यक होता है क्योंकि कभी कबार जब हम कंप्यूटर पर काम करते हैं और बिजली चली जाती है तो हम जो काम कर रहे होते हैं, यह उसे सेव कर देता है और इसके जरिए हम दोबारा से उस काम को कर सकते हैं।

कंप्यूटर चलाना सीखना क्यों जरूरी है? – Why is it important to Learn Computer?

देखिए यह बात तो आप अच्छी तरह से जानते हैं कि दुनिया हमेशा आगे बढ़ती है ना कि पीछे जाती है। हमारा कहने का मतलब यह है कि टेक्नोलॉजी लगातार एडवांस होती जा रही है और इसीलिए कंप्यूटर सीखना भी हमारे लिए आवश्यक हो गया है, क्योंकि कई ऐसी गवर्नमेंट नौकरी है, जिसमें ऐसे लोगों को प्राथमिकता दी जाती है जिन्होंने कंप्यूटर को सीखा हुआ होता है।

इसके अलावा प्राइवेट सेक्टर में भी ऐसी कई नौकरी है, जहां पर जिन लोगों ने कंप्यूटर चलाना सीखा हुआ है, उन्हें तवज्जो दिया जाता है। क्योंकि कुछ काम ऐसे होते हैं, जो कंप्यूटर के जरिए ही किए जाते हैं। जैसे कि डाटा इंट्री करना, कर्मचारियों की सैलरी स्लिप तैयार करना इत्यादि। कंप्यूटर सीख लेने के कारण आप अपने भी कई काम घर बैठे ही कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें : HDD और SSD क्या है?

जैसे कि आजकल जो भी सरकारी योजनाएं आती हैं आप उनके फॉर्म घर बैठे ही अप्लाई कर सकते हैं। इसके अलावा अगर आप किसी परीक्षा में अप्लाई कर रहे हैं तो आप उसका फॉर्म भी ऑनलाइन भर सकते हैं। आप घर बैठे कंप्यूटर के जरिए टिकट भी बुक कर सकते हैं, साथ ही ब्लॉग बना सकते हैं, यूट्यूब चैनल बना सकते हैं इत्यादि।

कंप्यूटर कैसे चलाते हैं? – कंप्यूटर चलाना कैसे सीखें? – How to Learn Computer in Hindi

जब कंप्यूटर को बना करके रेडी किया जाता है तब इसमें प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश भरे जाते हैं। आवश्यक दिशा निर्देश भर देने के बाद ही कंप्यूटर काम करने के लिए तैयार हो जाता है, जिसके बाद इसे कोई भी व्यक्ति कंप्यूटर की थोड़ी सी जानकारी रख कर चला सकता है। देखा जाए तो इसे चलाने के लिए मुख्य तौर पर तीन प्रक्रिया है, जिसमें पहली है इनपुट, दूसरी है प्रोसेसिंग और तीसरी आउटपोट। नीचे आपको इन तीनों प्रोसेस के बारे में जानकारी दी गई है।

1. इनपुट

कंप्यूटर को चालू करने के बाद सबसे पहले आपको कंप्यूटर को कौन सा काम करना है इसके बारे में बताना होता है, जिसे कि कंप्यूटर को इनपुट देना कहा जाता है। कंप्यूटर को इनपुट आप किसी भी प्रकार से दे सकते हैं। आप कंप्यूटर को जो काम करने के लिए इनपुट देंगे, कंप्यूटर आपको उसी काम को करके दिखाएगा। कंप्यूटर को इनपुट का काम करने के लिए आपको माइक्रोफोन, माउस या फिर कीबोर्ड जैसी चीजों का इस्तेमाल करना होता है।

ये भी पढ़ें : Input Device of Computer in Hindi

2. प्रोसेसिंग

जब कंप्यूटर को इनपुट का आदेश मिलता है तो उसके बाद कंप्यूटर में लगे हुए पार्ट्स इनपुट की प्रोसेसिंग करना चालू कर देते हैं। इस दरमियान आपको कुछ भी नहीं करना होता है। आपको बस शांति से बैठना होता है। कंप्यूटर की प्रोसेसिंग की प्रक्रिया 1 से 2 सेकंड में ही पूरी हो जाती है और इसे करने की जिम्मेदारी सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट यानी की सीपीयू की होती है।

3. आउटपुट

इनपुट की प्रक्रिया पाने के बाद कंप्यूटर इनपुट को प्रोसेस करना चालू करता है और फिर आपको अपनी स्क्रीन पर जो रिजल्ट दिखाई देते हैं वह रिजल्ट आपको आउटपुट प्रक्रिया के तहत प्राप्त होते हैं। आउटपुट रिजल्ट आपको मॉनिटर, स्पीकर और प्रिंटर जैसे उपकरणों पर दिखाई देते हैं।

ये भी पढ़ें : What is Output Device and its type in Hindi

नीचे हम आपको इस पूरी प्रक्रिया को एक उदाहरण के तहत समझाते हैं। एग्जांपल के तौर पर आप ने सबसे पहले अपने कंप्यूटर का पावर ऑन किया। इसके लिए आपने कंप्यूटर में उपलब्ध पावर ओन की बटन को दबाया। यानी कि आपने कंप्यूटर को इनपुट दिया। इसके बाद सीपीयू के पास प्रोसेसिंग का सिग्नल गया और फिर सीपीयू ने आउटपुट  करके कंप्यूटर की स्क्रीन पर चित्र दिखाएं।

कंप्यूटर सीखने के फायदे – Benefits of Learning Computer in Hindi

कंप्यूटर एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है, जो किसी भी काम को जल्दी से करके देता है। बात करें अगर इसके फायदे की तो इसके फायदे नीचे हमने मेंशन किए हैं।

  • काफी तेज काम करता है।
  • कोई गलती नहीं करता है।
  • ऑटोमेटिक चलता है।
  • ऑपरेट करने में आसान है।
  • रखरखाव का खर्चा कम आता है।
  • बिना थके काम करता है।
  • समय की बचत करवाता है।
  • आसानी से डाटा को ट्रांसफर करता है।
  • इंटरटेनमेंट का अच्छा साधन है।
  • एजुकेशन के लिए भी महत्वपूर्ण है।
  • मल्टीटास्क कर लेता है।

कंप्यूटर चलाना कैसे सीखें से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या होता है?

इसे हम ना तो देख सकते हैं ना हीं छू सकते हैं।

कंप्यूटर हार्डवेयर क्या होता है?

इसे हम देख भी सकते हैं और इसे हम छू भी सकते हैं।

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के उदाहरण क्या है?

रेंडम एक्सेस मेमोरी, रीड ओनली मेमोरी

कंप्यूटर हार्डवेयर के उदाहरण क्या है?

मॉनिटर, प्रिंटर, कीबोर्ड, माउस

कंप्यूटर का दिमाग किसे कहा जाता है?

सीपीयू को

कंप्यूटर का प्रमुख भाग कौन सा है?

सीपीयू

कंप्यूटर को हिंदी में क्या कहते हैं?

संगणक

कंप्यूटर का अपडेटेड वर्जन कौन सा है?

लैपटॉप

कंप्यूटर जैसा दिखाई देने वाला अन्य उपकरण क्या है?

डेस्कटॉप

कंप्यूटर वायरस का नाम क्या है?

मेलिसीएस प्रोग्राम

निष्कर्ष

आशा है आपको कंप्यूटर चलाना कैसे सीखें के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में computer chalana kaise sikhe (Learn Computer in Hindi) और कंप्यूटर चलाना कैसे सीखें को लेकर आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को कंप्यूटर चलाना कैसे सीखें में जानकारी मिल सके।

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment