स्पर्म काउंट क्या होता है? शुक्राणुओं की संख्या कैसे बढ़ाएं? शुक्राणुओं की संख्या (Sperm Count) कम होने का कारण, संकेत और उपचार क्या है?

आज हम जानेंगे स्पर्म काउंट की पूरी जानकारी (Sperm Count in Hindi) के बारे में क्योंकि हम इंसान जो भी खाना खाते हैं उसका पाचन होने के बाद जो भी रस बनता है वह शरीर के सभी अंगों को पोषण देने का काम करता है और पोषण प्राप्त होने के बाद ही हमारी बॉडी के सभी अंगों का विकास होता है। हमारी बॉडी में जो शुक्राणु होते हैं यह भी तभी अधिक मात्रा में बनते हैं जब हम अच्छा खाना खाते हैं। अगर खाने में से पौष्टिक तत्व हमें नहीं मिलते हैं तो हमारी बॉडी में शुक्राणु ठीक ठाक मात्रा में नहीं बनते हैं।

बता दें कि, शुक्राणु ही बच्चा पैदा करने के लिए जिम्मेदार माने जाते हैं परंतु कुछ गलतियों के कारण कई लोगों में शुक्राणुओं की कमी देखी जाती है। शुक्राणुओं की कमी होने का सीधा सा अर्थ है कि आपकी बॉडी कमजोर होना। शुक्राणु की कमी को दूर करने के लिए कई उपाय भी हैं जिन्हें ट्राई किए जा सकते हैं। आज के इस लेख में जानेंगे कि sperm count Kya Hai, sperm count kaise badhaye, Sperm Count meaning in Hindi, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

स्पर्म काउंट क्या है? – What is Sperm Count in Hindi

Contents show
Sperm Count In Hindi
Sperm Count In Hindi

हमारी बॉडी में जो शुक्राणु होते हैं जिसे अन्य भाषा में वीर्य कहा जाता है और इसे अंग्रेजी लैंग्वेज में Sperm कह कर बुलाते हैं, यह बच्चा पैदा करने के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार माने जाते हैं। Sperm Count का अगर हिंदी में ट्रांसलेट करें तो उसका मतलब होता है शुक्राणुओं की गिनती या फिर शुक्राणुओं की संख्या।

स्पर्म काउंट अगर हमारी बॉडी में अच्छा रहता है तो समझ लीजिए हमें शारीरिक रूप से कोई भी समस्या नहीं है क्योंकि स्पर्म काउंट तभी बॉडी में अच्छा बना रहता है जब हम कोई भी गलती नहीं करते हैं और ना ही हम अपने शुक्राणुओं का नाश करते हैं। परंतु जब हम शुक्राणुओं का नाश करने लगते हैं तो स्पर्म काउंट हमारी बॉडी में से घटने लगता है।

इसके साथ ही हमें कमजोरी भी महसूस होने लगती है। एक प्रकार से देखा जाए तो जिस प्रकार लोग सोना पाने के लिए तरसते रहते हैं, उसी प्रकार कम शुक्राणुओं की संख्या से पीड़ित व्यक्ति अधिक शुक्राणु पाने के लिए तरसता रहता है। हालांकि इसे पाना आसान है बस आपको कुछ उपाय करने होंगे।

शुक्राणुओं की संख्या कैसे बढ़ाएं? – How to Increase Sperm Count in Hindi

इंसानी बॉडी में शुक्राणुओं के ना बनने के कई कारण होते हैं। हालांकि अगर किसी व्यक्ति के बॉडी में इसकी कमी है तो इसका सीधा सा अर्थ निकलकर के यहीं आता है कि कहीं ना कहीं वह व्यक्ति अत्याधिक मात्रा में हस्तमैथुन करता है।

ये भी पढ़ें : ब्लड कैंसर क्या होता है? ब्लड कैंसर के प्रकार, लक्षण, कारण और इसका इलाज

क्योंकि हस्तमैथुन करने के कारण ही शुक्राणु हमारी बॉडी में से बाहर चले जाते हैं और यही वजह बॉडी में स्पर्म की कमी होने की सबसे बड़ी वजह मानी जाती है। इसलिए इस पर कंट्रोल करें। आइए जानते हैं कि स्पर्म काउंट अगर घट गया है तो उसे बढ़ाने के लिए आपको क्या करना चाहिए।

भोजन के द्वारा शुक्राणुओं की संख्या कैसे बढ़ाये – How to increase Sperm Count by Food in Hindi

देखिए पहले तो आप यह समझ लीजिए कि स्पर्म काउंट आपकी बॉडी में अंदर से कम होता है। इसलिए आपको अपनी बॉडी में अंदर से ही विशेष तौर पर काम करना पड़ेगा। Sperm Count तब ज्यादा होता है जब हम अच्छा अच्छा खाना खाते हैं। अच्छे खाने से हमारा मतलब यहां पर फास्ट फूड से नहीं है या फिर अधिक मिर्च मसाले वाले खाने से नहीं है बल्कि हमारा मतलब ऐसे खाने से है जो आपको विटामिन मिनरल दे, साथ ही आपकी बॉडी में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फैट की पूर्ति करें।

प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फैट, विटामिन, मिनरल अगर यह पांचों तत्व आपको खाने में से मिल जाते हैं तो समझ लीजिए आपकी बॉडी में कभी भी शुक्राणुओं की संख्या कम होगी ही नहीं, क्योंकि यही वह चीज है जो बॉडी के सभी अंगों को पोषण देती हैं और उनकी ग्रोथ में उनका साथ देती हैं। शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए आपको कौन कौन से आहार अपने भोजन में शामिल करना चाहिए, उन सभी आहार के नाम हम आपको नीचे दे रहे हैं।

ये भी पढ़ें : लिंग बड़ा कैसे करें?

इन आहार को खा कर के आप 1 से 2 महीने के अंदर ही अपनी बॉडी में वीर्य की संख्या बढ़ा सकते हैं। चिकन, मटन, अंडा, मछली, दूध, दही, सोयाबीन, पनीर, टोफू, मूंग दाल, चना की दाल, अरहर की दाल, उड़द की दाल, हरी पत्तेदार सब्जियां, ब्रोकली, खीरा, अनार का जूस, टमाटर का जूस, पपीता, सेब, चीकू, कीवी, दलिया, सूजी का हलवा, अश्वगंधा पाउडर, शतावरी पाउडर, मुसली पाउडर, शिलाजीत कैप्सूल

व्यायाम द्वारा शुक्राणुओं की संख्या कैसे बढ़ाएं – How to increase Sperm Count by Exercise in Hindi

वीर्य की कमी बॉडी में हो जाने पर हमारे चेहरे का तेज चला जाता है और हमें हमेशा आलसपन महसूस होता है। ऐसे में पौष्टिक तत्वों से भरपूर आहार खाने के साथ ही साथ अगर आप एक्सरसाइज करते हैं, तो आप जल्दी से बॉडी में Sperm Count के लेवल को बढ़ा सकते हैं अर्थात शुक्राणुओं की संख्या को आप अपनी बॉडी में फिर से अच्छा कर सकते हैं।

एक्सरसाइज करने से हमारी बॉडी में ब्लड सरकुलेशन बढ़िया से होने लगता है। इसके साथ ही हमारे खाने का पाचन भी सही से होता है। इसके अलावा एक्सरसाइज करने से हमारी बॉडी में से जहरीले तत्व बाहर जाते हैं, जिससे शुक्राणुओं की संख्या सुधरती है और उनके बनने के रफ्तार में तेजी आती है।

ये भी पढ़ें : हिचकी क्या होता है? हिचकी कैसे रोके?

नीचे आपको कुछ ऐसी एक्सरसाइज अथवा योगासन के नाम हम दे रहे हैं जिसे आप घर पर ही रहकर कर सकते हैं। सुबह के समय में इन योगासन में से किसी भी योगआसन को करने से आपको 3 से 4 महीने के अंदर ही अच्छा रिजल्ट प्राप्त होंगे और आप यह महसूस करेंगे कि वास्तव में आपकी बॉडी में फिर से नई जान आ गई है और वीर्य की संख्या ठीक-ठाक हो गई है।

  • धनूर आसन (धनुष मुद्रा)
  • सर्वांग आसन
  • हल आसन (हल मुद्रा)
  • कुंभक आसन (प्लैंक पोज़)
  • भुजंग आसन (कोबरा पोज़)
  • नौका आसन (बोट पोज़)
  • पश्चिमोत्तन आसन

शुक्राणुओं की संख्या कम होने का कारण – Reason for Low Sperm Count in Hindi

  • नसों में सूजन
  • इंफेक्शन
  • स्वप्नदोष
  • स्खलन समस्याएं
  • दवा का साइड इफेक्ट
  • हमेशा गंदे विचार आना
  • हार्मोन असंतुलन
  • क्रोमोसोम दोष
  • सीलिएक रोग
  • नशा करना
  • टेंशन लेना
  • अधिक मोटापा
  • हस्तमैथुन करना

कम शुक्राणुओं की संख्या के संकेत – Low Sperm Count Signs in Hindi

  • संबंध बनाने का मन ना करना
  • उत्तेजना में कमी
  • जल्दी से वीर्य बाहर निकल जाना
  • संबंध बनाने का टाइमिंग कम होना
  • बालों का झड़ना
  • शीघ्रपतन

कम शुक्राणुओं की संख्या का उपचार – Low Sperm Count Treatment in Hindi

हमने आपको ऊपर ही इस बात की जानकारी दी है कि कैसे आप अपने शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा भी शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाने के लिए अन्य कई उपाय हैं तथा Sperm Count के कई इलाज भी हैं, जिसके बारे में नीचे आपको बताया जा रहा है।

1. सर्जरी

अगर आप कम शुक्राणुओं की संख्या से परेशान हैं तो आप सर्जरी करवा करके इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। सर्जरी करवाने के लिए पहले आपको किसी अच्छे डॉक्टर से मिलना है और उन्हें अपनी पूरी समस्या बतानी है। आमतौर पर डॉक्टर सर्जरी के तौर पर आपके नसों में जो सूजन होती है उसे दूर कर देते हैं।इससे शुक्राणु बनना तेजी के साथ चालू हो जाते हैं।

2. इंफेक्शन की ट्रीटमेंट

अगर आपकी बॉडी में जो प्रजनन वाले अंग है और उसमें कोई इंफेक्शन हो गया है तो इसके लिए एंटीबायोटिक का इस्तेमाल किया जाता है।

ये भी पढ़ें : ऑक्सीजन लेवल कैसे बढ़ाए?

3. हार्मोन ट्रीटमेंट और मेडिसिन

हार्मोन को चेंज करने के लिए हार्मोन रिप्लेसमेंट दवाई भी आप ले सकते हैं। हालांकि इसके लिए भी आपको डॉक्टर से कंसल्ट करना होगा। यह दवाई शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाती है परंतु इन्हें काम करने में 3 महीने से लेकर के 6 महीने का समय लगता है।

स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए क्या करें?

  • अच्छा खाना खाएं
  • संतुलित खाना खाएं
  • खाने में पौष्टिक तत्व अवश्य होने चाहिए
  • रोजाना 12 गिलास पानी अवश्य पिए
  • फलों के रस का सेवन करें
  • ताजा खाना खाएं
  • एक्सरसाइज अवश्य करें
  • लिवर को स्वस्थ रखने वाली टेबलेट खाएं

स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए क्या ना करें?

  • हस्तमैथुन ना करें
  • गंदे विचार ना लाएं
  • नशा ना करें
  • धूम्रपान ना करें
  • अधिक देर तक साइकिल ना चलाएं

Sperm Count के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

कौन से कारण से इंसानी बॉडी में शुक्राणुओं की कमी हो जाती है?

वैसे तो इसके कई कारण हैं परंतु जो व्यक्ति अत्याधिक मात्रा में हस्तमैथुन करता है उसकी बॉडी में सबसे ज्यादा शुक्राणुओं की कमी देखी जाती है।

शुक्राणु कितने दिन में बनते हैं?

शुक्राणु बनने की प्रक्रिया तो बॉडी में रोज चलती रहती है परंतु शुक्राणुओं को बनने में कम से कम 1 महीने का समय लग जाता है?

शुक्राणुओं की कमी से हमें क्या होता है?

शुक्राणुओं की कमी से आपको कमजोरी महसूस होती है। आप बच्चा पैदा करने में भी असमर्थ हो सकते हैं।

लंबे समय तक हस्तमैथुन करने से क्या होता है?

लंबे समय तक हस्तमैथुन करने से आपके लिंग में उत्तेजना नहीं आएगी और आप बच्चा भी नही पैदा कर पाएंगे। इसके अलावा शुक्राणु की संख्या भी आपकी बॉडी में घट जाएगी।

Sperm Count को हिंदी में क्या कहा जाता है?

Sperm Count को हिंदी में शुक्राणुओं की संख्या, वीर्य की संख्या, वीर्य की गिनती या फिर शुक्राणुओं की काउंटिंग कहा जाता है।

क्या स्वप्नदोष के कारण भी शुक्राणुओं की संख्या कम होती है?

जी हां स्वप्नदोष के कारण भी ऐसा होता है।

निष्कर्ष

आशा है आपको शुक्राणुओं की संख्या कैसे बढ़ाएं के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में Sperm Count kaise badhaye (How to Increase Sperm Count in Hindi) और शुक्राणुओं की संख्या कैसे बढ़ाएं को लेकर आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को sperm count kaise badhaye में जानकारी मिल सके।

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment