कृत्रिम बुद्धिमत्ता क्या है? What is Artificial Intelligence in Hindi?

Hey Guys,आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे कि Artificial Intelligence किया होते है, Artificial Intelligence का किया काम है। Artificial Intelligence को Short में हम लोग (AI) भी कहते है और ज्यादा तर लोग (AI) ही बोलते हैं क्यों कि ये बोलने में आसान होता है। अगर आपको Artificial Intelligence के बारे में ज्यादा जानकारी चाहिए तो इस Article को सुरु से लास्ट तक जरूर पढ़ियेगा. सब्से पहले Computer 1822 में बनाया गया था Charles Babbage के द्वारा तब से रोज कुछ ना कुछ Research होते रहते है। इंसान तरक्की करते गया-करते गया और आज इतना Develop होगया है कि आज से 2 से 4 साल पहले उम्मीद तक नही था की हम हवा में यात्रा कर सकते है लेकिन आज संभब है। सीधे लफ्जो में कहु तो रोज हम इंसान (AI) का प्रयोग ज्यादा मात्रा में कर रहे है एक लत सा लग गया है Artificial intelligence का ये हमारा रोजमर्या का जरूर होगया है AI की बिना हम इंसान अधूरा सा है।

What is Artificial Intelligence (AI)? कृत्रिम बुद्धिमत्ता क्या है?

एक एसी Machin जो अपना काम खुद कर सके उस Machin को किसी के कमांड की जरूरत ना हो बो अपना काम खुद से कर ले जैसे इंसान करते है इंसानो जैसे सोचने की छमता इंसानो जैसे समझने की सेंसिविटी, इंसानो जैसा किसी चीज को महसूस करने की छमता इत्यादी। इस तरीके की खूबियां अगर मशीन में आजाये तो उसे हैम Artificial Intelligence कहते है। अगर सिर्फ इस word का मतलब Hindi में समझे तो Artificial का मतलब “कृत्रिम” यानि की आदमी के द्वारा बनाया हुआ. और Intelligence का मतलब “बुधिमत्ता” यानि की सोचने की शक्ति होती है.

उधारण के लिए जैसे :- रोबोट,ऑटो ड्राइव कार,ट्रांसपोर्टेशन, etc

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस ये एक ऐसा simulation है जिससे की मशीनों को इंसानी intelligence दिया जाता है या यूँ कहे तो उनके दिमाग को इतना विकशित किया जाता है की वो इंसानों के तरह सोच सके और काम कर सके. AI को पूरा कम्पलीट करने के लिए जिस चीज का यूज़ होता है बो नीचे दिया गया है।

1. Learning :- मशीनों के दिमाग में information डाला जाता है और कुछ rules भी सिखाये जाते हैं जिससे की वो उस Rules को फॉलो करके किसी दिए हुए वर्क को पूरा करे)

2. Resoning :- इसमे मशीनों को पढ़ाया जाता है की वो बनाये गए Rules का पालन करते हुए जो काम दिया जाए उस काम को पूरा करना होता है.

3. Self-Correction :- अपने आपको सही करना Artificial Intelligence के बारे में सबसे पहले John McCarthy ने ही दुनिया को बताया. वो एक American Computer Scientist थे, जिन्होंने सबसे पहले इस technology के बारे में सन 1956 में The Dartmouth Conference में बताया.

Artificial Intelligence कोई छोटा मोटा Topic नही है जिसे एक Article में बता दिया जाए ये बहुत बड़ा टॉपिक है। इसमे Daily कुछ ना कुछ रिसर्च होता रहता है। लेकिन मैंने यहाँ पर लगभग सारा Usefull Topic को Cover करने की कोसिस की हैं। उम्मीद है आपको आगे दिक्कत नही आएगी।

AI के ऊपर बहुत सारी मूवीज भी बनी है जिसे आप देख कर और भी ज्यादा आसानी से (AI) को समझ सकते है

Feature Of Artificial intelligence in Hindi

Artificial Intelligence एक ऐसी Intelligence है, जो अपने आप Computer में इंसानो जैसा दिमाग आ जाये तो इसे हम कहेंगे Artificial Intelligence. AI बहुत से टाइप के होते है,बहुत सारे ऐसे Artificial Intelligence(AI) है जिन्हें हम बहुत पहले से use करते आ रहे है और बहुत सारे Feature में आएँगी. जिस दिन Artificial Intelligence का यूज़ बड़े पैमाने पर होना स्टार्ट होजायेगा उस दिन पूरी दुनिया मे भुकमरी जैसी इस्थिति आजायेग लोग बेरोजगार होजाएंगे,क्यों कि AI सारे काम खुद करने लगेगा ऐसे में लोग Job Less होजाएंगे लेकिन सबसे बड़ा फायदा इससे बड़ी-बड़ी कंपनियों को होगा कंपनी का टाइम बचेगा और पैसा भी जिससे कम समय मे जेयादा काम निकल जायेगा और पैसा भी कम खर्च होगा। उम्मीद है एइसी इस्थिति ना आये।

Philosophy of Artificial Intelligence

जब Computer को बनाया गया उस समय बहुत बड़ा अभिस्कार माना जाता था। धीरे – धीरे Computer को और भी ज्यादा स्मार्ट बनाना चाहते थे। तब उनके दिमाग मे ये बात आया कि क्यों ना हम कंप्यूटर मशीन को इतना बेहतरीन (Advance) बनाये लाइक ह्यूमन बिंग।और इसी तरह ही Artificial Intelligence की development का शुरुवात हुआ जिसका केवल एक ही उद्देश्य था की एक ऐसी intelligent machine बनाया जाये जो की इंसानों की तरह ही बुद्दिमान हो और हमारे ही तरह ही सोच सके.

Types Of Artificial Intelligence in Hindi

Guys, Artificial Intelligence (AI) के 3 टाइप्स होते है:-

1. Weak AI (कमजोर कृत्रिम बुद्धिमत्ता) :- अगर हम बात करे Weak AI की तो इसको हम Artificial Narrow Intelligence कहेंगे. Weak AI कुछ इस तरह के intelligence है जो केवल एक specific device में ही अच्छे से काम कर सकती है.

उदहारण :-

2. Strong AI (शक्तिशाली कृत्रिम बुद्धिमत्ता) :- मानुष जैसे दिमाग किसी चीज में नही होती मानुष का दिमाग बहुत ही Complicated होता है। इंसान के पास सोचने की छमता, किसी चीज को देख कर उसका अनुमान लगाने की छमता,काम करने की छमता, इत्यादि.. बहुत ज्यादा है। सीधे लफ्जो में कहे तो इंसान जैसा दिमाग मशीनी चीजो में सायद नही आ सकता। यदि हम मशीन में इंसानो जैसा दिमाग कुछ हद तक डाल दे तो इसे हम Strong AI कहते है।जिसे हम Artificial General Intelligence से भी जानते है।

उदाहरण के लिए :- उपस्थित नहीं हैं

3. Singularity (विलक्षणता) :- फिलहाल तो अभी ये मार्केट में नही आया है उम्मीद है कि 2040 -2090 तक आजाये। ऐसे Robot देखने को मिलेंगे जिनका intelligence level इंसान के बराबर होगा। सिंगुलैरिटी से हम मशीन को मनुष्य जैसा बहुत हद तक बना दिया जाए। लेकिन अभी एसा कुछ संभब नही है।

उदाहरण के लिए :- 2 Led लाइट है अगर हम दोनों को एक साथ मिला कर एक लाइट बनाये तो ज्यादा लाइट प्रदान करेगा हमे। उसी तरहा अगर हम 2 Computer को मिला कर एक कंप्यूटर बनाये तो पहले से ज्यादा सकती साली बन जायेगा इसी तरहा एक ऐसा दिन आएगा जब एक नया और बहुत सकती साली Machin बन जायेगा। तो ऐसे में ये जो AI है ये और ज्यादा exponential level(घातीय स्तर) तक बढ़ते जायेंगे तो ऐसे में एक चीज़ निकल कर आएगी जिसे हम कहेंगे Singularity या Artificial Super Intelligence.

4 Comments

Add a Comment
  1. Spelling misktake of shaktishali in singularity section

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *