बीमा एजेंट क्या होता है? Insurance Agent कैसे बने? जानिए Insurance Agent बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे बीमा एजेंट (Insurance Agent) कैसे बने पूरी जानकारी (How To Become Insurance Agent Details In Hindi) के बारे में क्योंकि अगर आप इंश्योरेंस एजेंट बनकर इसी में कैरियर बनाना चाहते हैं, तो आप बिल्कुल सही आर्टिकल पर आए हैं। आज कई लोग ऐसे हैं जो इंश्योरेंस एजेंट का काम करके काफी अच्छी इनकम कर रहे हैं। इंश्योरेंस एजेंट का काम काफी आसान होता है और यह एक्स्ट्रा इनकम करने का बहुत ही अच्छा जरिया होता है।

मुख्य तौर पर देखा जाए तो इंश्योरेंस एजेंट लोगों का बीमा करने का काम करता है और लोगों का बीमा करने के बदले में उसे कमीशन की प्राप्ति होती है। इस प्रकार इंश्योरेंस एजेंट की कमाई होती है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Insurance Agent Kaise Bane, बीमा एजेंट बनने के लिए क्या करे, Insurance Agent Kya Hota Hai, बीमा एजेंट बनने का तरीका, Insurance Agent Kaise Bante Hain, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

बीमा एजेंट क्या है? – What is Insurance Agent Information in Hindi?

Insurance Agent Kaise Bane
Insurance Agent Kaise Bane

Insurance Agent एक ऐसा व्यक्ति होता है, जो लोगों का बीमा करता है और उस कंपनी के लिए नए कस्टमर बनाता है जिस कंपनी के लिए इंश्योरेंस एजेंट काम करता है। जब कोई व्यक्ति इंश्योरेंस एजेंट के द्वारा दिए गए Insurance को लेता है तो उसके बाद वह उसका प्रीमियम भरता है, इस प्रकार इंश्योरेंस एजेंट को Commission के तौर पर अच्छी खासी रकम प्राप्त होती है। इंश्योरेंस एजेंट ही बैंक अथवा कंपनी के इंश्योरेंस का काम करता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इंश्योरेंस एजेंट के द्वारा बेची गई Policy के बेस पर ही इंश्योरेंस एजेंट की ज्यादा कमाई होती है।

बीमा के प्रकार – Types of Insurance

बीमा यानि Insurance को दो भागों में बांटा गया है, जो इस प्रकार हैं।

  1. लाइफ इंश्योरेंस
  2. जनरल इंश्योरेंस

1. Life Insurance

इंश्योरेंस एजेंट को लाइफ इंश्योरेंस के तहत ऐसे लोगों को अपनी कंपनी की पॉलिसी की Selling करनी होती है, जो खुद इसके अंदर शामिल होना चाहते हैं। इंश्योरेंस पॉलिसी के तहत जब किसी व्यक्ति का कोई भी एक्सीडेंट हो जाता है तो उस व्यक्ति को इंश्योरेंस कंपनी की तरफ से एक तय रकम दी जाती है।

2. General Insurance

ऐसे व्यक्तियों को इस प्रकार के इंश्योरेंस का फायदा दिया जाता है, जो अपनी ऑटो मोबाइल की दुकान, अपने स्वास्थ्य या फिर अपने किसी भी प्रकार की दुकान का इंश्योरेंस करवाते हैं। इस प्रकार के इंश्योरेंस का टाइम कम होता है और इसमें किसी भी प्रकार के प्रीमियम को भरने की आवश्यकता व्यक्ति को नहीं होती है, क्योंकि इसकी प्रोसेस की स्टार्टिंग में ही एक साथ ही व्यक्ति से पूरा प्रीमियम भरवा लिया जाता है, जो एक निश्चित टाइम के लिए होता है।

इस प्रकार की पॉलिसी जब एक्सपायर होती है तो प्रीमियम लेने वाला व्यक्ति चाहे तो इस पॉलिसी को बंद कर सकता है या फिर से एकमुश्त रकम भर के इस पॉलिसी को रिन्यू करवा सकता है।

बीमा एजेंट बनने की योग्यता – Qualifications to Become Insurance Agents

बीमा एजेंट बनने के लिए, आपके पास निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए।

  • जो भी व्यक्ति इंश्योरेंस एजेंट बनना चाहता है और पॉलिसी बेचकर अपनी कमाई करना चाहता है उस व्यक्ति को दसवीं कक्षा को और बारहवीं कक्षा को पास करना जरूरी है।
  • इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए भारतीय बीमा विनियामक प्राधिकरण के अनुसार व्यक्ति को 100 घंटे की प्रैक्टिकल ट्रेनिंग किसी भी भारतीय बीमा विनियामक प्राधिकरण के द्वारा सर्टिफाइड इंस्टिट्यूट से प्राप्त करनी पड़ेगी।

हमारे भारत में अलग-अलग प्रकार की बीमा कंपनी है और हर कंपनी में बीमा एजेंट बनने के लिए अलग-अलग नियम और योग्यताएं पूछी जाती हैं, जो आपको तब पता चलेगा जब आप किसी कंपनी में बीमा एजेंट बनने के लिए आवेदन करेंगे।

बीमा एजेंट कैसे बने? – How to Become Insurance Agent Information in Hindi

जो भी व्यक्ति इंश्योरेंस एजेंट बनना चाहता है और इंश्योरेंस एजेंट बनकर पॉलिसी बेचकर अपनी इनकम करना चाहता है, उसे इसके लिए काफी अच्छे से स्टडी करने की आवश्यकता होती है। इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए व्यक्ति को Insurance Regulatory and Development Authority यानी कि IRDA के द्वारा करवाई जाने वाली एग्जाम को सफलतापूर्वक पास करना होता है। इस एग्जाम को पास करने के लिए उसे अच्छे से अपनी स्टडी करनी होती है।

एग्जाम पास करने के बाद अभ्यर्थी को अपनी पसंद के हिसाब से किसी भी इंश्योरेंस कंपनी में नौकरी के लिए अप्लाई करना होता है और नौकरी के लिए सिलेक्ट होने के बाद उसे उस कंपनी की पॉलिसी को बेचना होता है। इंश्योरेंस एजेंट जितना ज्यादा अपनी कंपनी को पॉलिसी को बेचेगा, उतना ज्यादा ही उसकी कमाई अथवा इनकम होगी। अगर आपके अंदर बोलने की अच्छी कला है और आपको लोगों से अपनी बातें मनवाने आता है तो आप इंश्योरेंस एजेंट बन सकते हैं और इंश्योरेंस एजेंट का वर्क करके अपनी अच्छी कमाई कर सकते हैं।

इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए जो मुख्य बात है वह यह है कि आपको भारतीय बीमा विनियामक विकास प्राधिकरण के द्वारा करवाए जाने वाले एग्जाम को क्लियर करना पड़ेगा। इस एग्जाम को क्लियर करने के बाद आप किसी भी इंश्योरेंस कंपनी में नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं और नौकरी मिलने के बाद इंश्योरेंस एजेंट बन सकते हैं तथा अपनी इनकम कर सकते हैं।

बीमा एजेंट बनने के लिए आयु सीमा – Age Limit to become Insurance Agent

जो कोई भी बीमा एजेंट बनना चाहता है उसकी आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए और अधिकतम आयु सीमा नहीं है। फिर भी, सामान्य तौर पर, एक व्यक्ति 60 वर्षों तक बीमा एजेंट के रूप में काम कर सकता है और अपनी कमाई कर सकता है।

बीमा एजेंट बनने के फायदे – Benefits of Becoming Insurance Agents

इंश्योरेंस एजेंट बनने के बाद आपको बहुत सारे लाभ प्राप्त होते हैं, जिनकी जानकारी निम्नानुसार है।

1. अक्सर बीमा एजेंट को अपनी कंपनी की पॉलिसी बेचने के लिए एक जगह से दूसरे जगह पर जाना पड़ता है। इस प्रकार बीमा एजेंट को काम के साथ-साथ यात्रा करने का भी अच्छा अवसर मिलता है। कई बार बीमा एजेंट को उसकी कंपनी द्वारा बाहर घूमने के लिए भी भेजा जाता है, इस प्रकार घूमने के साथ-साथ बीमा एजेंट का कार्य भी किया जाता है।

2. बीमा एजेंट बनने के बाद व्यक्ति की पहचान काफी लोगों से हो जाती है, क्योंकि अक्सर पॉलिसी बेचने के कारण उसे नए लोगों से मिलना पड़ता है, जिससे उसका मित्र मंडली बहुत बड़ी हो जाती है।

3. इंश्योरेंस एजेंट बनकर आप अपनी एक्स्ट्रा इनकम कर सकते हैं, हालांकि यह इस बात पर आधारित होता है कि आप कितनी लगन से अपना काम कर रहे हैं।

4. अगर आप ज्यादा इंश्योरेंस पॉलिसी बेचते हैं, तो आपकी कंपनी की तरफ से आपको विदेश में घूमने जाने का मौका भी दिया जाता है और विदेश में घूमने जाने के लिए जो खर्चा आता है वह सारा खर्चा आपकी कंपनी ही उठाती है। इस प्रकार आप कंपनी के द्वारा विदेश भेजे जाने से विदेश की यात्रा भी कर सकते हैं।

5. समय-समय पर इंश्योरेंस एजेंट को ट्रेनिंग देने के लिए कंपनी की तरफ से बड़े बड़े होटल में बुलाया जाता है, जहां पर उन्हें ट्रेनिंग प्रदान की जाती है। इस ट्रेनिंग के दरमिया इंश्योरेंस एजेंट के रहने और खाने-पीने की सारी व्यवस्था कंपनी ही संभालती है।

6. इंश्योरेंस एजेंट का काम आप चाहे तो पार्ट टाइम कर सकते हैं या फुल टाइम कर सकते हैं, साथ ही इसके अलावा आप दूसरे काम भी कर सकते हैं।

7. इंश्योरेंस एजेंट बनने के बाद आपके ऊपर काम का ज्यादा प्रेशर नहीं होता है। आप अपने हिसाब से और अपने तय समय के अनुसार अपना काम कर सकते हैं।

8. इंश्योरेंस एजेंट का काम आप work from home से भी कर सकते हैं। इसके लिए आपको ऑफिस जाने की आवश्यकता नहीं है।

बीमा एजेंट बनने के लिए आवश्यक दस्तावेज – Documents Required to Become Insurance Agent

जब आप किसी भी कंपनी में इंश्योरेंस एजेंट की पोस्ट के लिए अप्लाई करेंगे, तब आपको निम्न डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ेगी। इसलिए इन्हें पहले से ही तैयार रखें।

  • एजेंट का एप्लीकेशन फॉर्म
  • रेसिडेंट एड्रेस सर्टिफिकेट
  • एलिजिबिलिटी सर्टिफिकेट
  • बर्थ सर्टिफिकेट
  • पान कार्ड
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज की रंगीन फोटो
  • ईमेल आईडी
  • फोन नंबर

बीमा एजेंट का काम – Work of Insurance Agent

अगर इंश्योरेंस एजेंट के काम के बारे में बात की जाए तो इंश्योरेंस एजेंट का मुख्य काम उस कंपनी की बीमा पॉलिसी को ग्राहकों को बेचना है जिस कंपनी में वह काम करता है। या फिर वह जिस कंपनी के लिए काम करता है। इसके अलावा इंश्योरेंस एजेंट का काम नए ग्राहकों को अपनी कंपनी में जोड़ना होता है और उन्हें इंश्योरेंस करवाने के लिए तैयार करना होता है।

बीमा एजेंट की नौकरी के लिए आवेदन कहाँ करें? – Where to Apply for Insurance Agent Job?

नीचे हम आपको इंडिया के कुछ ऐसे प्रसिद्ध इंश्योरेंस कंपनी के नाम बता रहे हैं, जहां आप नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

  • Life Insurance Corporation of India
  • Bharti AXA Life Insurance Company
  • Bajaj Allianz Life Insurance Company
  • Max Life Insurance Company
  • HDFC Life Insurance Company
  • ICICI Prudential Life Insurance
  • Tata AIA Life Insurance Company
  • SBI Life Insurance Company

एक बीमा एजेंट का वेतन – Salary of Insurance Agent

यह ऐसा सवाल है जिसका जवाब कई लोग जानना चाहते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, इंश्योरेंस एजेंट की कोई भी फिक्स सैलरी नहीं होती है। इनकी सैलरी इनके द्वारा किए जाने वाले कामों पर आधारित होती है। इंश्योरेंस एजेंट की मुख्य कमाई उनके द्वारा बेची गई पॉलिसी के आधार पर होती है। जो एजेंट जितनी ज्यादा पॉलिसी बेचता है, उसे उतना ही ज्यादा कमीशन की प्राप्ति होती है।

इंश्योरेंस एजेंट की फील्ड में ऐसे कई लोग हैं, जो महीने के लाखों रुपए पॉलिसी बेचकर कमा लेते हैं, वहीं कई ऐसे भी लोग हैं जो थोड़ा कम रुपए कमाते हैं। सामान्य तौर पर देखा जाए तो इनकी सैलरी ₹15000 से लेकर ₹18000 के आसपास होती है। इनकी ज्यादा कमाई पॉलिसी बेचने पर ही होती है।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Insurance Agent Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में Insurance Agent Kaise Bane (How To Become Insurance Agent In Hindi) और बीमा एजेंट कैसे बने? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Insurance Agent Kya Hota Hai बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

About Ainain

insurance agentमैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.