सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या होता है? Software Engineer कैसे बने? जानिए Software Engineer बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software Engineer) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become Software Engineer Details In Hindi) के बारे में क्योंकि वर्तमान के समय में अधिकतर लोगों के घरों में कंप्यूटर और लैपटॉप अवश्य होता है। कंप्यूटर अथवा लैपटॉप को बनाने के लिए कंपनियां विभिन्न प्रकार के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर प्रोग्राम का इस्तेमाल करती हैं। कंप्यूटर अथवा लैपटॉप में इस्तेमाल होने वाले वाले सॉफ्टवेयर अथवा हार्डवेयर को क्रिएट करने का काम अलग-अलग लोग करते हैं। कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर का निर्माण जो लोग करते हैं उन्हें सॉफ्टवेयर इंजीनियर कहा जाता है।

अगर आप सॉफ्टवेयर की फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं या फिर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं, तो इस आर्टिकल आपके लिए ही है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Software Engineer Kaise Bane, सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए क्या करे, Software Engineer Meaning In Hindi, Software Engineer Kya Hota Hai, सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने का तरीका, Software Engineer Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या होता है? – What is Software Engineer Information in Hindi?

विषय-सूची

Software Engineer Kaise Bane
Software Engineer Kaise Bane

कंप्यूटर और लैपटॉप की फील्ड में जो नई नई टेक्नोलॉजी को क्रिएट करने का काम करता है और जिस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल हम करते हैं उसे बनाने का काम एक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर इंजीनियर ही करता है। कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर को डिवेलप करना कोई मामूली बात नहीं है, बल्कि इसके लिए काफी high-skilled वाले लोगों को काम पर रखा जाता है। कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर को डिवेलप करने के लिए व्यक्ति को कंप्यूटर सॉफ्टवेयर इंजीनियर की पढ़ाई करनी होती है। आईटी की फील्ड में कंप्यूटर सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सबसे ज्यादा डिमांड होती है। यह एक प्रॉफिटेबल करियर माना जाता है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए योग्यता – Qualification to Become Software Engineer

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको 12वीं की कक्षा में साइंस के सब्जेक्ट को लेना होगा और साइंस के सब्जेक्ट को लेकर आपको 12वीं कक्षा को कम से कम 60% अंकों के साथ पास करना पड़ेगा, तभी आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए विभिन्न कोर्स में एडमिशन प्राप्त कर सकेंगे।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने? – How to Become Software Engineer Information in Hindi

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको मन लगाकर काफी हार्ड स्टडी करनी होती है। सक्सेसफुल सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर की लैंग्वेज को समझना होगा। इसके लिए आपका गणित और अंग्रेजी भाषा मजबूत होनी चाहिए। सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको लैंग्वेज, कोडिंग और प्रोग्रामिंग को सीखना पड़ेगा। इसे सीखना सबके बस की बात नहीं होती है। successful software engineer बनने के लिए आपको नीचे दी गई कंप्यूटर की भाषा को अच्छे से स्टडी करके सीखना होगा, क्योंकि इन्ही लैंग्वेज का इस्तेमाल करके कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर क्रिएट किए जाते हैं।

  • C++
  • C Language
  • Java
  • Sql
  • C#
  • Ruby
  • PhP
  • Html
  • JavaScript
  • Python

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए कोर्स – Course to Become Software Engineer

आप नीचे दिए गए किसी भी कोर्स को करके सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हैं।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में प्रवेश कैसे लें? – How to Get Admission in Software Engineering?

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के कोर्स में एडमिशन लेने के लिए 12वीं कक्षा को साइंस के सब्जेक्ट के साथ कम से कम 60% अंकों के साथ पास करने के बाद आपको अपनी पसंद के सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के कोर्स में एडमिशन लेने के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरना पड़ता है। कई जगह पर सॉफ्टवेयर इंजीनियर से संबंधित कोर्स में एडमिशन प्राप्त करने के लिए एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन होता है जो उम्मीदवार एंट्रेंस एग्जाम को पास कर लेते हैं उन्हें उनके मनपसंद सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के कोर्स में एडमिशन दिया जाता है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के लिए प्रवेश परीक्षा – Software Engineering Entrance Exam

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग से संबंधित विभिन्न प्रकार के कोर्स करने के लिए आपको JEE main और JEE Advance जैसे एंट्रेंस एग्जाम को पास करना पड़ता है। इसके अलावा कुछ प्राइवेट इंस्टिट्यूट अपनी खुद की एंट्रेंस एग्जाम करवाते हैं।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की फीस – Software Engineering Fees

  • B Tech यह टोटल 4 साल का कोर्स होता है और इसे करने में टोटल ₹10 लाख रूपए लगते हैं।
  • BSC: इसे करने में टोटल ढाई लाख रुपए लगते हैं। यह 3 साल का कोर्स होता है।
  • Polytechnic Diploma (कंप्यूटर साइंस): यह टोटल 4 साल का कोर्स होता है। इसे करने के लिए 2,00000 से लेकर ₹7,00000 तक लग सकते हैं।
  • बीसीए: बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन के कोर्स को करने के लिए 3 साल का समय लगता है और इस कोर्स को करने के लिए ढाई लाख से ₹4,00000 तक लग सकते हैं।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स पाठ्यक्रम और विषय – Software Engineering Course Syllabus and Subjects

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको निम्न सिलेबस और कोर्स की पढ़ाई करनी पड़ती है।

  • Computer Architecture
  • Introduction to Computing
  • Mathematics for Computing
  • computer programming
  • Network
  • Academic skills for computing
  • DBMS
  • Program design
  • Hardware infrastructure
  • Professional awareness

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम की अवधि – Software Engineering Course Duration

  • B.Tech – Bachelor Of Technology (CS, IT): 4 साल
  • B.Sc – Bachelor Of Science (CS):‌3 साल
  • Polytechnic Diploma (Computer Science): 4 साल
  • B.C.A. – Bachelor Of Computer Application: 3 साल

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स की विशेषज्ञता – Specialization of Software Engineering Course

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के स्पेशलाइजेशन निम्न प्रकार है।

  • सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट प्रोसेस
  • सॉफ्टवेयर टेस्टिंग
  • सॉफ्टवेयर मेंटेनेंस
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग टूल्स
  • सॉफ्टवेयर डिजाइन
  • सॉफ्टवेयर कंफीग्रेशन मैनेजमेंट
  • सॉफ्टवेयर क्वालिटी
  • सॉफ्टवेयर मेंटेनेंस
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग मैनेजमेंट

सॉफ्टवेयर इंजीनियर का वेतन – Salary of Software Engineer

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को कितनी सैलरी मिलेगी यह उसकी नौकरी पर डिपेंड करती है। शुरुआत में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को महीने की सैलरी के तौर पर ₹16,000 से लेकर ₹26,000 तक मिलते हैं। अगर कोई सॉफ्टवेयर इंजीनियर ज्यादा एक्सपीरियंस वाला है तो उसकी महीने की सैलरी लाखों में भी हो सकती है। विदेशों में इंडिया के मुकाबले सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी ज्यादा होती है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कोर्स करने के फायदे – Advantages/Benefits of Doing Software Engineer Course

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स करके आपको कई फायदे प्राप्त होते हैं, जिसमें सबसे पहला फायदा यह है कि आपको आसानी से किसी भी आईटी कंपनी में नौकरी मिल जाती है, क्योंकि अक्सर आईटी कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर की डिमांड होती ही है। इसके अलावा आप चाहे तो अपनी खुद की सॉफ्टवेयर रिपेयरिंग की दुकान खोल सकते हैं।

आप यूट्यूब पर सॉफ्टवेयर से संबंधित ट्यूटोरियल चैनल चालू कर सकते हैं और अच्छे-अच्छे वीडियो डालकर उसे मोनेटाइज करके अपनी कमाई कर सकते हैं। आप किसी भी कंपनी के लिए जॉब कर सकते हैं। अपनी खुद की सॉफ्टवेयर एजेंसी ओपन कर सकते हैं। नए सॉफ्टवेयर क्रिएट करके उसे महंगे दामों में बेच सकते हैं।

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए कौशल – Skills to Become Software Engineer

एक सक्सेसफुल और प्रोफेशनल सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपके अंदर निम्न कौशल होने आवश्यक है।

  • आपको कंप्यूटर साइंस के अंदर इंटरेस्ट होना चाहिए।
  • आपके अंदर कुछ सीखने का जज्बा होना चाहिए।
  • आपके अंदर कुछ कर गुजरने का जज्बा होना चाहिए।
  • अंग्रेजी भाषा पर आपकी पकड़ स्ट्रांग होनी चाहिए।
  • आपके अंदर थिंकिंग और प्रॉब्लम सॉल्विंग का गुण होना चाहिए।
  • कंप्यूटर की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने में इंटरेस्ट होना चाहिए।
  • कंप्यूटर की कोडिंग भाषा को सीखने में आपको इंटरेस्ट होना चाहिए।
  • आपकी बातचीत करने की कला यानी कि कम्युनिकेशन स्किल अच्छी होनी चाहिए।
  • व्यक्ति को सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की अच्छी इंफॉर्मेशन होनी चाहिए।
  • व्यक्ति के अंदर टीमवर्क का गुण होना चाहिए

सॉफ्टवेयर इंजीनियर का काम और जिम्मेदारी – Software Engineer Work and Responsibilities

एक सक्सेसफुल और प्रोफेशनल सॉफ्टवेयर इंजीनियर मोबाइल, लैपटॉप, आईपैड, कंप्यूटर जैसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के लिए एप्लीकेशन और प्रोग्राम क्रिएट करने का काम करता है। इसके अलावा जब भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में किसी भी प्रकार का कोई भी नया एप्लीकेशन या फिर प्रोग्राम आता है तो उसे क्रिएट करने का काम कंप्यूटर सॉफ्टवेयर इंजीनियर के द्वारा ही किया जाता है।

अगर उस प्रोग्राम में किसी भी प्रकार की कोई भी प्रॉब्लम आती है तो कंप्यूटर सॉफ्टवेयर इंजीनियर ही उसे ठीक करता है। क्योंकि कंप्यूटर सॉफ्टवेयर में जिस लैंग्वेज का इस्तेमाल किया जाता है उसे समझना हर किसी के बस की बात नहीं होती है। कंप्यूटर की लैंग्वेज को एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ही अच्छी तरह से समझ पाता है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर करियर स्कोप और नौकरियां – Software Engineer Career Scope and Jobs

इस क्षेत्र में करियर स्कोप और जॉब के बारे में बात करें तो जब व्यक्ति सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन जाता है, तो उसके बाद उसके पास नौकरी की कोई भी कमी नहीं रहती है। सॉफ्टवेयर इंजीनियर के अंदर अगर टैलेंट है तो उसे नौकरी के लिए यहां-वहां भटकना नहीं पड़ेगा। सॉफ्टवेयर इंजीनियर का कोर्स पूरा करने के बाद आपको अच्छी कंपनी में इंटर्नशिप के लिए अप्लाई करना चाहिए। ऐसा करने से आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की फील्ड की काफी गहराई से नॉलेज हो जाएगी। इंटर्नशिप करने के बाद आपको विभिन्न कंपनियों में नौकरी के लिए अप्लाई करना है। आप अपने एक्सपीरियंस के आधार पर आसानी से नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। या आप चाहे तो बतौर फ्रीलांसर भी काम कर सकते हैं।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के बाद क्या करें? – What to do After Software Engineering?

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के बाद आप निम्न कोर्स कर सकते हैं और इस फील्ड के बारे में गहराई से स्टडी कर सकते हैं।

  • मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी
  • मास्टर ऑफ साइंस इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी
  • मास्टर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन
  • पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन एडवांस सॉफ्टवेयर एंड नेटवर्क टेक्नोलॉजी

सॉफ्टवेयर इंजीनियर नौकरियां और रिक्तियां – Software Engineer Jobs and Vacancies

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन जाने के बाद आप निम्न कंपनियों में नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं और जॉब पा सकते हैं।

  • एचपी
  • डेल
  • लेनोवो
  • HCL technology
  • Tata Consultancy Services
  • Infosys
  • Wipro
  • Tech Mahindra
  • Mphasis
  • Mindtree
  • Larsen & Toubro Infotech
  • Persistent Systems
  • 3i Infotech
  • Zensar Technologies
  • Sonata Software
  • Hyperlink InfoSystem
  • Ramco Systems
  • Mastek
  • विभिन्न प्रकार की बैंक
  • प्राइवेट सॉफ्टवेयर डेवलपर कंपनी
  • गवर्नमेंट सॉफ्टवेयर डेवलपर एजेंसी

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Software Engineer Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में Software Engineer Kaise Bane (How To Become Software Engineer In Hindi) और सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Software Engineer Kya Hota Hai बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

About Ainain

Software Engineerमैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.