गूगल क्या है? गूगल को किसने बनाया है? जानिए Google से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे गूगल (Google) की पूरी जानकारी (What is Google Details In Hindi) के बारे में क्योंकि हमारे मन में जब भी कोई सवाल उत्पन्न होता है और हमें उसका जवाब जानने की लालसा होती है, पहले तो हम अपने आस-पड़ोस के लोगों से अपने सवाल का जवाब जानने की कोशिश करते हैं, परंतु जब हमें उनके जवाबों से संतुष्टि नहीं होती है, तो हम गूगल का सहारा अपने सवालों का जवाब जानने के लिए लेते हैं, क्योंकि गूगल पर लगभग सभी प्रकार के सवालों का जवाब हमें आसानी से मिल जाता है।

क्योंकि गूगल दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है और रोजाना इस पर लाखों सवाल और अन्य प्रकार की चीजें सर्च की जाती है। गूगल के बारे में ऐसी कई जानकारियां हैं, जिनसे कई लोग अनभिज्ञ हैं, तो आइए जानते हैं कि Google क्या है और Google का इतिहास तथा Google की फुल डिटेल क्या है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Google ka Malik Kaun Hai, गूगल का पूरा नाम क्या है, Google Meaning In Hindi, Google Kya Hota Hai, गूगल का खोज किसने किया, Google Kaha ki Company Hai, आदि की सारी जानकारीयां विस्तार में जानने को मिलेंगी, इसलिये पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

गूगल क्या है? – What is Google Information in Hindi?

Google Kya Hai
Google Kya Hai

गूगल क्या है, इसके बारे में बात की जाए तो गूगल यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका की एक बहुत ही फेमस टेक्नोलॉजी कंपनी है। गूगल के द्वारा इंटरनेट से रिलेटेड प्रोडक्ट ओर सर्विस प्रदान किए जाते हैं। गूगल कंपनी की स्थापना साल 1998 में 4 दिसंबर को 2 लोगों ने मिलकर की थी जिनका नाम सर जी ब्रेन और लैरी पेज था। यह दोनों गूगल कंपनी में तकरीबन 14% का मालिकाना हक रखते हैं। गूगल की शुरुआत एक सर्च इंजन के तौर पर की गई थी। यह एक ऐसा प्रोग्राम है, जो आपके द्वारा यूज किए हुए कीवर्ड के आधार पर आपको रिजल्ट दिखाता है।

जब आपको किसी भी सवाल का जवाब जानना होता है। या आपको कुछ भी सर्च करना होता है, तब आप गूगल पर किसी भी कीवर्ड को लिखकर सर्च करते हैं जिसके बाद गूगल अपने सरवर में से आपके द्वारा मांगी गई जानकारी को कुछ ही सेकंड में आपके स्मार्टफोन, आपके मोबाइल, आपके कंप्यूटर, आपके लैपटॉप अथवा उस डिवाइस पर प्रदर्शित करता है, जिसका इस्तेमाल आपने गूगल को इस्तेमाल करने के लिए किया हुआ होता है। गूगल का नाम मैथमेटिक्स के googol शब्द से लिया है, अर्थात वह संख्या जिसके साथ 100 शून्य जुड़े होते है।

गूगल का फुल फॉर्म क्या है? – What is the Full Form of Google?

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि गूगल की तरफ से Google के किसी भी ऑफिशियल फुल फॉर्म के बारे में कोई भी इंफॉर्मेशन कहीं पर भी प्रदान नहीं की गई है। गूगल का शब्द टोटल 6 Letter से मिलकर बना हुआ है और इसमें से हर शब्द का अर्थ जो निकल कर आता है, वह निम्नानुसार है।

  • G – Global
  • O – Organization
  • O – Oriented
  • G – Group
  • L – Language
  • E – Earth

शुरुवाती दौर में गूगल का नाम Googol रखा गया था, जिसका मतलब होता है एक के बाद 100 जीरो। गूगल का उद्देश्य बड़ी मात्रा में इंफॉर्मेशन को प्रदान करना है। मात्रा की गलती के कारण Googol के स्थान पर Google शब्द पैदा हुआ, जिसके बाद इसका नाम चेंज करके गूगल रख दिया गया।

गूगल का इतिहास – History of Google

जब लैरी पेज और सर्जे ब्रिन अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से पीएचडी की पढ़ाई कर रहे थे तब उन्होंने पढ़ाई के दरमियांन हीं साल 1996 में जनवरी के महीने में गूगल की खोज की थी। लैरी पेज और सर्गे ब्रिन ने अपनी रिसर्च में सर्च इंजन के नाम के तहत इसे परिभाषित किया था, जिसके बाद में इसे गूगल का नाम दिया गया। गूगल का शब्द एक दूसरे शब्द गूगोल से आया हुआ है।

यह एक सर्च इंजन है, जिसका इस्तेमाल वर्तमान के समय में दुनिया के सभी देशों में किया जाता है। गूगल एक पॉपुलर सर्च इंजन है। इस सर्च इंजन का इस्तेमाल करके हम किसी भी प्रकार की जानकारी को घर बैठे ही प्राप्त कर सकते हैं। शुरुआत में गूगल को स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के लिए यूज किया गया और इसे स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के ऑफिशियल वेबसाइट के अधीन चलाया गया था।

गूगल की खोज किसने की? – Who Discovered Google?

गूगल जो कि बहुत ही फेमस कंपनी और फेमस सर्च इंजन है, इसकी खोज अमेरिका के 2 लोगों के द्वारा की गई थी, जिनका नाम लैरी पेज और सर्गे ब्रिन था। जब से इंटरनेट की खोज हुई है उसके बाद से ही कई लोगों ने वेबसाइट का निर्माण किया है। वेबसाइट को रैंक में लाने के लिए और वेबसाइट की रैंकिंग को बढ़ाने के लिए लोग बैकलिंक का इस्तेमाल करते हैं और इसी विधि को बेस मानकर गूगल का शुरुआती नाम BACKRUB रखा गया था, जिसके बाद में इसके नाम को चेंज कर दिया गया और बाद में इसका नाम गूगल रख दिया गया और वर्तमान के समय में भी इसका नाम गूगल ही है।

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि गूगल अपने शुरुआती साल में सिर्फ सर्च इंजन का ही काम करता था, परंतु साल 2005 में गूगल के द्वारा गूगल मैप्स सर्विस की स्टार्टिंग की गई, जिसके बाद साल 2006 में गूगल ने गूगल कैलेंडर और गूगल ट्रांसलेट सर्विस को चालू किया। गूगल ट्रांसलेट सर्विस का इस्तेमाल करके हम किसी भी भाषा को किसी भी भाषा में ट्रांसलेट कर सकते हैं। इस टेक्नोलॉजी के कारण गूगल का नाम पूरी दुनिया में काफी तेजी से फेमस हो गया। इसके बाद गूगल ने गूगल ऑपरेटिंग सिस्टम यानी कि एंड्राइड मोबाइल प्रोग्राम की स्टार्टिंग की।

इस प्रोग्राम की स्टार्टिंग के कारण गूगल आईटी की फील्ड में दुनिया की सबसे बड़ी और फेमस कंपनी बन गई। गूगल के द्वारा अपने प्रोडक्ट को यूज करने के लिए किसी भी प्रकार के पैसे की डिमांड नहीं की जाती है। गूगल अपनी सभी सर्विस को मुफ्त में इस्तेमाल करने के लिए लोगों के बीच प्रस्तुत करता है। वर्तमान के समय में लोग गूगल पर कई प्रोडक्ट का फ्री में इस्तेमाल कर रहे हैं, जैसे कि गूगल क्रोम, यूट्यूब, गूगल मैप्स, एंड्राइड, ब्लॉगर, गूगल शीट्स, गूगल ट्रांसलेटर, गूगल ड्राइव इत्यादि।

गूगल अपनी कमाई कैसे करता है? – How does Google Earn Money?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गूगल की कमाई का सबसे मुख्य जरिया एडवर्टाइजमेंट है। इसके लिए गूगल, गूगल एडवर्ड नामक प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करता है।एडवर्टाइजमेंट के अलावा भी ऐसी कई सर्विस है जिसका इस्तेमाल करके गूगल रेवेन्यू जेनरेट करता है। जब किसी भी कंपनी, प्रोडक्ट अथवा व्यक्ति को अपना प्रमोशन करना होता है, तब वह Google Adwords पर अपना विज्ञापन देता है, जिसके बदले में गूगल कुछ पैसे चार्ज करता है।

गूगल के सर्विस और प्रोडक्ट क्या है? – What are Google Services and Products?

गूगल के प्रोडक्ट और सर्विस निम्नानुसार हैं।

  • YouTube
  • Blogger
  • Gmail
  • Android
  • गूगल analytics
  • गूगल docs
  • गूगल Drive
  • Chrome browser
  • गूगल maps
  • गूगल Translate
  • गूगल Calendar
  • गूगल Photos
  • गूगल play Store
  • गूगल music
  • गूगल AdWords
  • गूगल Trends
  • Google+
  • गूगल hangout
  • गूगल News
  • गूगल keep
  • गूगल Book
  • गूगल AdSense
  • गूगल alerts

गूगल के सीईओ कौन है? – Who is the CEO of Google?

अगर गूगल के सीईओ के बारे में बात की जाए तो वर्तमान के समय में गूगल कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर भारतीय मूल के सुंदर पिचाई हैं, उन्हें साल 2019 में प्रमोट करके गूगल का सीईओ बनाया गया था। गूगल के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर के पद पर रहते हुए साल 2020 तक सुंदर पिचाई की सैलरी 15 करोड थी। 15 करोड़ की सैलरी के अलावा उन्हें अन्य कंपनसेशन के तहत और सैलरी भी दी जाती है। इस प्रकार इनकी सैलरी 52 करोड होती है।

गूगल के फायदे क्या है? – What are the benefits of Google?

गूगल के फायदे निम्नानुसार है।

1. गूगल की सहायता से बहुत से यूट्यूबर, ब्लॉगर और मोबाइल ऐप बनाने वाले लोग अपने कंटेंट को लोगों तक पहुंचाने का काम करते हैं और इस पर दिखाए जाने वाले विज्ञापन से वह अपनी कमाई करते हैं। इसके लिए गूगल ने गूगल ऐडसेंस सर्विस का निर्माण किया है।

2. गूगल का इस्तेमाल करके हम किसी भी प्रकार की जानकारी को घर बैठे ही अपने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की सहायता सें प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको सिर्फ गूगल के सर्च इंजन को अपने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे मोबाइल में ओपन करना है और उसमें दिए गए सर्च बार मैं आपको अपने सवाल को लिखना है और सर्च करना है। इसके बाद आपके सवाल का जवाब आपको अपने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पर दिखाई देने लगेगा। आप गूगल पर दिन भर में कितने भी सवाल सर्च कर सकते हैं।

3. अगर आपको किसी जगह पर जाना है और आपको उस जगह पर जाने का रास्ता नहीं पता है तो आप इसके लिए गूगल के प्रोडक्ट गूगल मैप का सहारा ले सकते हैं। गूगल मैप का इस्तेमाल करके आप बिना किसी परेशानी के अपनी मंजिल तक पहुंच सकते हैं, क्योंकि गूगल मैप आपको सही रास्ता दिखाने का काम करता है।

4. अगर आपने कोई नया बिजनेस चालू किया है और आप अपने बिजनेस को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं, तो इसके लिए आप गूगल में अपनी विज्ञापन दे सकते हैं और अपने बिजनेस का प्रचार कर सकते हैं।

गूगल का मालिक कौन है? – Who owns Google?

लैरी पेज और सर्गे ब्रिन ने साल 2004 में गूगल को पब्लिक कर दिया था, जिसका मतलब है कि गूगल का कोई एक मालिक नहीं है, बल्कि इसके कई सारे शेरहोल्डर हैं। हालांकि फिर भी ऐसा कहा जा सकता है कि जिस कंपनी में जिस व्यक्ति की सबसे ज्यादा हिस्सेदारी होती है, वही उस कंपनी का मालिक माना जाता है।

इस प्रकार गूगल के मालिक के तौर पर लैरी पेज और सर्गे ब्रिन ही जाने जाते हैं। वर्तमान के समय में देखा जाए तो 2018 की रिपोर्ट के अनुसार लैरी पेज के पास 50.6 बिलियन यूएस डॉलर की संपत्ति थी, जिसके साथ वह अमेरिका के सबसे अमीर व्यक्तियों में पहले स्थान पर थे। वही ब्रिन की टोटल संपत्ति 49.9 बिलियन यूएस डॉलर थी। गूगल की कमाई लगातार बढ़ती जा रही है और यह लगातार मुनाफे में काम कर रही है।

गूगल किस देश की कंपनी है? – Which Country is Owner of Google Company?

गूगल यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका की एक बहुत ही फेमस टेक्नोलॉजी कंपनी है। गूगल कंपनी की स्थापना साल 1998 में 4 दिसंबर को 2 लोगों ने मिलकर की थी। गूगल के द्वारा इंटरनेट से रिलेटेड प्रोडक्ट ओर सर्विस प्रदान किए जाते हैं।

गूगल का मुख्यालय कहाँ है? – Where is the headquarters of Google?

फेमस टेक्नोलॉजी कंपनी गूगल का हेड क्वार्टर यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका के कैलिफोर्निया शहर के माउंटेन व्यू में स्थित है।

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको Google Details In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर फिर भी आपके मन में Google ko Kisne Banaya Hai (What is Google In Hindi) और गूगल कहाँ की कंपनी है? को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Section में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर यह जानकारी पसंद आया हो तो, जरूर इसे Share कर दीजिए ताकि Google Kya Hai बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो।

About Ainain

googleमैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी साझा करता हूं। ❤️

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.